शराबी पति पुलिस कि गिरफ्त में
शराबी पति पुलिस कि गिरफ्त में|Afsar Khan
क्राइम एक्सप्रेस

ब्यौहारी : शराबी पति की प्रताड़ना से फांसी पर झूली थी रानू

शहडोल, मध्य प्रदेश : ब्यौहारी थाना क्षेत्रांतर्गत 16 अगस्त को ग्राम मैरटोला निवासी 29 वर्षीय नवविवाहिता रानू कोल पति रामलखन कोल के फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया।

Afsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। ब्यौहारी थाना क्षेत्रांतर्गत 16 अगस्त को ग्राम मैरटोला निवासी 29 वर्षीय नवविवाहिता रानू कोल पति रामलखन कोल के फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया। जिस पर पुलिस ने मृतिका रानू कोल का मर्ग कायम कर जांच विवेचना में लिया। दौरान मर्ग जांच मृतिका के परिजनों के कथन लिये गये जिन्होंने अपने कथन में बताया कि मृतिका रानू कोल की शादी करीब 10-12 वर्ष पूर्व ग्राम मैरटोला निवासी मोतीलाल कोल के लड़के रामलखन कोल के साथ हुई थी। शादी के बाद से मृतिका रानू कोल अपने ससुराल में रहती थी। मृतिका का एक लड़का राज कोल उम्र 08 वर्ष तथा एक लड़की उम्र करीब 03 वर्ष हैं। शादी के बाद कुछ साल तक रानू कोल को उसका पति रामलखन कोल तथा ससुराल वाले ठीक-ठाक रखते थे।

फांसी लगाकर की थी आत्महत्या :

दो वर्ष पूर्व से रानू के साथ उसके पति रामलखन शराब पीकर गाली-गलौज कर मारपीट करने लगा, तब यह सब बातें रानू ने मोबाईल के माध्यम से अपने भाई सतीष कोल तथा मायके के लोगों को बताई थी। मृतिका रानू कोल को उसके पति रामलखन कोल के द्वारा हमेशा शराब पीकर गाली-गलौज कर मारपीट करने व शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित करने से परेशान होकर मृतिका ने 16 अगस्त को गले में कपड़े के फंदे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मर्ग जांच उपरांत पुलिस ने 11 सितम्बर को आरोपी पति रामलखन कोल पिता मोतीलाल कोल निवासी ग्राम मैरटोला थाना ब्यौहारी के विरूद्ध धारा 498ए, 306 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया।

न्यायालय में किया पेश :

पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रतिमा एस. मैथ्यू के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी ब्यौहारी भविष्य भास्कर के नेतृत्व में थाना प्रभारी ब्यौहारी द्वारा पुलिस टीम तैयार की गई जिन्हें मामले के आरोपी रामलखन कोल की गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए। पुलिस टीम द्वारा तत्परता से कार्यवाही करते हुए 12 सितम्बर को आरोपी रामलखन कोल को उसके निवास स्थल ग्राम मैरटोला से गिरफ्तार किया जाकर न्यायालय ब्यौहारी के समक्ष पेश किया गया। कार्यवाही  में थाना प्रभारी निरीक्षक अनिल पटेल, प्रधान आरक्षक धनुषधारी सिंह एवं आरक्षक अरूण परस्ते की महत्वपूर्ण एवं सराहनीय भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co