कोयला चोरी के मामले में भाजपा विधायक के बेटे का नाम आने से मचा हड़कंप

सिंगरौली, मध्य प्रदेश : आरोपी चालक का वीडियो वायरल। वायरल वीडियो में ड्राईवर ले रहा विधायक के बेटे का नाम।
कोयला चोरी के मामले में भाजपा विधायक के बेटे का नाम आने से मचा हड़कंप
कोयला चोरी के मामले में भाजपा विधायक के बेटे का नामShashikant Kushwah

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश का सिंगरौली जिला औद्योगिक नगरी के लिए विश्व विख्यात है तो वही जिले के औद्योगिकीकरण को लेकर जिले में अवैध कार्यों में संलिप्त लोगों के मंसूबों का अंदाजा आप इन्हीं बातों से लगा सकते हैं की दिनदहाड़े औद्योगिक इकाइयों से कोयला कबाड़ डीजल का अवैध कार्य भली-भांति फल फूल रहा है कोयला चोरी का एक मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है जिसमें की कोयले के अवैध कार्यों में संलिप्त सफेद पोश की सरपरस्ती भी नजर आ रही है। संबंधित मामले से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें की राजनैतिक गठजोड़ की बात सामने आ रही है।

सिंगरौली जिले में विगत दिवस नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड के जयंत सिक्योरिटी टीम ने अवैध रूप से भंडारित कोयले को अपने कब्जे में लिया है तो वही वायरल वीडियो में अवैध रूप से कोयला परिवहन कर रहे ट्रक चालक से कुछ लोग पूछताछ करते नजर आ रहे हैं जिसमें चालक से कोयले के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है एवं इस वायरल वीडियो को यदि मानें तो संबंधित चालक ने बताया कि यह कोयला विवेक वैश्य के कहने पर उसने कोयला एनसीएल खदान से लाकर बताए गए स्थान पर डंप किया तो वही विवेक की पहचान को उजागर करने को लेकर चालक से वीडियो में एक और सवाल पूछा गया जिसमें कहा गया कि यह विवेक कौन है वह चालक के द्वारा बताया गया कि विधायक जी का बेटा विवेक है। कांटे पर बिना तौल कराए कोयला लदा ट्रेलर जब खदान से बाहर निकलने का प्रयास करने लगा तो काले हीरे के काले खेल में बड़े बड़े शुरमाओ के शामिल होने की आशंका जताई जाने लगी। जयंत परियोजना सुरक्षा अधिकारी संदीप साहू ने साहस दिखाते हुए जब ट्रेलर को पीछा करते हुए मेढौली हनुमान मन्दिर के पास रोक कर चालक से पूछताछ किया तो चालक ने पैसे लेकर कोयला गिराने की बात स्वीकारा और चालक की मुंह से सदर विधायक के बेटे विवेक वैश्य का नाम सुनकर मौके पर मौजूद सिक्योरिटी गार्डों के होश उड़ गए। तो वहीं कोयले का कारोबार से जुड़ी आरकेटीसी कंपनी ने कोयला चोरी की शिकायत मोरवा थाने में दर्ज कराई।

अवैध कोयले से जुड़ा यह कोई पहला मामला नहीं :

एन सी एल से अवैध कोयला निकासी का पहला मामला नहीं है इससे पहले भी कई बार इस तरह की अवैध कोयला निकासी का मामला सामने आया है लेकिन हर बार एन सी एल और पुलिस मिल कर मामले को दबाने का काम किया गया है क्योंकि मामले के तह में जाये तो एन सी एल के बड़े बड़े अधिकारी भी शामिल मिलेंगे क्यो की बिना सांठ-गांठ का इस तरह इतनी सुरक्षा व्यवस्था के बाद भी कोयला से लदा दैत्याकार ट्रक खदान से निकलना सम्भव नहीं है। MP 66 H 2333 के चालक से एनसीएल जयंत सुरक्षा अधिकारी संदीप साहू ने पूछताछ किया। आप को बता दें कि जहाँ कोयला माफिया एन सी एल को चुना लगा रहे हैं वहीं उत्खनन विभाग और वन विभाग को भी लाखो करोड़ों का चूना लगया जा रहा है।

कोयला कबाड़ डीजल के मामले में जिम्मेदार मौन :

औद्योगिक घरानों से हो रहे कोयला कबाड़ डीजल के अवैध कारोबार के पीछे पुलिस के हाथ भी तब बंध जाते हैं जब औद्योगिक इकाइयां यह कहने से भी पीछे नहीं हटती की चोरी का माल उनका नहीं है आपको बताते चलें कि प्रतिदिन लाखों रुपए की क्षति औद्योगिक घरानों को अवैध कार्यों में दलित लोगों के द्वारा लगाई जा रही है बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि संबंधित अवैध कार्यों में कंपनी प्रबंधन के नुमाइंदों की संलिप्तता नहीं है।

भाजपा विधायक ने दी सफाई :

सिंगरौली सदर विधायक रामलल्लू वैश्य ने कहा कि मेरे परिवार का कोई भी सदस्य किसी भी प्रकार के अवैध कार्य में कभी भी संलिप्त नहीं रहा है। राजनीतिक विद्वेष के कारण मुझे बदनाम करने की विरोधियों की साज़िश है।

जयंत सुरक्षा अधिकारी ने फोन पर बतायी चौंकाने वाली बात :

एनसीएल जयंत परियोजना सुरक्षा अधिकारी संदीप साहू ने हमारे संवाददाता से फोन पर बात करते हुए बताया कि कोयला चोरी में कई नामचीन व्यक्तियों के नाम उजागर होने की संभावना है और आशंका जताई कि सत्ता पक्ष के प्रभाव के कारण हो सकता है सिर्फ ट्रेलर चालक को मुख्य आरोपी बनाकर कोयला चोरी की फाईल बंद कर दे। श्री साहू ने दावा किया कि मोरवा थाने में विवेक वैश्य ने गुरुवार रात्री में किए अपने कृत्य के लिए पैर पकड़कर माफ़ी मांगी। कोयला चोरी में वायरल वीडियो के बारे में पूछने पर श्री साहू ने कहा सब घटना मेरे सामने हुई लेकिन सत्ता के दबाव में लीपापोती की संभावना ज्यादा है।

इनका कहना है :

मोरवा थाना प्रभारी निरीक्षक मनीष त्रिपाठी ने बताया कि एनसीएल जयंत परियोजना के सुरक्षा अधिकारी एवं आरकेटीसी कंपनी द्वारा कोयला चोरी की शिकायत की गई है। जिसकी जांच पुलिस द्वारा की जा रही है और प्रारंभिक जांच में ट्रेलर चालक ही मुख्य आरोपी प्रतीत हो रहा है। आला अधिकारियों के निर्देशन में विधि संगत जांच कर उचित कार्यवाही की जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co