Raj Express
www.rajexpress.co
Manoj Bajpai
Manoj Bajpai|Social Media
सेलिब्रिटी

आम इंसान मुझसे जल्दी कनेक्ट हो जाता है - मनोज बाजपेयी

लोग मुझे आम इंसान का किरदार निभाने के लिए परफेक्ट समझते हैं। मैं इसे एक कॉम्प्लिमेंट की तरह लेता हूं कि, आम आदमी मुझसे जल्दी से कनेक्ट हो जाता है और मैं आम आदमी का किरदार आसानी से निभा लेता हूं।

Pankaj Pandey

Pankaj Pandey

पिछले हफ्ते डिजिटल प्लेटफार्म पर रिलीज हुई एक्टर मनोज बाजपेयी स्टार वेब सीरीज द फैमिली मैन लोगों को काफी पसंद आ रही है। सीरीज में जिस तरह मनोज बाजपेयी ने अपने किरदार श्रीकांत तिवारी को निभाया है, उसकी हर जगह तारीफ हो रही है। खुद मनोज बाजपेयी अपनी इस सीरीज की सफलता से काफी खुश हैं। हाल ही में हमारी मुलाकात मनोज बाजपेयी से हुई और हमने उनसे कई सारी बातें की। पेश हैं हमारी बातचीत के प्रमुख अंश।

इस सीरीज को करने के लिए आपने हां क्यों कहा था ?

इस सीरीज को करने की सबसे बड़ी वजह अमेज़न प्राइम वीडियो था जो कि, एक इंटरनेशनल प्लेटफार्म है। यह प्लेटफॉर्म आपको सीधे 200 कंट्री से जोड़ देता है। इसके अलावा फिल्म की कहानी जो कि मुझे काफी अच्छी लगी। इस सीरीज में आपको एक आम इंसान की कहानी देखने को मिलेगी जो कि अपनी ड्यूटी के साथ-साथ अपने परिवार की भी ड्यूटी कर रहा है। इस सीरीज में कई मौके ऐसे आएंगे, जब आप हंसेंगे और अचानक से एक सीन ऐसा आ जायेगा जो आपकी आंखें नम कर देगा। इन्हीं सभी कारणों से मैंने यह सीरीज करने का फैसला किया था और जब आज लोगों को सीरीज पसंद आ रही है तो मुझे काफी खुशी हो रही है।

जब आप इंडस्ट्री में आये थे, उस वक्त से लेकर आज के वक्त में कितना फर्क पाते हैं ?

काफी फर्क पाता हूं क्योंकि आज अगर आपको एक्टिंग करनी है तो आपके पास कई प्लेटफार्म हैं। फिर चाहे वो शार्ट फिल्में हों या फिर डिजिटल प्लेटफार्म। जब मैं इंडस्ट्री में आया था तो उस वक्त आप या तो फिल्मों में काम कर सकते थे या फिर आपको दूरदर्शन में काम करने को मिल जाए। उस दौर में मैं काम तलाशने के लिए सुबह से निकलता था लेकिन काम मिलने की कोई गारंटी नहीं होती थी लेकिन आज आपको पता है कि आपको कब और कहां ऑडिशन देना है। आज के दौर में अगर आपको अपना थोड़ा भी काम आता है तो आप भूखे नहीं सोएंगे। आप एक अच्छी खासी जिंदगी जी सकते हैं।

जब भी आम आदमी का किरदार निभाना होता है तो मेकर्स मनोज बाजपेयी को ही अप्रोच करते हैं, इस बारे में क्या कहेंगे ?

बढ़िया है कि, लोग मुझे आम इंसान का किरदार निभाने के लिए परफेक्ट समझते हैं। मैं इसे एक कॉम्प्लिमेंट की तरह लेता हूं कि आम आदमी मुझसे जल्दी से कनेक्ट हो जाता है और मैं आम आदमी का किरदार आसानी से निभा लेता हूं। इसके अलावा जनता जनार्दन को यह भी पता है कि मेरी जगह अगर कोई और आम इंसान का किरदार निभाएगा तो वो उस किरदार को निभाने की एक्टिंग करेगा लेकिन मैं उसे नेचुरली ही कर लूंगा।

आप लगातार कई इंडिपेंडेंट फिल्में करते हैं, फिर अचानक से आप एक कमर्शियल फ़िल्म कर लेते हैं, इसकी क्या रणनीति है ?

मैं कई सारी इंडिपेंडेंट फिल्में करने के बाद इसलिए एक कमर्शियल फ़िल्म कर लेता हूं ताकि मेरी कमर्शियल क्रेडिबिलिटी बनी रहे। फिर चाहे वो 'बागी 2' हो या 'फिर सत्यमेव जयते'। मैं बस लोगों को इंडस्ट्री में अपनी मौजूदगी दिखाना चाहता हूं कि भाई इंडस्ट्री में मनोज बाजपेयी भी है और उसने काफी अच्छी जगह बना ली है।

आज कल रिलीज हो रही लगभग सभी वेब सीरीज में गालियां सुनने को मिल रही हैं, इस बारे में आप क्या कहेंगे ?

देखिए, मैं गालियों को गलत नहीं मानता क्योंकि वेब सीरीज से पहले भी कई फिल्में आ चुकी हैं जिसमें आपने गालियां सुनी होंगी। हमारी सीरीज में भी आपको एक या दो जगह पर गालियां सुनने को मिलेंगी क्योंकि उस सीन्स में जरूरत थी। आज के दौर में गालियां देना या सुनना सामान्य बात है। आप गालियों से किसी भी इंसान का केरेक्टर डिसाइड नहीं कर सकते। जब भी कोई इंसान घर जा रहा होता है तो पूरे सफर के दौरान उसे कई बार गालियां सुनाई पड़ती हैं। भले ही वो इंसान खुद गाली ना दे रहा हो या फिर उसे ना पड़ रही हो लेकिन उसे कुछ गालियां तो सुनाई पड़ ही जाती हैं।

आप खुद की ऑटोबायोग्राफी कब लिखेंगे ?

मुझे कई बार कई प्रकाशन से मेरी लाइफ पर बुक लिखने के ऑफर मिल चुके हैं लेकिन मैंने किसी भी ऑफर को स्वीकार नहीं किया, क्योंकि मैं उस दिन ही खुद की लाइफ पर बुक लिखूंगा जिस दिन मेरे अंदर यह ताकत आ जायेगी कि मैं अपनी लाइफ को महान ना बताऊं। मैं उस दिन ही खुद की ऑटोबायोग्राफी लिखूंगा जिस दिन मैं अपनी लाइफ के सच को झूठ ना बताऊं।

The Family Man
The Family Man
Social Media