अंधे हत्याकाण्ड से उठा पर्दा
अंधे हत्याकाण्ड से उठा पर्दा|Afsar Khan
क्राइम एक्सप्रेस

शहडोल : अंधे हत्याकाण्ड से उठा पर्दा, 4 आरोपियों में नाबालिग भी शामिल

शहडोल, मध्य प्रदेश : बीते सप्ताह सोहागपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम हर्री में हुई पिता-पुत्र की जघन्य हत्या का खुलासा पुलिस ने किया और बताया कि लूट के बाद की थी पिता-पुत्र की हत्या, 2 अभी भी फरार।

Afsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। बीते सप्ताह सोहागपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम हर्री में हुई पिता-पुत्र की जघन्य हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने किया है। थाना क्षेत्र अंतर्गत करियानाला के पास कच्चे रास्ते के बगल में दो व्यक्ति सूरज यादव एवं उसके पुत्र पप्पू उर्फ सुशील 28 अगस्त को मृत अवस्था में पड़े थे, जिनके दोनों हाथ पीछे की ओर बंधे और चेहरे में धारदार हथियार से चोट के निशान थे। ग्रामीणों ने इसकी सूचना सोहागपुर पुलिस को दी, जिसके बाद मौके पर पुलिस अधीक्षक सहित सोहागपुर थाने की टीम पहुंची।

हत्या से पहले हाथ पीछे बांधे :

पुलिस ने बताया कि मोतीलाल यादव की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना में सामने आया कि सूरज यादव पिता बैजराम उम्र 58 वर्ष एवं पप्पू उर्फ सुशील यादव पिता सूरज यादव उम्र 26 वर्ष निवासी हर्री के शवों का शरीर खून से लथपथ, दोनों के हाथ कपड़े से पीछे की ओर बंधे हुए थे एवं चेहरे व गाल, दाढ़ी, कंधे व सीने पर गहरे धारदार हथियार के घाव लगे दिखे।

लूट के बाद हुई थी हत्या :

विवेचना में घटनास्थल एवं दोनों मृतकों के घर का निरीक्षण करने पर घर का दरवाजा खुला होना एवं सामान अस्त-व्यस्त होना पाया गया, घर के अंदर कई जगह खून के धब्बे पड़े हुए थे, घर की अलमारी का लॉकर खुला हुआ था एवं अलमारी के कपड़े जमीन पर बिखरे हुए थे, प्रथमदृष्टया अज्ञात आरोपियों के द्वारा घर का सामान लूट कर मारपीट एवं हत्या करने के तथ्य प्रकाश में आए।

गांजे का सेवन करता था मृतक पिता :

पुलिस द्वारा मृतकों के परिजनों से पूछताछ करने पर कुछ भी नहीं बताया गया, जिसके आधार पर पुलिस विवेचना की दिशा तय कर पाती, अंधे कत्ल के मामले में मृतकों एवं उनके परिजनों से संबंधित समस्त आशंकाओं को संज्ञान लेते हुए विस्तृत विवेचना शुरू की गई। लगातार सघन पूछताछ के दौरान पता चला की मृतक पिता गांजा सेवन करता था, कुछ असामाजिक तत्वों के साथ उसका मेल-जोल था।

घटना स्थल पर दिखा था आरोपी :

सघन पूछताछ में पता चला कि थाने का निगरानीशुदा बदमाश कोमल यादव पिता स्व. बाबूलाल यादव उम्र 40 साल निवासी हरदी एवं पिंटू यादव अपने कुछ साथियों के साथ घटनास्थल के आस-पास कंचनपुर पेट्रोल पंप एवं स्टार ढाबा में घटना के समय देखा गया था, पुलिस ने उक्त व्यक्ति की तलाश शुरू की, लेकिन घटना के बाद से वह फरार था। पुलिस द्वारा आरोपियों की पता-तलाश शुरू की गई।

घर में की थी लूट :

5 सितम्बर को ग्राम हरदी से ही संदेही कोमल यादव को गिरफ्तार कर उससे सघन पूछताछ की गई। कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी कोमल यादव ने बताया कि उसके द्वारा अपने साथियों पिंटू यादव, अनिल यादव एवं एक नाबालिग साथी के साथ मिलकर दोनों मृतकों से मारपीट कर घर से टीव्ही, सेटअप बॉक्स, 10 हजार रूपये नगद एवं ज्वेलरी लूटकर ले गए थे।

नाबालिग ने कबूल किया जुर्म :

आरोपी ने बताया कि लूट के बाद पिता-पुत्र के दोनों हाथ के पीछे बांधकर मोटरसायकिल से करियानाला जगदशी सिंह के खेत के पास ले जाकर धारदार हथियारों से उनकी हत्या कर दी गई। आरोपी के कबूल नामें के बाद नाबालिग आरोपी से उसके पिता की उपस्थिति में पूछताछ की गई, जिसने अपना जुर्म स्वीकार किया। आरोपी कोमल की निशादेही पर उससे टीव्ही सेटअप बॉक्स व 2500 रूपये नगद एवं नाबालिग आरोपी से पीतल का छोटा सिंहासन और 2500 रूपये नगद एवं घटना में प्रयुक्त हथियार बका व स्कूटी जब्त की गई।

दो पर ईनाम घोषित :

हत्याकाण्ड में शामिल दो अन्य आरोपियों पिंटू यादव पिता अयोध्या उम्र 22 वर्ष एवं अनिल यादव पिता सोहन यादव उम्र 24 वर्ष देानों निवासी ग्राम हरदी की पता तलाश की जा रही है, पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र शुक्ला द्वारा फरार आरोपियों पर 5-5 हजार रूपये का ईनाम घोषित किया गया है।

इनकी रही भूमिका :

अंधे हत्याकाण्ड की गुत्थी सुलझाने में सोहागपुर थाना प्रभारी सुदीप सोनी, उपनिरीक्षक किरण वरकड़े, उमाशंकर चतुर्वेदी, सहायक उपनिरीक्षक रजनीश तिवारी, रामराज पाण्डेय, बालकरण प्रजापति, प्रधान आरक्षक सुरेश कुमार अहिरवार, राम प्रसाद चतुर्वेदी, मो. सफी, आरक्षक हीरालाल, अजीत सिंह, लक्ष्मी पटेल, उमेश धुर्वे, रंजीत कनासिया की भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co