वन विभाग की एसडीओ पर ग्रामीणों ने किया हमला, छुड़ा ले गए रेत से भरा ट्रैक्टर
वन विभाग की एसडीओ पर ग्रामीणों ने किया हमलाSocial Media

वन विभाग की एसडीओ पर ग्रामीणों ने किया हमला, छुड़ा ले गए रेत से भरा ट्रैक्टर

मुरैना, मध्यप्रदेश। एमपी में लगातार हमले करने की खबर सामने आ रही है, अब ऐसी ही एक और खबर मध्यप्रदेश के मुरैना जिले से सामने आई है, मुरैना में वन विभाग की एसडीओ पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया है।

मुरैना, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच प्रदेशभर में अपत्याशित घटनाओं में तेजी वृद्धि हो रही है, एमपी में लगातार हमले करने की खबर सामने आ रही है, अब ऐसी ही एक और खबर मध्यप्रदेश के मुरैना जिले से सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक मुरैना जिले में अवैध उत्खनन रोकने गई वन विभाग की टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया है।

जानिए पूरी खबर :

ताजा मामला मध्यप्रदेश के मुरैना का है, जानकारी के अनुसार वन विभाग की एसडीओ पर बुधवार रात ग्रामीणों ने हमला कर दिया, बता दें कि हमलावर अपने साथ बंदूक, लाठी, डंडा व फरसा लेकर आए थे, हमले के दौरान वन अमला गाड़ी से नहीं उतरा, अगर उतरता तो बड़ी घटना घट सकती थी वही हमलावरों ने फायरिंग भी की तथा वन विभाग की पकड़ से अवैध रेत से भरा ट्रैक्टर-ट्रॉली छुड़ा ले गए।

एसडीओ पर पिछले दो माह में यह 9वां हमला :

मिली खबर के मुताबिक वन विभाग की एसडीओ श्रद्धा पांढ़रे पर पिछले दो माह में यह 9वां हमला है, इससे पहले आठ बार वन विभाग की एसडीओ श्रद्धा पांढ़रे पर खनन माफियाओं की ओर से हमला किया जा चुका है, इस बार के हमले में सौ से ज्यादा ग्रामीण शामिल थे, हमलावर रेत माफिया के आदमी बताए जाते हैं।

बता दें कि बुधवार को वन विभाग की एसडीओ को रास्ते में उन्हें अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली मिली, टीम ने उस ट्रैक्टर-ट्रॉली को रोका और जब्ती में ले लिया। एसडीओ ने थाने के टीआई से कहा कि हमने यह अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राली पकड़ी है, इसे आकर ले जाएं, वन विभाग का अमला काफी देर तक पुलिस का इंतजार करता रहा, लेकिन पुलिस नहींं आई। इस पर अमला स्वयं ट्रैक्टर-ट्रॉली को थाने में जमा करने ले जा रहा थे, रास्ते में जैसे ही गाड़ी रुकी तभी कई लोगों ने एसएएफ व वन विभाग के जवानों पर हमला बोल दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक

हमलावरों ने एसडीओ पर जब हमला किया तो उसी दौरान उनके साथ गाड़ी में बैठे एसएएफ का जवान सामने आ गया और उसके हाथ में चोट लग गई जिससे उसका हाथ फ्रैक्चर हो गया। रेत माफिया को बचाने आए कई ग्रामीणों को देखकर वन अमले ने अपनी गाड़ियां वापस करने में ही भलाई समझी और वापस लौट गए। इस दौरान हमलावर फायरिंग करते हुए रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राली छुड़ा कर ले गए।

इस हमले से डरी नहीं है, वे अगर देशभक्ति व सच्चाई दिखाना चाहते हैं तो उनका साथ दें और हमलावरों के खिलाफ लूट व मारपीट का प्रकरण दर्ज करें।

एसडीओ पांढ़रे ने पुलिस से कहा-

बताते चलें प्रदेशभर में पत्थर माफिया के इतने ज्यादा हौसले बुलंद हैं कि अब वह वन कर्मचारियों पर भी खुलेआम हमले करने से बाज नहीं आ रहा है और शासन प्रशासन को ताक में रखते हुए शासकीय वन भूमि पर खुलेआम अवैध रूप से रेत, पत्थर का जमकर उत्खनन किया जा रहा है इससे पहले भी ऐसे कई मामले है नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें खबर- अवैध उत्खनन को रोकने पहुंचा वन अमला खुद ही घिरा, माफिया ने चलाई गोलियां

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co