इंदौर : बांग्लादेशी बालाओं के नकली आधार कार्ड बनाने वाले दो हिरासत में

इंदौर, मध्य प्रदेश : कम्प्यूटर पर किसी युवती का आधार कार्ड लेकर उस पर बांग्लादेश की बाला का फोटो लगा दिया जाता था। पुलिस ने इस मामले में गांधी नगर के दो युवकों को पकड़ा है। इनसे पूछताछ की जा रही है।
इंदौर : बांग्लादेशी बालाओं के नकली आधार कार्ड बनाने वाले दो हिरासत में
बांग्लादेशी बालाओं के नकली आधार कार्ड बनाने वाले दो हिरासत मेंRaj Express

इंदौर, मध्य प्रदेश। बांग्लादेश से लाई युवतियों को इंदौर में रखने के लिए गैंग उनके फर्जी आधार कार्ड भी बनवा लेता था। ये फर्जी कार्ड दलाल के जरिए बनते थे। कम्प्यूटर पर किसी युवती का आधार कार्ड लेकर उस पर बांग्लादेश की बाला का फोटो लगा दिया जाता था। पुलिस ने इस मामले में गांधी नगर के दो युवकों को पकड़ा है। इनसे पूछताछ की जा रही है।

सेक्स रेकेट का भंडाफोड़ होने के बाद जब युवतियों से पूछताछ की गई तो युवतियों ने तो अपने आपको बांग्लादेश की रहने वाली बताया लेकिन उनके पास भारत के आधार कार्ड बने। जब आधार कार्ड की जांच की गई तो पता चला कि ये तो अन्य युवतियों के हैं । इस मामले में पड़ताल की गई तो पता चला कि शिवनारायण दलाल के माध्यम से गैंग के सदस्य बांग्लादेश की युवतियों के भारत के फर्जी आधार कार्ड बनवा लेता था। इस मामले में गांधी नगर के दो युवक दीपक एवं गोवर्धन को पुलिस ने पकड़ा है। ये कम्प्यूटर पर किसी भी युवती का आधार कार्ड लेकर उस पर बांग्लादेश की युवती का फोटो लगा देते थे उसके बाद उसकी कलर प्रिंट निकाल कर दलाल को दे देते थे। इस तरह के नकली आधार कार्ड पर युवतियां भारत में रह रहीं थीं। बताते हैं कि आधार कार्ड की जांच के बाद ये तथ्य सामने आया है। आरोपियों से पूछताछ कर ये पता लगाया जा रहा है कि वे नकली आधार कार्ड बनाने का धंधा कब से कर रहे हैं और अब तक कितने नकली आधार कार्ड बना चुके हैं।

सेक्स रेकेट की युवतियों की होगी घर वापसी :

मुंबई की दो माडल को इवेंट के बहाने बुलाने के बाद उन पर देह व्यापार का दवाब डालने एवं मना करने पर उनके साथ रेप की रिपोर्ट के बाद विजयनगर और एमआईजी पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में अभी तक 10 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। दो प्रमुख दलाल सेंडो और उसका भाई कपिल जैन फरार हैं उनकी तलाश की जा रही है। दूसरी ओर पुलिस ने गैंग से 10 बंगला देशी बालाओं को मुक्त करवाया है। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल और अन्य रा'य की युवतियों को भी गैंग के चंगुल से छुड़वाया है। पुलिस ने जब युवतियों से पुलिस ने पूछताछ की तो ये बात सामने आई कि युवतियां बेहद गरीब हैं,पुलिस अब इन युवतियों को वापस बंगला देश भेजने की तैयारी कर रही है। विदेश मंत्रालय से पुलिस संपर्क कर युवतियों को उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था करेगी।

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र के मुताबिक देह व्यापार चलाने वाली गैंग का शिकार युवतियां गरीब परिवारों की हैं जो काम की तलाश में इस गैंग के चंगुल में फंस गई। दलालों के संपर्क में आकर इंदौर पहुंच गई और देह व्यापार में धकेल दी गई थी। युवतियों की काउंसलिंग में ये बात सामने आई है। अब पुलिस इन सभी बांग्लादेशी बालाओं को उनके घर तक पहुंचाने में जुटी हुई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co