रेत माफियाओं ने ठेकेदार के कर्मचारियो के साथ की मारपीट
रेत माफियाओं ने ठेकेदार के कर्मचारियो के साथ की मारपीट|Afsar Khan
क्राइम एक्सप्रेस

उमरिया : रेत माफियाओं ने ठेकेदार के कर्मचारियों के साथ की मारपीट

उमरिया, मध्य प्रदेश : वाहन रोकने पर जान से खत्म करने की धमकी, पुलिस ने चार पर दर्ज किया मामला।

Afsar Khan

उमरिया, मध्य प्रदेश। जिले के नौरोजाबाद थाना क्षेत्र के करकेली में बीती रात डेढ़ बजे जिले की रेत खदानों का ठेका संचालित करने वाली आरएसआई कंपनी के कर्मचारियों के साथ पुराने रेत माफियाओं ने न सिर्फ मारपीट की, बल्कि उन्हें जान से खत्म करने की धमकी भी दी। कंपनी के कर्मचारी अवैध रेत उत्खनन और परिवहन के रोकथाम के लिए पेट्रोलिंग कर रहे थे, तभी अवैध रेत परिवहन में लगे वाहनों को लेकर रेत माफियाओं ने वारदात को अंजाम दिया।

आधी रात माफियाओं का ताण्डव :

इस पूरे मामले पर नौरोजाबाद पुलिस ने माफियाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है, कंपनी के कर्मचारी विजय सिंह की शिकायत में बताया गया है कि वह अपने साथी कर्मचारी हरप्रीत सिंह, सूरज सिंह और योगेन्दर सिंह के साथ ड्यूटी कर रहा था, इसी दौरान अवैध रेत के उत्खनन और परिवहन को लेकर अल्टो वाहन में सवार होकर धर्मेन्द्र मामा, चंदन विश्वकर्मा, जाकिर खान और सूर्या सिंह पहुंचे और पहले उनके साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट की, फिर उनके अवैध कारोबार को रोकने की बात को लेकर जान से खत्म करने की धमकी तक दे डाली।

यह किया पुलिस ने :

आरएसआई कंपनी के कर्मचारी विजय सिंह और जीएम नीरज चौधरी की ओर से दी गई शिकायत में नौरोजाबाद पुलिस ने आरोपी धर्मेन्द्र सिंह उर्फ मामा, चंदन विश्वकर्मा, जाकिर खान, सूर्या सिंह सभी निवासी करकेली, नौरोजाबाद के विरूद्ध धारा 294, 323, 506, 427, 34 के तहत मामला दर्ज करते हुए विवेचना में लिया है।

फिर शुरू हुआ अवैध कारोबार :

तात्कालीन पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने अर्साे से चल रहे करकेली में ओमकार सिंह उर्फ बब्लू के अवैध रेत के कारोबार पर बड़ी कार्रवाई करवाई थी, जिसके बाद से ओमकार पर ईनाम है और वह फरार है, ओमकार के भाई धर्मेन्द्र सिंह ने अब इस अवैध कारोबार पर कब्जा जमा रखा है, जाकिर क्षेत्र का पुराना रेत चोर है, इसके अलावा सूर्या और चंदन भी अवैध रेत के कारोबार में संलिप्त रहे हैं, इनके खिलाफ कई मामले पहले से ही लंबित हैं। मानसून सत्र में जाकिर अनूपपुर की टीपी लेकर पाली, नौरोजाबाद, करकेली सहित अन्य स्थानों से अवैध कारोबार संचालित करता था, इतना ही नहीं बीते वर्ष मानपुर के रेत भण्डारणों को भी ईटीपी उपलब्ध कराया करता था। मून के बाद अब पुराने माफिया फिर से जिले में पैर पसारने लगे हैं, अगर इन पर नकेल नहीं कसी गई तो, इनके हौसले बुलंद होते जायेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co