तीन थानों के बीच हुए जघन्य हत्याकांड के आरोपियों का अब तक सुराग नहीं

खाचरौद, मध्य प्रदेश : दीपावली के दूसरे दिन रविवार की सुबह मड़ावदा निवासी दिलीप पाटीदार की लाश बिरलाग्राम थाना क्षेत्र में मिली थी। पुलिस जांच के बीच परिजनों ने रिश्तेदारों पर लगाए आरोप।
तीन थानों के बीच हुए जघन्य हत्याकांड के आरोपियों का अब तक सुराग नहीं
त्यौहार के माहौल में युवक की हत्याSyed Dabeer Hussain-RE

खाचरौद, मध्य प्रदेश। दीपावली के दूसरे दिन रविवार की सुबह मड़ावदा निवासी दिलीप पाटीदार की लाश बिरलाग्राम थाना क्षेत्र में मिली थी। दिलीप मूल रूप से खाचरौद थाना क्षेत्र के ग्राम मड़ावदा का निवासी था जिसने 15 दिन पहले लुसड़ावन हनुमान फंटे पर ढाबे की शुरुवात की थी।

फिल्मी स्टाईल में दिया गया हैं वारदात को अंजाम और ये हत्याकांड भी अब सुनियोजित दिखाई दे रहा हैं आपको बता दे कि मृतक दिलीप खाचरौद थाना क्षेत्र का निवासी था घरवालों के अनुसार वह भाट पचलाना थाना क्षेत्र में किसी परिचित के बुलावे पर गया था जो नहीं लौटा लेकिन उसकी खून से सनी लाश बिरलाग्राम थाना क्षेत्र में मिली है।

पुलिस फिलहाल मामले में जांच की बात बोल रही है:

शार्ट पीएम रिपोर्ट से हुए खुलासे में हत्या होने की पुष्टि हो चुकी है पुलिस ने मामले में अज्ञात के विरुद्ध हत्या का मुकदमा कायम किया है लेकिन पुलिस अब तक दिलीप के हत्यारों तक नहीं पहुँच पाई हैं।

इस मामले में परिजनों ने बताया कि आखरी बार दिलीप दीपावली की रात कमठाना गया था उसके बाद नहीं लौटा।

दिलीप पाटीदार हत्याकांड को लेकर उज्जैन पुलिस की जांच जारी है लेकिन तीन थानों से शुरू हुई हत्या की कहानी का अंत बिरलाग्राम में हुआ है और अब इस हत्याकांड की जांच भी बिरलाग्राम पुलिस ही कर रही हैं। अब तक कि जानकारी अनुसार यह बात सामने आई है कि मृतक दिलीप दीपावली की रात को कमठाना गया था उसके बाद वह घर नहीं पहुँचा परिजनों ने शंका जाहिर कि हैं कि भाट पचलाना थाना क्षेत्र के गाँव कमठाना में उसकी हत्या कर उसकी लाश को नागदा थाना क्षेत्र में फेंका गया है।

परिजनों ने बताया की शनिवार रविवार की मध्यरात्रि के रोड पर के सीसीटीवी फुटेज में भी दिलीप की मोटरसाइकिल के आगे एक फोर व्हीलर वाहन गुजर रहा था। परिजनों ने हत्या की शंका दिलीप की बहन राजुभाई के जेठ प्रेमनारायण पाटीदार पर जाहिर की हैं उन्होंने मीडिया को जानकारी दी है कि ग्राम कमठाना में उसी रात को प्रेमनारायण पाटीदार के हली गणपत को भी देखे जाने की जानकारी परिजनों को मिली हैं। परिजनों ने बताया हैं कि घटना के एक दिन पहले से ही प्रेमनारायण पाटीदार का हली गणपत ढाबे की रेकी कर रहा था। जानकारी यह भी मिली है कि गणपत आदतन अपराधी है।

राज एक्सप्रेस से बातचीत में मृतक दिलीप की भांजियों ने बताया कि पिता के गुमशुदा और माँ की मौत के बाद दिलीप मामा ही हमारे माँ, बाप, भाई सब कुछ थे। उनके सर से पिता समान मामा का साया उठ गया, उनका किसी और से विवाद नहीं था मड़ावदा के ही हमारे बड़े पापा प्रेमनारायण ने कमठाना निवासी युवक एवं हली गणपत के साथ मीलकर दिलीप मामा की हत्या करी है, हमारे बड़े पापा ने पहले भी हमारे साथ विवाद किया था जीसकी खाचरौद थाने में शीकायतें करी थीं, हमारी जमीन को हड़पने के लीये हमारे मामाजी को पहले भी धमकियां मिली थी दिलिप की हत्या के बाद परीजनो का बुरा हाल है नागदा सीएसपी मनोज रत्नाकर ने बताया कि कमठाना नीवासी को थाने लाकर पुछताछ शुरू करदी है लेकिन अंधे कत्ल का सच अभी सामने नहीं आया है. शीघ्र ही सच सामने आएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co