महू : बीमार पति की मौत होने पर 2 दिनों तक शव के साथ कमरे में बंद रही पत्नी
बीमार पति की मौत होने पर 2 दिनों तक शव के साथ कमरें में बंद रही पत्नीRaj Express

महू : बीमार पति की मौत होने पर 2 दिनों तक शव के साथ कमरे में बंद रही पत्नी

पिछले 10 माह से मानसिक रूप से विक्षिप्त पत्नी का पति बीमारी से संघर्ष कर रहा था कि अचानक उसकी मौत हो गई। मानसिक रूप से विक्षिप्त पत्नी अपने पति के शव के साथ 2 दिनों तक कमरे में बंद रही।

हाइलाइट्स :

  • आस-पास के रहवासियों को आई बदबू तो पुलिस को बुलाया

  • पत्नी है मानसिक रूप से विक्षिप्त, पुलिस जांच में जुटी

  • बदबू आने के बाद आस-पास के रहवासियों ने पुलिस को बुलाया

  • जांच में पता चला कि पत्नी मानसिक रूप से है विक्षिप्त

महू, मध्य प्रदेश। पिछले 10 माह से मानसिक रूप से विक्षिप्त पत्नी का पति बीमारी से संघर्ष कर रहा था कि अचानक उसकी मौत हो गई। मानसिक रूप से विक्षिप्त पत्नी अपने पति के शव के साथ 2 दिनों तक कमरे में बंद रही। 2 दिन बीतने के बाद जब आस-पास के रहवासियों को शव की बदबू आने लगी तो उन्होंने तत्काल पुलिस को सूचना दी। पुलिस को बताया गया कि कमरें में पति-पत्नी रहते है जिसमें पत्नी मानसिक रूप से विक्षिप्त है और 2 दिनों से यह कमरा खोला भी नहीं गया है। शंका के आधार पर आई पुलिस जब कमरे की तलाशी ली तो पता चला कि एक महिला शव के पास बैठी थीं। जिस पर पुलिस ने महिला से पूछताछ की तो वह कुछ कह नहीं पाई। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

मिली जानकारी के मुताबिक, किशनगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत कमला नगर कॉलोनी में अमर्तिक पिता प्रीतम निवास करते थे। अमर्तिक की पत्नी कई समय से मानसिक रूप से प्रताड़ित थीं। आस-पास के रहवासी भी इनसे ठीक से बात नहीं करते थे। बीते 10 माह पूर्व ही अमर्तिक का किसी बीमारी के कारण घर में कैद रह गया। बीते दो दिन पहले अमर्तिक की अचानक मौत हो गई। बावजूद इसके उसकी पत्नी को यह खबर नहीं थी कि उसके पति की मौत हो चुकी है। मानसिक रूप से प्रताड़ित पत्नी अपने पति के शव के साथ बीते दो दिनों से बैठी रहीं। दूसरा दिन बीत जाने के बाद जब शव में से बदबू आना शुरू हुई तो आस-पास के रहवासियों को शंका हुई। तो उन्होंने किशनगंज पुलिस को इसकी जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरें की तलाशी लेने गई तो पता चला कि अमर्तिक की बीते दो दिन पहले ही मौत हो चुकी है। जबकि उसकी पत्नी उसके पति के शव के पास बैठी हुई हैं। पुलिस ने शव को पोस्टपोर्टम पर भेजकर मामले की जांच शुरू की हैं।

1 साल पूर्व ही लिया था मकान किराए पर :

आस-पास के रहवासियों ने बताया कि अमर्तिक ने 1 साल पूर्व ही मकान किराए पर लिया था। वह ड्राईविंग का काम करता था। अमर्तिक की पत्नी शुरूआत से ही मानसिक रूप से प्रताड़ित थीं। बीते 10 माह से वह बीमारी से जूझ रहा था। जिसके चलते उसकी मौत हुई हो। यह तो पुलिस की जांच में ही पता चल सकेगा। हालांकि किशनगंज पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम पर भेजकर उसके परिजनों को सूचित किया है। पुलिस पूरे मामले की बारीकि से जांच कर रही है।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co