लखनऊ को दहलाने की साजिश नाकाम : पीएफआई के दो सदस्य गिरफ्तार
लखनऊ को दहलाने की साजिश नाकामFile Copy

लखनऊ को दहलाने की साजिश नाकाम : पीएफआई के दो सदस्य गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश पुलिस की एसटीएफ ने लखनऊ समेत देश के विभिन्न हिस्सों में एक साथ आतंकी हमले की साजिश नाकाम करते हुए आतंकी संगठन पीएफआई के कमाण्डर समेत दो सदस्यों को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने लखनऊ समेत देश के विभिन्न हिस्सों में एक साथ आतंकी हमले की साजिश नाकाम करते हुए आतंकी संगठन पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के कमाण्डर समेत दो सदस्यों को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया गया और उनके कब्जे से बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया गया है।

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार के अनुसार लखनऊ को बम धमाकों से दहलाने की साजशि नाकाम करते हुए एसटीएफ ने पीएफ के मिलिट्री कमांडर बदरुद्दीन को उसके साथी केरल के ही निवासी फिरोज खान को मंगलवार शाम करीब साढ़े बजे लखनऊ के कुकरैल तिराहे के पास डम्बा इलाके से गिरफ्तार किया गया है। ये आतंकी लखनऊ को बम धमाकों से दहलाने केरल से आये थे। उनके पास से भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद हुए हैं।

उन्होंने बताया कि लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध की आड़ में आग फैला चुके संगठन पीएफआई ने अब देश-प्रदेश को दहलाने की साजिश रची थी। बसंत पंचमी के आसपास लखनऊ में होने वाले हिन्दू संगठनों के कार्यक्रमों में आतंकी हमले के लिए पीएफआई के दो आतंकी केरल से लखनऊ पहुंच भी गए, लेकिन वह अपने खौफनाक मंसूबों को पूरा कर पाते, उससे पहले एसटीएफ ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ ने विस्फोटक और हथियार बरामद कर आतंकी हमले की साजिश नाकाम कर दी। उनके निशाने पर कई नेता भी थे।

श्री कुमार ने बताया कि पीएफआइ के कमांडर केरल निवासी अन्सद बदरुद्दीन और केरल के ही निवासी फिरोज खान को मंगलवार शाम करीब साढ़े बजे लखनऊ के कुकरैल तिराहे के पास से गिरफ्तार किया गया है। दोनों आतंकी आज बसंत पंचमी के मौके पर धमाकों की योजना में शामिल थे। उनके कब्जे से 16 हाई एक्सप्लोसिव डिवाइस (मय बैट्री डेटोनेटर व लाल रंग का तार), .32 बोर की पिस्टल, सात कारतूस, 4800 रुपये, पैन कार्ड, चार एटीएम कार्ड, मेट्रो कार्ड के अलावा अन्य कार्ड और 12 रेलवे टिकट बरामद हुए हैं। दोनों के पास से कई चौंकाने वाले दस्तावेज मिले हैं, जिनके आधार पर आगे की छानबीन की जा रही है।

श्री कुमार ने बताया कि विगत कुछ दिनों से एसटीएफ को यह सूचना प्राप्त हो रही थी, कि पीएफआई के कुछ सदस्य अपराधिक षड़यंत्र के तहत एक आतंकवदी गिरोह बनाकर निकट भविष्य में देश की एकता एवं अखण्डता तथा समप्रभुता को चुनौती देने एवं देश की सरकार के विरूद्ध युद्ध छेड़ने तथा सामाजिक विद्वेष फैलाने के इरादे से घातक हथियार व विस्फोटक पदार्थ संकलित कर उत्तर प्रदेश के कई महत्वपूर्ण व संवेदनशील स्थानों तथा प्रमुख हिन्दू संगठनों के बड़े पदाधिकारियों पर एक साथ हमला करने की योजना बना रहे हैं। साथ ही यह ज्ञात हुआ कि, इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए भारत के विभिन्न प्रदेशों में अपने सदस्य भी बना रहे है। उक्त सूचना को विकसित करने के लिए एसटीएफ की तकनीकी विशेषज्ञताओं का प्रयोग करने के साथ-साथ संदिग्ध जिलो में मुखबिर सक्रिय किये गये। जरिये मुखबिर खास 11- फरवरी को ट्रेन द्वारा राज्य में आने की सूचना प्राप्त हुई थी लेकिन काफी प्रयास के बाद भी उन्हे लोकेट नहीं किया जा सका।

उन्होंने बताया कि पुन: सूचना मिली कि पीएफआई के दो सदस्य अन्सद बदरूद्दीन व फिरोज अपने साथियों के साथ लखनऊ में कुकरैल पिकनिक स्पाट में मिलेंगे तथा बसन्त पंचमी के आस पास हिन्दूवादी संगठनों के कार्यक्रमों में कई जगहों पर उच्च श्रेणी विस्फोटक से धमाका कर कई वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं जन समुदाय की हत्या कर आम जनता में आतंक व दहशत फैलाकर, सामाजिक एवं धार्मिक विद्वेश उत्पन्न करने वाले है। इस सूचना पर इनकी गिरफ्तारी तथा सम्भावित आतंकवदी घटना को रोकने के इरादे से तत्काल एसटीएफ टीम गढ़ी रोड, निकट कुकरैल तिराहा से दोनो संदिग्धों को गिफ्तार कर लिया गया, जिनके कब्जे से उपरोक्त बरामदगी हुई।

उन्होंने बताया कि इन लोगों ने प्रारम्भिक पूछताछ पर बताया कि अपनी विचारधारा को फैलाने के लिए वर्ग विशेष के नवयुवकों जो कि शरीरिक रूप से मजबूत हो, का ब्रेनवाश कर उनको विभिन्न हथियारों का प्रशिक्षण देकर देश के किसी भी कोने में घटना विशेष को अंजाम देने के लिए नवयुवकों को तैयार करना इनका मुख्य उद्देश्य था। गिरफ्तार अभियक्तों के विरूद्ध एटीएस के लखनऊ थाने में अभियोग पंजीकृत कराया जा रहा है, अग्रिम विधिक कार्यवाही एटीएस लखनऊ द्वारा की जायेगी।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co