उन्नाव : एकतरफा प्रेम का अंजाम थी उन्नाव में किशोरियों की हत्या
एकतरफा प्रेम का अंजाम थी उन्नाव में किशोरियों की हत्यासांकेतिक चित्र

उन्नाव : एकतरफा प्रेम का अंजाम थी उन्नाव में किशोरियों की हत्या

उन्नाव, उत्तर प्रदेश : उन्नाव जिले में अचेत मिली तीन दलित किशोरियों में से दो की मौत और एक के गंभीर रूप से बीमार पड़ने की घटना का पुलिस ने खुलासा करते हुये दो युवकों को गिरफ्तार किया है।

उन्नाव, उत्तर प्रदेश। उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में बुधवार देर शाम खेत में अचेत मिली तीन दलित किशोरियों में से दो की मौत और एक के गंभीर रूप से बीमार पड़ने की घटना का पुलिस ने खुलासा करते हुये दो युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार घटना एक तरफा प्रेम प्रसंग का अंजाम थी।

पुलिस महानिरीक्षक लक्ष्मी सिंह ने असोहा थाने में पत्रकारों को बताया कि घटना में दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जिनके पास से खाली जहरीली पानी की बोतल और जहर का रैपर बरामद किया गया है। असोहा थाने में दर्ज मुअसं-29/21 धारा 302/201 आईपीसी के संबध में उन्होंने बताया कि तीन लड़कियों को जहर दिया गया था जिसमें दो लड़कियों की मृत्यु हो गयी थी जबकि एक लड़की का इलाज कानपुर के निजी अस्पताल में किया जा रहा है। इस घटना में अभियुक्त विनय कुमार उर्फ लम्बू और राजू (काल्पनिक) को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि 17 फरवरी को थाना असोहा पर बबुरहा मजरा पाठकपुर निवासी सूरज रावत ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसकी बहने बरसीन काटने के लिये खेत में गयी थी जो देर शाम तक वापस नहीं लौटी। खोजबीन करने पर सरसों के खेत में पड़ी हुई मिली थी। इसी प्राथमिकी के आधार पर ही 302/201 आईपीसी बनाम अज्ञात के विरूद्ध पंजीकृत किया गया था।

उन्होंने बताया कि इस घटना के अनावरण में रेंज टीम लखनऊ तथा स्वाट/सर्विलांस टीम उन्नाव को खुलासे के लिये लगाया गया था। पुलिस टीम को शुक्रवार को गांव के एक मुखबिर से मिली सूचना मिली कि पाठकपुर के निवासी विनय कुमार उर्फ लम्बू और राजू (काल्पनिक) घटना के समय घटना स्थल पर मौजूद था जिन्हे गिरफ्तार कर पूछताछ करने से घटना का खुलासा हो सकता है। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक असोहा व पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ जोन लखनऊ की सर्विलांस टीम के साथ मुखबिर द्वारा बताये गये पाठकपुर तिराहे से दोनो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर थाने लाया गया था।

थाने पर विनय ने बताया कि उसका खेत बबुरहा गांव में है जहां एक किशोरी अक्सर अपनी चचेरी बहनो के साथ खेत आया करती थी। जिससे उसे एकतरफा प्रेम था। युवक उससे बात करने का प्रयास करता था तथा अपने प्रेम का प्रस्ताव रखता था मगर वह मना कर देती थी। अभियुक्त ने बताया उसने कई बार किशोरी के सामने प्रेम का प्रस्ताव रख रहा था मगर वह हर बार मना कर देती थी। जिसके कारण आक्रोशित था और किशोरी को मारने का मन बना लिया था। विनय ने बताया कि घटना वाले दिन वह घर से पानी की बोतल में गेंहू में रखे जाने वाला कीटनाशक मिलाकर लाया था। साथ ही दोस्त सचिन कुमार से नमकीन मंगाकर अपने खेत पर आया। जहां पहले से तीनों लड़कियां बरसीन काट रही थीं। विनय ने उन्हे बुलाकर नमकीन खिलाया, फिर जब लड़कियों ने पानी मांगा तो उसने किशोरी को बोतल दे दी। किशोरी ने पानी पिया और बाद मे उसकी चचेरी बहनों ने भी पानी पी लिया। जब वे लोग बेहोश होकर गिर गयीं तब दोनों मौके से भाग निकले थे।

आईजी ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर ही मुकदमा पंजीक्रत किया था। आरोपियों के विरूद्ध 302 और 201 में मुकदमा पंजीक्रत हुआ था। एक सवाल के जवाब में बताया विवेचना चलती रहेगी। उन्होने बताया कि सीडीआर एनालिसिस में अभियुक्त की लोकेशन घटनास्थल पर मिली थी। अभियुक्त विनय ने खुद ही बताया कि उसने लड़की से मोबाइल नम्बर मांगा था लेकिन उसने नहीं दिया था और झिटक दिया था। अभियुक्त विनय धानुक जाति का है और दूसरा रैदास है।

उन्होंने बताया कि तीनों लड़कियों की फोटो दिखाने पर अभियुक्त विनय ने बताया कि जिस लडकी का इलाज चल रहा है उससे उसे एक तरफा प्यार था। जोर जबरजस्ती जैसी बात उसने पूछताछ में नहीं बताया है। जिससे लगता है यही इसके नाराजगी का कारण यही था। बताया कि लड़कियां और अभियुक्त रोज ही साथ बैठकर गपशप करते थे दोनों के बीच दोस्ताना संबध थे। जिसके चलते खाते पीते थे इसी विश्वास में उसदिन लड़कियों ने उसके द्वारा दी गयी नमकीन खाई और पानी पिया था। घटना में किसी अन्य के शामिल होने की संभावना नहीं है।

फांरेसिक टीम को अभियुक्त के द्वारा प्रयोग की जाने वाली सिगरेट की पैकट घटनास्थल के पास से बरामद की गयी थी। जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने बताया कि इस घटना में मृतक किशोरियों के परिजनों को मुख्यमंत्री सहायता कोस से सहायता राशि के रूप में 5-5 लाख रूपए दिए जा रहे हैं तथा घायल किशोरी के सम्पूर्ण इलाज का खर्च वहन करने के साथ ही उसके परिजनों को भी दो लाख रूपए सहायता राशि दी गयी है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co