Raj Express
www.rajexpress.co
Amitabh Bachchan Dadasaheb Phalke Award
Amitabh Bachchan Dadasaheb Phalke Award|Social Media
मनोरंजन

'दादा साहेब फाल्के' पुरस्कार मिलने के बाद अमिताभ ने जाहिर की खुशी

बॉलीवुड: अमिताभ बच्चन को मंगलवार को इंडियन सिनेमा का सबसे बड़ा सम्मान 'दादासाहब फाल्के अवॉर्ड' देने का ऐलान किया गया। अमिताभ बच्चन को यह पुरस्कार पिछले साल 2018 के अवॉर्ड के लिए दिया जायेगा।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

हाइलाइट्स :

  • अमिताभ बच्चन होंगे दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित

  • सिनेमा जगत का सबसे बड़ा पुरस्कार

  • भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला वार्षिक पुरस्कार, 1969 में हुआ शुरू

  • पुरस्कार के तौर पर 10 लाख रुपये और स्वर्ण कमल

राज एक्सप्रेस। महानायक अमिताभ बच्चन को मंगलवार को इंडियन सिनेमा का सबसे बड़ा सम्मान 'दादासाहब फाल्के अवॉर्ड' देने का ऐलान किया गया। बता दें कि, अमिताभ बच्चन को पिछले साल 2018 के दादा साहब फाल्के अवॉर्ड के लिए चुना गया है।

कैबिनेट मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी जानकारी :

इस बात की जानकारी सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट के जरिये दी। उन्होंने ट्वीट करके लिखा कि, "महानायक अमिताभ बच्चन, जिन्होंने 2 पीढ़ियों का मनोरंजन किया और सबको प्रेरणा दी है, उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार के लिए सर्वसम्मति से चुना गया है। इस बात से पूरा देश और अंतरराष्ट्रीय समुदाय खुश है। उन्हें मेरी तरफ से हार्दिक बधाई।

इस फिल्म से हुई करियर की शुरूआत :

अमिताभ बच्चन ने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1969 में 'सात हिन्दुस्तानियों' से की थी। बता दें कि, इस फिल्म के अमिताभ को मामूली फीस दी गयी थी। खबरों के अनुसार, अमिताभ को पहली फिल्म के लिए महज 5 हजार रुपये फीस देने की बात रखी गई थी। ख्वाजा अहमद अब्बास द्वारा लिखित, निर्मित और निर्देशित यह फिल्म गोवा को पुर्तगाली शासन से मुक्त कराने वाले 'सात हिन्दुस्तानियों' की कहानी पर आधारित थी। इसके बाद उनके पास फिल्मों की लाइन लग गई। आज के समय में अमिताभ को एक फिल्म के लिए मोटी रकम दी जाती है।

सिनेमा जगत का सबसे बड़ा पुरस्कार :

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार को सिनेमा जगत का सबसे बड़ा पुरस्कार माना जाता है। इससे पहले बॉलीवुड और कला की दुनिया से जुड़े 65 हस्तियों को यह पुरस्कार मिल चुका है। अमिताभ बच्चन को चार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और 15 फिल्मफेयर अवॉर्ड समेत कई पुरस्कार मिल चुके हैं। साल 2015 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

बधाई देने वालो का लगा तांता :

इस अवार्ड की घोषणा के बाद बॉलीवुड से टॉलीवुड तक के सितारों के बधाई देने का तांता लग गया। सभी अपने ट्विटर अकाउंट से अपने-अपने तरीके से अमिताभ को बधाई दे रहें हैं।

रजनीकांत और नागार्जुन ने दी बधाई :

साउथ के सुपरस्टार अभिनेता रजनीकांत और नागार्जुन ने अमिताभ बच्चन को ट्वीट करके बधाई दी है। नागार्जुन ने अमिताभ को बधाई देते हुए कहा कि, यह सुनकर बहुत खुशी हुई कि, आपको दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। हम सभी आपसे बहुत प्यार करते हैं और आप पर बहुत गर्व है। वहीं रजनीकांत ने ट्वीट में लिखा है कि, "आप इस सम्मान को डिजर्व करते हैं।"

"इस लेजेंड के बिना भारतीय सिनेमा का जिक्र नहीं हो सकता। उन्होंने अपने हर रोल के साथ सिनेमा को फिर से परिभाषित किया है। बधाई।"
अनिल कपूर ने अपने ट्वीट में लिखा-

डायरेक्टर करण जौहर ने अपने ट्वीट में कहा, "भारतीय सिनेमा के सबसे प्रेरणादायक महानायक। वो एक रॉकस्टार हैं।"

डायरेक्टर करण जौहर ने लिखा-

अमिताभ बच्चन ने खुशी जाहिर की-

अमिताभ बच्चन ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये आभार व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा, "अमिताभ ट्वीट में एक फोटो शेयर की है जिसमें वो हाथ जोड़कर खड़े हैं। बिग बी ने लिखा, कृतज्ञ हूँ मैं , परिपूर्ण , आभार और धन्यवाद ... मैं केवल एक विनयपूर्ण , विनम्र अमिताभ बच्चन हूँ।"

अमिताभ बच्चन की आने वाली फिल्में :

अमिताभ बच्चन के वर्क फ्रंट की बात करें तो, वो इन दिनों सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाला शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के 11वें सीजन में बतौर होस्ट के तौर पर नजर आ रहे हैं। फिल्म की बात करें तो, अमिताभ डायरेक्टर नागराज मंजुले की 'झुंड' में दिखाई देंगे। इसके अलावा 2 अक्टूबर को रिलीज होने जा रही चिरंजीवी स्टारर 'सई रा नरसिम्हा रेड्डी' में उनका कैमियो रोल देखने को मिलेगा। फिल्म 'साय रा नरसिम्हा रेड्डी' का ट्रेलर हाल ही में रिलीज किया गया है। वहीं अयान मुखर्जी की 'ब्रह्मास्त्र', शूजित सरकार की 'गुलाबो सिताबो' समेत उनकी कुछ और फिल्मों में भी नज़र आने वाले हैं।

क्यों दिया जाता है यह पुरस्कार :

दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारत सरकार की तरफ से दिया जाने वाला एक वार्षिक पुरस्कार है। यह पुरस्कार किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय सिनेमा में उसके आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार भारत सरकार द्वारा 1969 में शुरू किया गया था। इस अवार्ड को 50 वर्ष पूरे हो गए हैं। सबसे पहले यह पुरस्कार पाने वाली देविका रानी चौधरी थीं। 1971 में भारतीय डाक ने दादा साहब फाल्के के सम्मान में एक डाक टिकट जारी किया। उस पर उनका चित्र था। वर्तमान में इस पुरस्कार में 10 लाख रुपये और स्वर्ण कमल दिये जाते हैं।

दो तरह से दिया जाता है यह पुरस्कार :

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार दो तरह से दिए जाते हैं।

  • एक- जो सरकार द्वारा दिया जाता है, यानी दादा साहब फाल्के अवॉर्ड।

  • वहीं दूसरा- दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवॉर्ड, ये अवॉर्ड एक संस्था द्वारा दिया जाता है। दोनों अवॉर्ड्स एक-दूसरे से अलग हैं।

कौन है दादा साहेब फाल्के :

भारतीय सिनेमा के पितामह कहे जाने वाले 'दादा साहब फाल्के' के नाम पर यह पुरस्कार दिया जाता है। दादा साहेब डायरेक्टर, प्रोडूसर में से एक हैं। इन्होंने ही भारतीय सिनेमा की पहली मूक फिल्म बनाई थी। दादा साहेब का जन्म 30 अप्रैल 1870 को हुआ था। 1913 में दादा साहेब ने 'राजा हरीशचंद्र' नाम की पहली फुल लेंथ फीचर फिल्म बनाई थी। दादा साहेब ने 19 साल के फिल्मी करियर में 95 फिल्में और 27 शॉर्ट फिल्में बनाई थीं। दादा साहेब का असली नाम धुंधिराज गोविंद फाल्के था।

इन्हें मिल चुका है दादा साहेब फाल्के सम्मान :

  • विनोद खन्ना (साल 2017)

  • मनोज कुमार (साल 2015)

  • शशि कपूर (साल 2014)

  • गुलजार (साल 2013)

  • प्राण (साल 2012)