मां की वजह से मेरी और आयुष्मान की हिंदी अच्छी है: अपारशक्ति खुराना

बॉलीवुड अभिनेता अपारशक्ति खुराना ने हाल ही में माय एफएम की आरजे टीना के साथ लाइव चैट की। इस दौरान उन्होंने अपने जीवन से जुड़े कई मजेदार खुलासे किए।
मां की वजह से मेरी और आयुष्मान की हिंदी अच्छी है: अपारशक्ति खुराना
मां की वजह से मेरी और आयुष्मान की हिंदी अच्छी हैः अपारशक्ति खुरानाSocial Media

हाइलाइट्स:

- विश्वरंग के पहले दिन अपारशक्ति खुराना ने राजे टीना के साथ बातचीत की

- मैं किसी स्टार के भाई की तरह बॉलीवुड में लॉंच नहीं हुआ: अपारशक्ति

भोपाल। हिंदी और भारत की अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में रचित साहित्य और कला को नई पहचान दिलाने के लिए आयोजित किया जाने वाले 'टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला महोत्सव' (विश्वरंग) के पहले दिन अभिनेता अपारशक्ति खुराना ने माय एफएम की आरजे टीना के साथ लाइव चैट की। इस दौरान उन्होंने अपने जीवन से जुड़े कई मजेदार खुलासे किए।

उन्होंने बताया कि, उनकी मां हिंदी में एम.ए हैं और उनकी वजह से ही आयुष्मान खुराना और अपारशक्ति की हिंदी अच्छी है। उन्होंने क्रिकेट और फुटबाल के प्रति अपने प्रेम को जाहिर किया। अपारशक्ति ने लाइव चैट के दौरान अपने करियर के शुरुआती दिनों को भी याद किया जब वो एक रेडियो जॉकी हुआ करते थे।

उन्होंने आगे बताया कि, उनके पिता चाहते थे कि उनके बेटे हर क्षेत्र में कुछ अलग करें। इस वजह से उन्हें बचपन से ही खेल और साहित्य से जुड़ने का भी मौका मिला। उन्हें बचपन से ही हिंदी की किताबें पढ़ने के लिए माता-पिता प्रेरित करते थे। अपारशक्ति ने बताया कि उनकी मां का जन्म रंगून में हुआ था और उनकी मां ने उन्हें हिंदी के अलावा दूसरी भाषाएं भी सिखाई। उन्होंने आगे बताया कि, उनके घर में आयुष्मान और अपारशक्ति की हिंदी अच्छी है, जबकि दोनों की पत्नियां पंजाबी और अंग्रेजी अच्छी बोलती हैं।

मां की वजह से मेरी और आयुष्मान की हिंदी अच्छी हैः अपारशक्ति खुराना
मां की वजह से मेरी और आयुष्मान की हिंदी अच्छी हैः अपारशक्ति खुरानाSocial Media

आयुष्मान खुराना के बारे में कही यह बात:

आयुष्मान खुराना के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि, उनका नाम पहले अपारशक्ति की बजाय पारुल हुआ करता था और आयुष्मान का नाम निशांत था। बाद में उनके पिता ने दोनों बेटों का नाम बदल दिया। आयुष्मान से मिली प्रेरणा के बारे में उन्होंने बताया कि, जब वो पहली बार आयुष्मान से प्रभावित हुए थे उस दिन आयुष्मान अपनी दोगुनी उम्र के लोगों के साथ कविताएं पढ़ रहे थे। इस समय भी वो कई लोगों से बेहतर कविता पढ़ रहे थे। आयुष्मान ने लगातार फिल्मों में बेहतरीन काम किया है और लगातार 7 हिट फिल्में दे चुके हैं।

अपनी बॉलीवुड यात्रा पर बात करते हुए उन्होंने बताया कि, हर फिल्म से पहले और फिल्म के बाद वो आयुष्मान से बात करते हैं, पर फिल्म करने का या ना करने का फैसला उनका खुद का होता है। “फिलहाल मैं एक ऐसा इंसान हूं जो काम करना चाहता है। मैं किसी स्टार के भाई की तरह बॉलीवुड में नहीं आया हूं।” इस दौरान उन्होंने दंगल और पति पत्नी और वो फिल्म से जुड़ी अपनी यादें भी साझा की।

लाइव चैट के दौरान उन्होंने बताया कि, 'स्त्री' उनके करियर की सबसे बेहतरीन फिल्म रही है। दंगल उनके करियर की सबसे बड़ी फिल्म है पर स्त्री फिल्म करने के बाद वो एक बेहतर अभिनेता बने हैं। लाइव चैट के अंत में उन्होंने अपना गाना “कुड़िए नी” गाकर सुनाया। कार्यक्रम के अंत में सिद्धार्थ चतुर्वेदी भी लाइव चैट में जुड़े और अपार शक्ति के साथ बात की।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co