हरियाणा में भी बैन हुई Shooter
हरियाणा में भी बैन हुई Shooter|Social Media
मनोरंजन

हरियाणा में भी बैन हुई Shooter, हाईकोर्ट पहुंचे निर्माता

पंजाब सरकार द्वारा गैंगस्टर सुक्खा काहलवां की जिंदगी पर आधारित फिल्म 'शूटर' पर रोक लगाए जाने के दो हफ्ते बाद अब हरियाणा में भी इस फिल्म पर बैन लगा दिया गया है।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। गैंगस्टर सुक्खा काहलवां के जीवन पर आधारित पंजाबी फिल्म 'शूटर' रीलिज होने से पहले ही विवादों में घिरी हुई है। गैंगस्टर सुखबीर सिंह उर्फ सुक्खा काहलवां के जीवन पर आधारित फिल्म 'शूटर' को पंजाब सरकार ने बैन कर दिया था। पंजाब सरकार द्वारा गैंगस्टर सुक्खा काहलवां की जिंदगी पर आधारित फिल्म 'शूटर' पर रोक लगाए जाने के लगभग दो हफ्ते बाद अब हरियाणा में भी इस फिल्म पर रोक लगा दी गयी है।

दर्ज किया गया मामला :

इस बात की जानकारी अधिकारियों ने आज यानी शनिवार को दी। हरियाणा सरकार के आदेशानुसार, राज्य में फिल्म की प्रदर्शनी पर निलंबन दो महीने तक जारी रहेगा। पंजाब पुलिस द्वारा कथित तौर पर हिंसा, जघन्य अपराध, ड्रग्स की जबरन वसूली, धमकी और आपराधिक गतिविधियों को कथित रूप से प्रमोट करने के चलते निर्माता व प्रोमोटर के. वी. सिंह ढिल्लों सहित कई अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

निर्माताओं ने हाईकोर्ट का खटखटाया का दरवाजा :

फिल्म ‘शूटर’ पर पंजाब सरकार द्वारा पाबन्दी के खिलाफ अब फिल्म निर्माता ने पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। याचिका में सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए पाबंदी को वापस लेने की अपील की गई है। फिल्म निर्माता केवल सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर बताया है कि, पंजाब सरकार ने बिना फिल्म को देखे ही 10 फरवरी को इसकी रिलीज पर पाबंदी लगा दी है। इस फिल्म को अभी सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट भी जारी नहीं किया है और न हीं इस फिल्म को देखा गया है।

सोमवार को हाईकोर्ट में इस याचिका पर सुनवाई होने की संभावना है। याचिका में कहा गया कि, पंजाब पुलिस फिल्म की स्क्रीनिंग को प्रभावित कर रही है। याचिका में कहा गया है कि पुलिस की तरफ से फिल्म के निर्माता, निर्देशक, एक्टर और स्टोरी राइटर समेत अन्य लोगों को धमकी दी जा रही है। नौ फरवरी 2020 को फिल्म के निर्माता के खिलाफ मोहाली में एफआईआर दर्ज की गई है।

पंजाब सरकार ने लगाई है फिल्म पर रोक :

बता दें कि, इस फिल्म पर पंजाब सरकार ने हाल ही में कुछ दिन पहले बैन लगाया है। सरकार का कहना है कि, फिल्म हिंसा, अपराध और गैंग कल्चर को प्रमोट कर रही है, जो कि पंजाब में अपराध को बढ़ावा दे सकती है। सरकार का कहना है कि, ये फिल्म पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर सुक्खा काहलवां के जीवन पर अधारित है और इस फिल्म के रिलीज होने से पंजाब की युवा पीढ़ी पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

जाना माना गैंगस्टर था सुक्खा काहलवां :

आपको बता दें कि, सुक्खा काहलवां का आतंक पंजाब के अलावा हरियाणा, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में भी फैला हुआ था। सुक्खा ने साल 2010 में अपराध की दुनिया में कदम रखा था और वह जल्द ही पंजाब का जाना-माना गैंगस्टर भी बन गया। जनवरी 2015 में जब पुलिस सुक्खा को जेल से कोर्ट में पेशी के लिए लेकर जा रही थी तभी अज्ञात हमलावरों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। बताया जाता है कि, सुक्खा काहलवां पर करीब 40 के आसपास आपराधिक मामले दर्ज थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co