70 हजार में बेच रहे थे दो रेमडेसिविर इंजेक्शन, डॉक्टर-नर्स और एमआर गिरफ्तार
70 हजार में बेच रहे थे दो रेमडेसिविर इंजेक्शन, डॉक्टर-नर्स और एमआर गिरफ्तार सांकेतिक चित्र

70 हजार में बेच रहे थे दो रेमडेसिविर इंजेक्शन, डॉक्टर-नर्स और एमआर गिरफ्तार

इंदौर, मध्यप्रदेश : कोरोना संक्रमण के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले करने वालों की धरपकड़ जारी है। पुलिस खुद खरीददार बन जगह-जगह छापे मार रही है।

इंदौर, मध्यप्रदेश। कोरोना संक्रमण के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले करने वालों की धरपकड़ जारी है। पुलिस खुद खरीददार बन जगह-जगह छापे मार रही है। रविवार को राजेंद्रनगर पुलिस ने निजी अस्पताल की नर्स के साथ बीएमएचएस डॉक्टर और एमआर को इंजेक्शन ब्लेक करते गिरफ्त में ले लिया। आरोपी दो इंजेक्शन के 70 हजार रुपए वसूलने वाले थे।

एसपी (पश्चिम) महेशचंद जैन के मुताबिक शनिवार दोपहर पुलिस ने नर्स निलेश को रेमडेसिविर बेचने के आऱोप में गिरफ्तार किया था। पूछताछ में निलेश ने बताया सुखलिया स्थित बारोड अस्पताल की नर्स कविता पिता कालू चौहान निवासी स्कीम-71 भी महंगे दामों पर रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचती है। रविवार दोपहर पुलिस ने मुखबिर के माध्यम कविता से संपर्क किया और कहा कि उसे इंजेक्शन चाहिए।

कविता ने कहा इंजेक्शन 35 हजार रुपये में देगी, एक इंजेक्शन बिक गया है एक ही बचा है। नर्स ने खरीदार को बारोड अस्पताल पर बुलाया। पुलिसकर्मी मुखबिर को लेकर पहुंचे और कविता को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ बीएमएचएस डॉक्टर भूपेंद्र परमार और उसके भाई एमआर शुभम को गिरफ्तार किया। पूछताछ करने पर कविता थाने में फूटफूट कर रोने लगी और कहा सॉरी उससे गलती हो गई। पुलिस को शक है कविता मेडिकल संचालकों से सस्ते दामों पर इंजेक्शन खरीद कर महंगे दामों में बेचती है।

एसपी के अनुसार मुताबिक आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए राजेंद्रनगर टी.आई. अमृता सोलंकी को सादे कपड़ों में भेजा था। कविता एक इंजेक्शन लेकर आइ तो टी.आई. ने आंखे नम कर ली और कहा कुछ तो कम कर दो, मेरी बहन बीमार है। उसे इंजेक्शन की सख्त जरुरत है। इस कविता ने दाम कम करने से इनकार कर दिया।

  • गिरफ्तार आरोपी

    गिरफ्तार आरोपी

  • गिरफ्तार आरोपी

    गिरफ्तार आरोपी

  • गिरफ्तार आरोपी

    गिरफ्तार आरोपी

जब टीआई ने कहा कि उसे दो इंजेक्शऩ की जरुरत है, तब कविता ने भूपेंद्र और शुभम को बुलाया और एक और इंजेक्शन दिलवा दिया। टी.आई. को रोते देख आरोपितों ने कहा घबराओ मत आपकी बहन ठीक हो जाएगी।

थाने में बोले माता-पिता के लिए खरीदे थे इंजेक्शन :

टीआइ के मुताबिक आरोपित भूपेंद्र बारोड अस्पताल में ही डॉक्टर (बीएचएमएस) है। शुभम (एमआर) उसका भाई है। सख्ती करने पर दोनों ने कहा माता-पिता कोरोना संक्रमित है। उसने उनके लिए इंजेक्शन खरीदा था। पुलिस ने उसे बिल मांगा तो वह भी उपलब्ध नहीं करवाया। फिलहाल पुलिस तीनों से और पूछताछ कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co