वेब सीरीज न होती तो इंडस्ट्री का हिस्सा न होता : अनुद सिंह ढाका
वेब सीरीज न होती तो इंडस्ट्री का हिस्सा न होता : अनुद सिंह ढाकाSocial Media

वेब सीरीज न होती तो इंडस्ट्री का हिस्सा न होता : अनुद सिंह ढाका

नेपोटिज्म गलत नहीं है बस यही कहूंगा कि जो भी स्टार चाइल्ड होते हैं उन्हें कई बार मौका मिलता है लेकिन जो लोग मेरी तरह छोटे शहर से आए होते हैं उन्हें काम पाने के लिए जूते रगड़ने पड़ते हैं।

राज एक्सप्रेस। हर बैकग्राउंड एक्टर का सपना होता है कि वो किसी फिल्म में लीड एक्टर के तौर पर दर्शकों के सामने आए लेकिन अफसोस ज्यादातर एक्टर्स का यह सपना पूरा नहीं हो पाता लेकिन कुछ लोग होते हैं जो अपनी कड़ी मेहनत से अपने सपनों को हासिल कर लेते हैं। हम बात कर रहे हैं अभिनेता अनुद सिंह ढाका की जो कि अभी तक सिर्फ़ दो वेब सीरीज का हिस्सा बन चुके हैं और जल्द ही लीड एक्टर के तौर पर अपनी अनटाइटल्ड फिल्म के साथ अपने फैंस के सामने आएंगे जिसकी शूटिंग इन दिनों अनुद नैनीताल में कर रहे हैं। पिछले दिनों हमने अनुद सिंह ढाका से बातचीत की, पेश हैं हमारी बातचीत के प्रमुख अंश।

Q

क्या आप बचपन से एक्टर बनना चाहते थे ?

A

हां, मैं बचपन से एक्टर बनना चाहता था लेकिन शुरुआत में मुझे लगता था कि शायद मैं इंडस्ट्री की चकाचौंध से अट्रेक्टेड हूं इसलिए एक्टर बनना चाहता हूं। मैंने शुरुआत में एक नौकरी भी की लेकिन मेरा उस नौकरी में मन नहीं लगता था। मैं बोर हो जाता था और सोचता था कि ये मैं क्या कर रहा हूं। कई बार मैंने खुद को लालच भी दी कि मैं अगर यह नौकरी करता रहूंगा तो मैं कई चीजें खरीद सकता हूं और जल्द ही अपनी कड़ी मेहनत से अपनी कंपनी का बॉस भी बन सकता हूं लेकिन फिर भी मैंने वो नौकरी छोड़ दी और फिल्म करीब करीब सिंगल में असिस्टेंट डायरेक्टर बन गया लेकिन जब फिल्म के प्रीमियर पर इरफान खान सर ने मुझे बुलाकर कहा कि "मेरी जान तुम ना इधर हो न उधर हो तुम सही जगह हो और एक्टिंग करो। फिर मैंने फैसला कर लिया कि अब मैं सिर्फ एक्टिंग ही करूंगा।"

Q

हाल ही में रिलीज हुई आपकी वेब सीरीज लव जैक्सन को लेकर आपको कैसा रिस्पॉन्स मिल रहा है ?

A

जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है। मुझे अब यूपी के लोग जैक्सन भैया बुलाने लगे हैं। इंस्टाग्राम पर रोजाना लोग मैसेज कर रहे हैं। सभी को मेरा काम काफी पसंद आ रहा है। सभी मुझसे पूछते हैं कि सीरीज का अगला सीजन कब आएगा। अब मैं उन्हें यह नहीं बता सकता क्योंकि मैं फिल्म का मेकर नहीं हूं। मुझे खुशी है कि सीरीज धीरे-धीरे पिक अप कर रही है और जल्द ही शायद सफल सीरीज बन जाए।

Q

ऐसी कोई एक्ट्रेस हैं जिनके साथ आप स्क्रीन शेयर करना चाहते हैं ?

A

मैं सान्या मल्होत्रा के साथ स्क्रीन शेयर करना चाहता हूं, वो मुझे काफी पसंद हैं। उनकी एनर्जी, ऑनेस्टी और इनोसेंस सब कुछ मुझे पसंद है। उनको देखकर लगता है कि वो भगवान की बच्ची हैं और उनकी आंखों में सच्चाई है। उन्हें देखकर लगता है कि उन्होंने अपने दिल में कुछ भी छिपा नहीं रखा है और मुझे ईमानदार और सच्चे लोगों से मोहब्बत हो जाती है।

Q

आप अभी एक लीड रोल वाली फिल्म कर रहे हैं, अगर भविष्य में कभी आपको सेकंड लीड वाली फिल्म मिली तो आप क्या उस फिल्म को करेंगे ?

A

देखिए, मेरी कोशिश होगी कि मैं इतना अच्छा काम करूं कि मेकर्स मुझे लीड रोल वाली ही फिल्म ऑफर करें इसके लिए मैं मेहनत भी बहुत करता हूं क्योंकि जब फिल्म की स्टोरी आपके कंधे पर चल रही होती है तो उस बात की एक अलग ही खुशी होती है। मैं रोजाना बारह से सोलह घंटे काम करता हूं और इतने घंटे काम करने के बाद भी मुझे कोई कहे कि और शॉट्स लेते हैं तो मैं मना नहीं करता। लेकिन फिर भी मैं कहूंगा कि मैंने सुपर 30 और छिछोरे जैसी फिल्मों में छोटा ही रोल किया है तो फिर सेकंड लीड रोल को न नहीं बोलूंगा।

Q

नेपोटिज्म को लेकर आपकी क्या राय है ?

A

नेपोटिज्म गलत नहीं है बस यही कहूंगा कि जो भी स्टार चाइल्ड होते हैं उन्हें कई बार मौका मिलता है लेकिन जो लोग मेरी तरह छोटे शहर से आए होते हैं उन्हें काम पाने के लिए जूते रगड़ने पड़ते हैं। स्टार चाइल्ड को फिल्म आसानी से मिल जाती है लेकिन हम जैसे लोग जो इंडस्ट्री से नहीं हैं उन्हें पहले ऑडिशन पास करना होता है, उसके बाद रीडिंग और फिर स्क्रीन टेस्ट पास करना होता है। फिर कम पैसे भी मिलते हैं या फिर कभी-कभी तो पैसे भी नहीं मिलते हैं। फिर भी मैं कहूंगा कि ऐसा नहीं है कि स्टार चाइल्ड टैलेंटेड नहीं होते हैं। अब आप आलिया भट्ट और रणबीर कपूर को ही देख लीजिए दोनों ही आज एक सफल एक्टर्स हैं। हम जैसे लोगों को सफल होने के लिए मौके कम मिलते हैं और स्टार चाइल्ड को मौके ज्यादा मिलते हैं।

Q

आपको क्या लगता है वेब सीरीज प्लेटफॉर्म के आने से अब सभी को काम मिल रहा है ?

A

सच कहूं तो अगर वेब सीरीज का प्लेटफॉर्म नहीं होता तो शायद आज मैं इंडस्ट्री का हिस्सा नहीं होता। शायद बोरिया बिस्तर बांधकर घर की ओर चल पड़ता। वेब सीरीज का प्लेटफॉर्म था तभी मैंने ताजमहल 1989 की फिर उसके बाद लव जैक्सन की और अब अपनी पहली लीड फिल्म कर रहा हूं। वेब सीरीज के आ जाने से सभी के पास काम है क्योंकि इतना कंटेंट बन रहा है कि सभी को कुछ न कुछ काम मिल रहा है। सभी के पास काम है और इस माध्यम की वजह से कई टैलेंटेड लोगों को अपना टैलेंट दिखाने का मौका मिल रहा है। वेब सीरीज की वजह से अमेरिका, लंदन और या फिर बिहार में भी बैठा हुआ इंसान आपका काम देख रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co