इंदौर : पुलिस करवाएगी ड्रग तस्करों की संपंत्ति राजसात
पुलिस करवाएगी ड्रग तस्करों की संपंत्ति राजसातRaj Express

इंदौर : पुलिस करवाएगी ड्रग तस्करों की संपंत्ति राजसात

70 करोड़ की ड्रग्स के साथ पकड़े गए आरोपियों की संपंति राजसात करवाने के लिए भी पुलिस प्रयास करेगी। हैदराबाद पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम के राडार पर आधा दर्जन से ज्यादा संदिग्ध आए हैं।

इंदौर, मध्य प्रदेश। 70 करोड़ की ड्रग्स के साथ पकड़े गए आरोपियों की संपंति राजसात करवाने के लिए भी पुलिस प्रयास करेगी। हैदराबाद पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम के राडार पर आधा दर्जन से ज्यादा संदिग्ध आए हैं। हैदराबाद पुलिस के सहयोग से इन संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। इन संदिग्धों से किसी बड़े खुलासे की उम्मीद है।

उल्लेखनीय है कि ड्रग्स मामले में पकड़े गए प्रमुख आरोपी वेद प्रकाश व्यास की हैदराबाद में दवाई फैक्ट्री है। ड्रग्स के डीलर्स की तलाश में क्राइम ब्रांच की टीम हैदराबाद में डेरा डाले हुए है। हैदराबाद में कई फैक्ट्रियों की सर्चिंग के दौरान कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां मिली है जिसके आधार पर टीम हैदराबाद पुलिस की सहायता से आधा दर्जन से ज्यादा संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। बताते हैं कि इनमें से कुछ पर शक है कि वे ड्रग्स पेडलर हो सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि क्राइम ब्रांच ने इंदौर में घेराबंदी कर हैदराबाद के दो सहित पांच आरोपियों को 70 करोड़ की एमडीएमए ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच टीम हैदराबाद पहुंची है। वहां पर कुछ फैक्ट्रियों पर सर्चिंग कर तथ्य जुटाए गए हैं। इसके साथ ही कुछ दस्तावेज भी खंगाले गए हैं। हैदराबाद की पुलिस टीम के साथ ही वहां के खबरियों से भी क्राइम ब्रांच ने कई महत्वपूर्ण जानकारी एकत्र की हैं। आधा दर्जन से 'यादा संदिग्धों से पूछताछ के बाद अगली कार्रवाई की रणनीति बनाई जा रही है। आरोपी हैदराबाद निवासी वेद प्रकाश व्यास एवं उसके ड्राइवर मांगी वेंकटेश से भी अलग -अलग जानकारी ली जा रही है। ड्रग्स कांड में गिरफ्तार टेंट व्यवसायी दिनेश अग्रवाल मूल रुप से मंदसौर का रहने वाला है। दिनेश के बेटे के साथ ही मंदसौर में रहने वाला उसका भतीजा भी स्पाट से पकड़ा गया है। इनसे पूछताछ के साथ ही टीम मंदसौर में भी सक्रिय है। वहां पर कई स्थानों की छानबीन के बाद भी क्राइम ब्रांच को कोई उल्लेखनीय सफलता नहीं मिली है।

क्राइम एएसपी गुरु प्रसाद पाराशर ने बताया कि क्राइम ब्रांच की टीम को हैदराबाद पुलिस पूरा सहयोग कर रही है। आधा दर्जन से 'यादा संदिग्धों से पूछताछ चल रही है। वहां से ड्रग्स रैकेट के कुछ रहस्य सामने आने की संभावना है। फिलहाल अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया। मंदसौर में भी स्थानीय पुलिस की मदद से कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। आरोपियों के परिजनों एवं अन्य परिचितों से भी जानकारियां ली जा रही है। पुलिस ड्रग्स तस्करों की संपंति राजसात करवाने की तैयारी में भी जुट गई है। इसके लिए कई एक्सपर्टस से बातचीत की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co