Panna : लोकायुक्त ने रोजगार सहायक को 5 हजार की रिश्वत लेते हुए दबोचा
लोकायुक्त ने रोजगार सहायक को 5 हजार की रिश्वत लेते हुए दबोचाAnil Tiwari - RE

Panna : लोकायुक्त ने रोजगार सहायक को 5 हजार की रिश्वत लेते हुए दबोचा

प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम जोड़ने व किश्त डालने के एवज में मांगी थी रिश्वत। ग्राम पंचायत गूढ़ा के रोजगार सहायक पर हुई लोकायुक्त की कार्यवाही। सिमरिया में लोकायुक्त ने कार्यवाही को दिया अंजाम।

पन्ना, मध्यप्रदेश। पन्ना जिले में रिश्वत के मामलों में लगातार लोकायुक्त पुलिस द्वारा कार्यवाही की जा रही है, जिसके बाद भी रिश्वत के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे है। बीते 15 दिन पूर्व पवई में एक लिपिक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथो पकड़ा था, तो वहीं आज सागर लोकायुक्त ने रोजगार सहायक को 5 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथो गिरफ्तार किया है। इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार पवई जनपद अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत गूढ़ा के रोजगार सहायक ने फरियादी से 10 हजार की रिश्वत पीएम आवास में नाम जुड़वाने एवं पहली किस्त डालने के एवज में मांगी थी। जिसे सागर लोकायुक्त ने 5000 की रिश्वत लेते हुए सोमवार की शाम गिरफ्तार किया है।

बताया जाता है कि ग्राम पंचायत गूढ़ा निवासी राम सिंह ठाकुर पिता सूरज सिंह ठाकुर ने सागर लोकायुक्त में शिकायत की थी कि उनके बेटे लोकेंद्र सिंह का नाम पीएम आवास योजना के तहत जारी सूची में आया है, लेकिन ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक राजकुमार साहू के द्वारा 10 हजार की रिश्वत लिस्ट में नाम जुड़वाने एवं पहली किश्त डालने के एवज में मांगी जा रही है। जिससे वह काफी परेशान है, क्योंकि परिवार की गरीबी हालत एवं जिस बेटे के नाम पीएम आवास आया था वह मजदूरी करने के लिए घर से बाहर अन्य राज्य गया था। जहां से बेटे को पीएम आवास का लाभ सुनते ही घर बुलवा लिया है, लेकिन रोजगार सहायक के द्वारा 10 हजार की रिश्वत मांगी की जा रही थी, जिस शिकायत के आधार पर सागर लोकायुक्त की टीम ने सोमवार की शाम सिमरिया बस स्टैंड से रोजगार सहायक राजकुमार साहू को 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर कार्यवाही की। गौरतलब है कि ग्राम पंचायतों में लम्बे समय से पीएम आवास में भ्रष्टाचार के आरोप लगाये जा रहे थे, जहां पर पात्रों को आवास सूची में नाम दर्ज करने के बदले पैसों की मांग की जाती है, इस ओर कोई कार्यवाही न होने के चलते हितग्राही परेशान होकर इस प्रकार की कार्यवाही को अंजाम तक पहुंचाते है। सिमरिया में हुई लोकायुक्त की कार्यवाही में उपनिरीक्षक राजेश खेड़े, निरीक्षक अभिषेक वर्मा, निरीक्षक मंजु सिह व विपुस्था स्टाफ शामिल रहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.