पन्ना की वरिष्ठ महिला चिकित्सक को बंधक बनाकर लाखों की लूट
पन्ना की वरिष्ठ महिला चिकित्सक को बंधक बनाकर लाखों की लूटRaj Express

पन्ना की वरिष्ठ महिला चिकित्सक को बंधक बनाकर लाखों की लूट

पन्ना, मध्यप्रदेश : डॉ. मीना नामदेव के घर में लाखों की नगदी ले गए शातिर लुटेरे। बेखोफ हो रहे अपराधी, पुलिस की गस्ती पर उठ रहे सवाल।

पन्ना, मध्यप्रदेश। पन्ना शहर की प्रतिष्ठित महिला चिकित्सक डा. मीना नामदेव के घर को शातिर चोरों ने निशाना बनाया और उन्हें बंधक बनाकर लाखों की रकम लूट कर ले गए। यह खबर जिसने भी सूनी स्तब्ध रह गया। शहर की पॉश कॉलोनी में रहवाने वाली महिला चिकित्सक के घर हुई इस वारदात की सूचना उन्होंने खुद ही पुलिस को दी। बताया जाता है कि डाक्टर की निजी प्रेक्टिस की चर्चा चारों ओर है, ऐसे में शातिर चोरों को उनके घर पर बड़ी मात्रा में नगदी होने की आशंका थी, जिसके चलते लुटेरों ने योजनाबद्ध तरीके से इस वारदात को अंजाम दिया। घर में तीन बदमाश ने खिड़की तोड़कर प्रवेश किया और फिर डॉक्टर को बंधक बना लिया। जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल में पदस्थ वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मीना नामदेव जो बेनी सागर मोहल्ला के नजरबाग मैदान के पास रहती है। उनके घर मे अज्ञात लुटेरों ने मुख्य द्वार का ताला काटकर तथा जिस कमरे डाक्टर थीं, उस कमरे की खिडकी को काटकर अंदर प्रवेश किया। इसके बाद शातिर लुटेरों ने गला दबाकर डाक्टर को बंधक बनाया। फिर लाखों रुपए लूट ले गए। महिला डॉक्टर मीना नामदेव ने बताया कि उक्त वारदात में तीन लोग शामिल थे। जिनके द्वारा घटना को अंजाम दिया गया। लुटेरो ने डॉक्टर को पकडकर एक ही स्थान पर बैठा रखा तथा आलमारी की चाबी लेकर आलमारी में रखे नगदी ले जाने की जानकारी प्राप्त हो रही है। डॉक्टर ने बताया कि मेरे द्वारा आवाज देने का भी प्रयास किया गया। लेकिन किसी ने नहीं सुना। घटना को अंजाम देने के बाद लुटेरे किरायेदार की बुलेट गाड़ी निकालकर ले गयें तथा गले में पहनी हुई चैन छीन ले गयें एवं मुझे कमरे मे बन्द कर दिया। सुबह घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आरती सिंह, कोतवाली प्रभारी अरूण सोनी, डॉक्टर के निवास पर पहुचे। घटना की संपूर्ण जानकारी हासिल की। शहर की बीचो बीच हुई चोरी तथा लूट की घटना से पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खडें हो रहें है। पुलिस ने फिलहाल द्वारा चोरो को पकडने के लिए आस पार लगें सीसी टीव्ही कैमरो से जानकारी एकत्रित की जा रही है।

योजनाबद्ध तरीके से दिया घटना को अंजाम :

शातिर लुटेरों को इस बात का पूरा अंदाजा था कि डाक्टर के पास बड़ी मात्रा में नगदी रकम मिल सकती है। साथ ही यह भी जानकारी रही होगी कि वे अपने घर पर अकेली रहतीं हैं। ऐसे में योजनाबद्ध तरीके से घर में दाखिल होकर सर्वप्रथम डाक्टर को ही बंधक बना लिया। जिससे उनका काम आसान हो गया। इस वारदात में कितनी रकम चोरी हुई, इसका सटीक आंकलन तो डाक्टर को भी नहीं है। लेकिन अंदाजा लगाया जा रहा है कि करीब 30 लाख से अधिक की रकम चोरी हुई है। वारदात के दौरान अलमारी में रखी ज्वैलरी पर लुटेरों की नजर नहीं पड़ी, जिसके चलते वे उसे छोड़कर ही उम्मीद से ज्यादा नगदी लेकर चलते बनें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.