Chhatarpur : लव जिहाद मामले में पुष्टि, जहर से हुई नीलम की मौत
लव जिहाद मामले में पुष्टि जहर से हुई नीलम की मौत राज एक्सप्रेस, संवाददाता

Chhatarpur : लव जिहाद मामले में पुष्टि, जहर से हुई नीलम की मौत

छतरपुर, मध्यप्रदेश : नीलम अहिरवार की मौत के मामले में उसके पति सहित पांच लोगों पर हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम में जहर से नीलम की मौत की पुष्टि हुई है।

छतरपुर, मध्यप्रदेश। शहर के पन्ना रोड पर पंचवटी ढाबे के पीछे रहने वाले किशोरीलाल अहिरवार की पुत्री नीलम अहिरवार उर्फ अफरोज की मौत के मामले में पुलिस ने उसके पति तब्बू उर्फ तालिब खान सहित पांच लोगों पर हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। झांसी के कब्रिस्तान से शव निकाले जाने के बाद किए गए पोस्टमार्टम में जहर से नीलम की मौत की पुष्टि हुई है। उधर पिता के शिकायती आवेदन के आधार पर सिविल लाइन पुलिस ने पांचों लोगों पर एफआईआर दर्ज कर पति को हिरासत में ले लिया है।

क्या है मामला :

उल्लेखनीय है कि लगभग 4 साल पहले किशोरीलाल अहिरवार की पुत्री नीलम ने घर से भागकर तब्बू उर्फ तालिब के साथ निकाह कर लिया था। इस मामले में किशोरीलाल अहिरवार का कहना है कि पुत्री को हिन्दू नाम बताकर धोखा देते हुए तालिब ने विवाह किया था। तालिब का परिवार भी पन्ना रोड पर ही रहता है। जुलाई 2021 में पिता के मुताबिक पुत्री अपने ससुराल पक्ष से प्रताड़ित थी। उसे इस्लाम कबूल करने, गाय का मांस खाने के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था। पुत्री ने अपने भाई को मौखिक रूप से यह जानकारी दी थी जबकि एक जुलाई को फोन करके यह भी बताया था कि उसकी हत्या की जा सकती है। 6 जुलाई को नीलम से अफरोज बनी इस लड़की की तबियत खराब हुई जिसके बाद परिवार के लोग उसे इलाज के लिए झांसी के एक निजी अस्पताल में ले गए जहां यह पुष्टि हुई कि उसने सल्फास खाया था। नीलम की हालत बिगड़ने पर पति तब्बू सहित परिवार के अन्य लोग उसे ग्वालियर ले जा रहे थे। रास्ते में ही उसकी मौत होने पर बिना पुलिस को सूचित किए और बगैर पोस्टमार्टम कराए उसे झांसी के ही प्रेमनगर कब्रिस्तान में दफना दिया गया था। इस मामले को लेकर जब नीलम के पिता ने लव जिहाद से जुड़ी शिकायत छतरपुर पुलिस अधीक्षक से की तब एसपी सचिन शर्मा ने मामले को गंभीरता से लेते हुए झांसी पुलिस के सहयोग से इसकी जांच कराई। झांसी प्रशासन की अनुमति के बाद 16 जुलाई को लड़की का शव कब्र से बाहर निकाला गया और फिर पोस्टमार्टम कराया गया। पोस्टमार्टम के बाद शव को किशोरीलाल अहिरवार के सुपुर्द कर दिया गया जिसके बाद हिन्दू रिवाजों से छतरपुर के भैंसासुर मुक्तिधाम में लड़की का अंतिम संस्कार किया गया था।

शनिवार को इस मामले में सिविल लाइन पुलिस ने पति तब्बू उर्फ तालिब खान, सास शहनाज बेगम, ससुर कमाल खान, जेठ विशाल उर्फ जमाल एवं मामा ससुर फखरूद्दीन निवासी झांसी के विरूद्ध हत्या की धारा 302 के अलावा धारा 201, 176, 34 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने तब्बू को गिरफ्तार कर लिया है शेष अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।

एसपी ने कहा जांच के बाद धाराएं बढ़ाई जाएंगी :

इस मामले में एसपी छतरपुर सचिन शर्मा ने कहा कि "पिता के आवेदन और प्राथमिक सबूतों के आधार पर पांच आरोपियों के विरूद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच में यदि लव जिहाद से जुड़े तथ्य सामने आते हैं तो इस कानून के तहत भी धाराएं बढ़ाई जाएंगी।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co