बुढ़ार : दूसरे के लिए बुने चक्रव्यूह में खुद फंसा हत्यारा

शहडोल, मध्य प्रदेश : सुरा और सुंदरी के शौक में फंसे पति ने ही की थी पत्नी की हत्या। बीते एक साल से हत्यारे की रैकी व मुखबिरी में लगी थी बुढार पुलिस।
बुढ़ार : दूसरे के लिए बुने चक्रव्यूह में खुद फंसा हत्यारा
पुलिस की गिरफ्त में आरोपीAfsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। सुरा और सुंदरी के शौक में शादी शुदा युवक का जीवन और परिवार बर्बाद कर दिया, लगातार घर में कलह, रूपयों की कमी और नशे में पत्नी के साथ आये दिन मारपीट करने वाले गणेश चौधरी ने ही ठीक एक साल पहले अपनी पत्नी की नृशंस हत्या कर दी थी, घटना के बाद बुढार पुलिस ने गणेश को पूछताछ के लिए बुलाया, लेकिन साक्ष्य नहीं मिल पाये, गणेश भी इससे मुकरता रहा, लेकिन पुलिस ने हार नही मानी और अपनी मुखबिरी तंत्र को गणेश की रैकी करने के लिए छोड रखा था। बीते एक वर्ष के दौरान गणेश ने शराब के नशे में एक-दो बार खुद दूसरों को यह धमकी भी दी कि जैसे पहले हत्या की है, वैसे तुम्हें भी तालाब के मेढ पर मार कर फेंक देंगे। पुलिस ने उस दौरान भी गणेश से पूछताछ की, लेकिन शातिर ने गुनाह नही कबूला, बीते दिनों गणेश ने किसी अन्य को इस मामले में फंसाने के लिए हत्या से जुडे तथ्यों को जोड़ कर उसके नाम की अफवाह फैलाई, लगातार इस मामले में निगरानी रख रही बुढार पुलिस ने जब कथित व्यक्ति को पकड़ा और उससे पूछताछ शुरू की, तो पुराने मामले और पुरानी पूछताछ के तार एक दूसरे से जुड़ने लगे, थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने पुन: गणेश को थाने बुलाकर दोनों से अलग-अलग कई घंटों तक पूछ-ताछ की, पुलिस के इस प्रयास के आगे गणेश टिक नहीं पाया और उसने एक साल बाद आखिर गुनाह कबूल ही लिया।

यह हुआ था 20 सितंबर को :

थाना में 20 सितम्बर को सूचनाकर्ता दिनेश चौधरी पिता रामदास चौधरी निवासी पुरानी बस्ती बुढ़ार द्वारा मृतिका देवकी चौधरी पति गणेश चौधरी उम्र 35 साल निवासी पुरानी बस्ती बुढ़ार का शव बुढ़ी दाई मंदिर के पास तालाब के पानी में पड़े होने की सूचना पर प्रारंभिक मर्ग पंजीबद्ध कर जांच की गई थी। जांच के दौरान मृतिका के सिर में दो गंभीर चोटें पाई गई थी। पीएम रिपोर्ट में डॉक्टर द्वारा मृतिका की मृत्यु धारदार औजार से सिर में गंभीर चोट आने की वजह से होना लेख किया गया था, जिसके आधार पर अज्ञात अभियुक्त के विरुद्ध धारा 302,201 ताहि पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही थी।

पुलिस के लिये बनी थी चुनौती :

अज्ञात अभियुक्त की पता तलाश थाना प्रभारी बुढ़ार महेन्द्र सिंह चौहान के द्वारा अधीनस्थ विवेचना अधिकारियों के सहयोग से की जा रही थी। मृतिका देवकी चौधरी की अंधी हत्या का मामला थाना बुढ़ार पुलिस के लिए चिन्ता का विषय बना हुआ था, इस अंधी हत्या में अज्ञात आरोपी का लंबी अवधि में पता नहीं लगने से मृतिका के परिजनों एवं आम जनता द्वारा आरोपी का पता लगाकर गिरफ्तार करने की सतत् पुलिस से अपेक्षा की जा रही थी। यह मामला पुलिस के लिए जनता के समक्ष विश्वास अर्जिंत करने का चैलेंज बन गया था। मामले में घटना से संबंधित तथा अज्ञात आरोपी की पतारसी के साक्ष्य एकत्र किए गए थे किन्तु आरोपी का पता नहीं लगा था।

सिर पर कुल्हाड़ी से किया था वार :

इसी क्रम में मामले की विवेचना एवं संदेहियों से पूछताछ के लिए पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र शुक्ला एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रतिमा एस. मैथ्यू द्वारा मामले की केश डायरी की समीक्षा उपरान्त थाना प्रभारी बुढ़ार को आवश्यक निर्देश दिए गए थे, जिस पर मामले के संदेही गणेश चौधरी पिता रामदास चौधरी उम्र 38 साल निवासी पुरानी बस्ती बुढ़ार को 21 सितम्बर को अभिरक्षा में लेकर सूझ-बूझ के साथ सक्रिय रूप से पूछताछ की गई तो संदेही द्वारा पैसा मांगने पर मृतिका द्वारा देने से मना करने की बात को लेकर विवाद होने पर अचानक गुस्सा होकर प्रात: बूढ़ीदाई तालाब के पास मृतिका देवकी चौधरी को कुल्हाड़ी से दो बार सिर में मारकर हत्या करना स्वीकार किया गया एवं आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त औजार कुल्हाड़ी बरामद की गयी।

पुलिस ने किया गिरफ्तार :

इस प्रकार 01 वर्ष अवधि से लंबित अंधी हत्या का खुलासा पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी धनपुरी के निर्देशन में थाना प्रभारी बुढ़ार निरीक्षक महेन्द्र सिंह चौहान के नेतृत्व में अधीनस्थ पुलिस स्टाफ द्वारा लगातार अज्ञात आरोपी की पता तलाश का सक्रिय प्रयास कर अंधी हत्या में आरोपी को गिरफ्तार किया जाकर न्यायालय पेश किया गया, आरोपी न्यायालय से न्यायिक रिमाण्ड़ पर जेल भेजा गया है। इस अंधी हत्या का खुलासा करने एवं आरोपी को गिरफ्तार कराने में थाना प्रभारी बुढ़ार निरीक्षक महेन्द्र सिंह चौहान, उप निरीक्षण उपेन्द्र त्रिपाठी, प्रधान आरक्षक हरिकिशोर एवं आरक्षक धर्मेन्द्र सिंह का महत्वपूर्ण भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co