शहडोल : पुलिस गिरफ्त में आये आत्महत्या दुष्प्रेरण के आरोपी
पुलिस गिरफ्त में आये आत्महत्या दुष्प्रेरण के आरोपीAfsar Khan

शहडोल : पुलिस गिरफ्त में आये आत्महत्या दुष्प्रेरण के आरोपी

शहडोल, मध्य प्रदेश : "तेरा बाप दहेज में कुछ नहीं दिया है, कहीं दूसरी जगह शादी करते तो अच्छे से बर्तन-भाड़ा और रूपये-पैसा मिलता" कहकर महिला को दहेज के लिये प्रताड़ित करते थे।

शहडोल, मध्य प्रदेश। पपौंध थाना क्षेत्रांतर्गत 20 जुलाई को ग्राम डबरौहा में एक 23 वर्षीय नव विवाहिता संगीता गोंड पति भगवानदीन गोंड के फंसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया। जिस पर पुलिस ने मृतिका संगीता सिंह गोंड का मर्ग कायम कर जांच में लिया। मर्ग जांच के दौरान मृतिका के परिजनों के कथन लिए गये जो बतायें कि मृतिका की शादी हिन्दू रीति-रिवाज से 6-7 वर्ष पूर्व ग्राम डबरौहा थाना पपौंध निवासी रामदीन गोंड के बड़े लड़के भगवानदीन गोंड के साथ हुई थी। हैसियत के मुताबिक दान-दहेज के समान दिये गये थे।

करते थे प्रताड़ित :

शादी के बाद मृतिका संगीता सिंह को उसके ससुराल वाले शादी के एक साल तक अच्छे से रखे फिर एक साल बाद मृतिका के ससुर रामदीन गोंड, सास कुसुम बाई एवं पति भगवानदीन गोंड द्वारा दुख तकलीफ देते हुए "तेरा बाप दहेज में कुछ नहीं दिया है, कहीं दूसरी जगह शादी करते तो अच्छे से बर्तन-भाड़ा और रूपये-पैसा मिलता" कहकर प्रताड़ित करते थे। तथा संगीता के बच्चे नहीं होने से सास, ससुर और पति के द्वारा छोटी-छोटी बातों को लेकर दुख तकलीफ देकर परेशान करते थे। प्रताड़ना से तंग आकर 20 जुलाई को गांव के करीब 04 किलोमीटर दूर जंगल में महुआ के पेड़ में मृतिका ने अपनी साड़ी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

टीम बनाकर की जांच :

संपूर्ण मर्ग जांच पी.एम. रिपोर्ट, घटना स्थल निरीक्षण, मृतिका के परिजनों के कथन एवं शव पंचायतनामा कार्यवाही के प्रथम दृष्टया धारा  498(ए), 304(बी), 34 भादवि एवं 3/4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम का अपराध पंजीबद्ध कर लिया। अपराध प्रमाणित पाये जाने पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र कुमार शुक्ला एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रतीमा एस. मैथ्यू के मार्गदर्शन में एवं एसडीओपी ब्यौहारी भविष्य भास्कर के नेतृत्व में थाना प्रभारी पपौंध निरीक्षक कालूराम सिलाले द्वारा पुलिस टीम तैयार की गई। जिन्हें उक्त घटना के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए निर्देशित किया गया।

ये आये गिरफ्त में :

पुलिस टीम द्वारा तत्परता से कार्यवाही करते हुए मुताबिक निर्देशानुसार मामले के आरोपी पति भगवानदीन गोंड, ससुर रामदीन गोंड एवं सास कुसुम बाई गोंड सभी निवासी ग्राम डबरौहा थाना पपौंध की पता तलाश उनेक निवास पर की गई। जिन्हें 17 अगस्त को गिरफ्तार किया जाकर न्यायिक अभिरक्षा पर भेजा गया।

इनकी रही भूमिका :

कार्यवाही में एसडीओपी ब्यौहारी भविष्य भास्कर के नेतृत्व में थाना प्रभारी पपौंध निरीक्षक कालूराम सिलाले, उप निरीक्षक सुरेन्द्र शर्मा, प्रधान आरक्षक धनुषधारी एवं आरक्षक अजय वर्मा की महत्वपूर्ण एवं सराहनीय भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co