शहडोल : महिला ने समूह बनाकर किया हमला, एसपी से शिकायत
महिला ने समूह बनाकर किया हमला, एसपी से शिकायतRaj Express

शहडोल : महिला ने समूह बनाकर किया हमला, एसपी से शिकायत

शहडोल, मध्य प्रदेश : गत दिनों अंडर ब्रिज के सामने एक महिला ने ईंट मारकर एक व्यक्ति को घायल कर दिया, जिसकी शिकायत थाने में भी की गई, लेकिन पुलिस की कार्यवाही अभी तक शून्य है।

शहडोल, मध्य प्रदेश। गत दिनों अंडर ब्रिज के सामने एक महिला ने ईंट मारकर एक व्यक्ति को घायल कर दिया, जिसकी शिकायत थाने में भी की गई, लेकिन पुलिस की कार्यवाही अभी तक शून्य है। बताया गया है कि हरिओम पांडे पिता ओमप्रकाश पांडे उम्र 50 साल निवासी थाना परिसर के बगल में, अंडरब्रिज रोड वार्ड नंबर-10 शहडोल में दुकान से अपनी आजीविका चला रहा है। जिस पर अनावश्यक हस्तक्षेप करने वाली निरुपमा ने कुछ दिन पहले दुकान के सामने एक ट्रक ईंट गिरा कर दुकान पर जाम कर दिया था। जिसकी शिकायत थाने में करने पर सिपाही मौका स्थल पर गए थे और जब मैं अपने दुकान का ताला खोल रहा था तो निरुपमा ने गाली-गलौज करते हुए मुझ पर ईंट फेंक कर वार कर दिया।

यह है मामला :

शिकायत पर अनुविभागीय दंडाधिकारी सोहागपुर द्वारा पुलिस कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। 28 जनवरी को जब दोपहर बाद दुकान के एक परिसर आगे गली पर बत्रा परिवार के अतिक्रमण पर जिला पुलिस और प्रशासन अमला कार्यवाही कर रहा था। उसी वक्त दुकान के सामने ईंट उतारी जा रही थी, तो ट्रैक्टर वाले से निरुपमा, अपने एससी-एसटी वर्ग की महिलाओं को साथ लाकर अपने बच्चों सहित पहले पत्थर फेंक कर मारे। साथ में अनुसूचित जाति जनजाति की महिलाएं भी थी। संपूर्ण परिस्थिति की रिपोर्ट दर्ज कराई गई। साथ ही पूरी पृष्ठभूमि ड्यूटी पर तैनात नित्यानंद पांडे को बताई ताकि मामले की गंभीरता के हिसाब से परिवार को सुरक्षा दी जाए। लेकिन शिकायत पर उचित कार्यवाही नहीं करते हुए 155 की शिकायत दर्ज कर ली गई है। जबकि जिस प्रकार से जिले के बल जहां पर बगल में पुलिस प्रशासन का जमा हो वहां पर आपराधिक प्रवृत्ति की महिला अपने गिरोह के साथ हमला करती है, स्वाभाविक रूप से समझा जा सकता है कि उसका मनोबल किसी भी हद तक जानमाल का खतरा पैदा कर सकता है।

प्राणघातक हमले का षडयंत्र :

इस आशय की शिकायत हरिओम पांडे पिता ओमप्रकाश पांडे (सेवानिवृत्त चुनाव पर्यवेक्षक जिला शहडोल) द्वारा भी 29 जनवरी को शिकायत भेजकर कार्रवाई चाही है। किंतु स्थानीय पुलिस प्रकरण में कोई कार्यवाही नहीं कर पाई। इन हत्याओं की संदेही निरुपमा मिश्रा अक्सर नए-नए तरीके से मेरे परिवार के ऊपर प्राणघातक हमले का षड्यंत्र रचती रहती है। नतीजन आपराधिक मनोवृति को संरक्षित पाकर अब खुलेआम हमला करने पर उतारू है और मैं और मेरा परिवार थाना परिसर के बगल में रहते हुए भी इस वक्त सार्वजनिक प्रताड़ना का शिकार हो रहा है। जबकि जिला पुलिस और प्रशासन का बल मौका स्थल से कोई 200 मीटर की दूरी पर अवैध निर्माण को हटाए जाने के लिए उपस्थित रहा, जो यह प्रमाणित करता है कि अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग की महिलाओं को साथ लेकर अपने बच्चों को भी अपराधिक मनोवृति की ओर झूठी मनगढ़ंत कानूनी कार्रवाईओं का वह प्रशिक्षण दे रही है, जो आसपास के समाज के लिए भी खतरा है। क्योंकि उसने जिस प्रकार से संरक्षण पाकर खुलेआम उपद्रव करना चालू कर दिया है उससे पास-पड़ोस के लोग भी भयभीत होकर उसके खिलाफ कोई नहीं जाना चाहता।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co