वर्दी हुई बदनाम : दो एसआई और दो आरक्षक निकले चोर!
वर्दी हुई बदनाम : दो एसआई और दो आरक्षक निकले चोर!Raj Express

वर्दी हुई बदनाम : दो एसआई और दो आरक्षक निकले चोर!

जबलपुर, मध्य प्रदेश : जिनके कंधों पर अवैध व चोरी की शराब पकड़ने की जिम्मेदारी है, वहीं वर्दी धारी अपने ही घर पर डाका डाल रहे हैं, दरअसल एक मामला गोरखपुर आबकारी कंट्रोल रूम का सामने आया है।

जबलपुर, मध्य प्रदेश। जिनके कंधों पर अवैध व चोरी की शराब पकड़ने की जिम्मेदारी है, वहीं वर्दी धारी अपने ही घर पर डाका डाल रहे हैं, दरअसल एक मामला गोरखपुर आबकारी कंट्रोल रूम का सामने आया है। जहां दो एसआई और दो आरक्षक जप्तशुदा मालखाने में रखी हुई 172 बॉटल अंग्रेजी शराब की खुर्द-बुर्द करते हुए सीसीटीव्ही कैमरे में कैद हुए हैं। जिसमें दोनों एसआई हाल ही में निलंबित किये हुए बताये जा रहे हैं तो वहीं दो आरक्षकों को उक्त वारदात के बाद निलंबित कर दिया गया है। इतना ही नहीं चारों के खिलाफ आबकारी कंट्रोल प्रभारी ने गोरखपुर थाने में एफआईआर दर्ज करायी है।

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार गोरखपुर कटंगा स्थित आबकारी कंट्रोल रूम के मालखाने में एक प्रकरण में जप्त की हुई रखी अंग्रेजी शराब का जखीरा खाली पाया गया। जब सीसीटीव्ही फुटेज खंगाले गये तो 29 जनवरी की रात निलंबित एसआई दो आरक्षकों के साथ मिलकर माल खुर्द बुर्द करते नजर आ रहे है। उक्त फुटेज के बाद पूरे विभाग में हड़कप मच गया। जिसके बाद आनन-फानन में जांच पड़ताल करते हुए पूरे मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। बताया जा रहा है कि उक्त फुटेज पर निलंबित आबकारी एसआई नीरज दुबे व सुधीर मिश्रा आरक्षक राकेश बोहरे व जैनेन्द्र प्यासी के साथ मिलकर मालखाने की आलमारी से शराब की बॉटले निकालते हुए पाये गये हैं। जिसके बाद दोनों आरक्षकों को भी आबकारी आयुक्त ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर एफआईआर कराये जाने के निर्देश दिये हैं।

27 को निलंबित हुए थे दोनों एसआई :

बताया जा रहा है कि 27 जनवरी को आबकारी विभाग में पदस्थ एसआई नीरज दुबे व सुधीर मिश्रा को विगत 27 जनवरी को अनियमित्ताओं के चलते निलंबित कर दिया गया था। जिसके दो दिन बाद 29 जनवरी को उक्त वारदात को अंजाम दिया गया।

गोरखपुर थाने में प्रकरण दर्ज :

उक्त मामले को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर कंट्रोल प्रभारी जीएल मरावी ने दोनों एसआई व दोनों आरक्षकों के खिलाफ गोरखपुर थाने में बीती रात एफआईआर दर्ज करायी है। जिस पर पुलिस ने आरोपी वर्दीधारियों के खिलाफ धारा 408 व 34 आबकारी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है।

वर्ष 2018 के प्रकरण का माल हुआ गायब :

सूत्रों की मानें तो जो अंग्रेजी शराब की बॉटल चोरी होने की बात सामने आई, वह 2018 के अपराधिक प्रकरण में जप्त शराब का है। जिसमें 172 बॉटल अंग्रेजी शराब को मालखाने में रखा गया था। उसी माल का खुर्द बुर्द होना पाया गया है।

इनका कहना है :

चोरी का मामला अभी नहीं है, मालखाने से माल खुर्द-बुर्द किये जाने की शिकायत प्राप्त हुई है, जिसकी आज जांच पड़ताल की जायेगी। उसके बाद ही वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

सुश्री सारिका पांडे, टीआई गोरखपुर

अलमारी खोलते हुए कर्मी सीसीटीव्ही कैमरे में कैद हुए है, जिसका पंचनामा तैयार कर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर पुलिस को शिकायत दी गई है। जांच पड़ताल के बाद ही पता चलेगा कि कितना माल खुर्द-बुर्द किया गया है।

जीएल मरावी, आबकारी कंट्रोल प्रभारी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co