Gwalior : न्यायालय परिसर से बंदी फरार, मामला दर्ज, दूसरे दिन आरोपी को दबोचा
न्यायालय परिसर से बंदी फरार, मामला दर्जसांकेतिक चित्र

Gwalior : न्यायालय परिसर से बंदी फरार, मामला दर्ज, दूसरे दिन आरोपी को दबोचा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : न्यायालय में पेश करने के लिए लाया गया बंदी पुलिस जवानों को बाथरूम जाने का झांसा देकर भाग गया। घटना इंदरगंज थाना क्षेत्र के जिला न्यायालय की है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। न्यायालय में पेश करने के लिए लाया गया बंदी पुलिस जवानों को बाथरूम जाने का झांसा देकर भाग गया। घटना इंदरगंज थाना क्षेत्र के जिला न्यायालय की है। भागते हुए बंदी को देखकर पुलिस जवानों ने उसका पीछा किया, लेकिन वह गलियों से भाग निकला। मामले का पता चलते ही पुलिस के वरिष्ठ अफसर भी मौके पर पहुंचे और बंदी की तलाश की, लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं आया। बंदी के पकड़ में न आने पर पुलिस अफसर इंदरगंज थाने पहुंचे और आरोपी के भागने की शिकायत दर्ज कराई। घटना के एक दिन बाद वही पुलिसकर्मी आरोपी को पकड़कर ले आए हैं। जिनकी लापरवाही के चलते आरोपी फरार हो गया था।

शिवपुरी निवासी सोनू पुत्र दिलीप बाथम हाल निवासी गोसपुरा नंबर एक को बुधवार को पुलिस ने पकड़ा था। आरोपी स्थाई वारंटी था और उसे हिरासत में लेकर आरक्षक अर्पण त्रिपाठी और राहुल भदौरिया व प्राइवेट चालक देवेन्द्र कुलश्रेष्ठ के साथ न्यायालय में पेश करने के लिए लाए थे। दोपहर करीब डेढ़ बजे न्यायालय पहुंचने पर बंदी सोनू ने बाथरूम जाने के लिए कहा, इस पर आरक्षक उसे न्यायालय के बाथरूम के पास छोड़कर बाहर बातचीत करने लगे। मौका पाकर बंदी सोनू बाहर आया और पुलिस जवानों को चकमा देकर भाग निकला। जवानों की नजर उस पर तब पड़ी जब वह न्यायालय के गेट के बाहर जा रहा था।

पीछा करते रह गए जवान :

पुलिस जवानों को आरोपी न्यायालय गेट पर दिखाई दिया तो उन्होंने उसका पीछा किया, लेकिन बंदी उन्हें चकमा देकर पतली गलियों में जाकर गायब हो गया। मामले का पता चलते ही वरिष्ठ अफसर मौके पर पहुंचे और बंदी की तलाश में रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड सहित अन्य स्थानों पर दबिश दी, लेकिन वह हाथ नहीं आया। बंदी के हाथ नहीं आने पर जवान इंदरगंज थाने पहुंचे और मामले की शिकायत की। पुलिस ने आरक्षकों की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी के भागने के बाद पुलिस की तीन टीमों को आरोपी की तलाश में लगाया गया था। पुलिस की एक टीम आरोपी को पकड़ कर ले आई है। वहीं इस मामले की पुलिस अधीक्षक ने जांच करने का आदेश दिया हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.