मशहूर गीतकार अभिलाष का मुम्बई में निधन, कैंसर से थे पीड़ित

हाल ही में मनोरंजन जगत से एक और बुरी खबर आई है। 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' (अंकुश) जैसे गीत लिखने वाले गीतकार अभिलाष का मुंबई में निधन हो गया है।
मशहूर गीतकार अभिलाष का मुम्बई में निधन, कैंसर से थे पीड़ित
Abhilash Passes Away Due to CancerSocial Media

पिछले कुछ समय से मनोरंजन जगत से बुरी खबरें सामने आ रही हैं। मनोरंजन जगत ने एक के बाद एक बड़े कलाकारों को खो दिया। हाल ही में मनोरंजन जगत से एक और बुरी खबर आई है। 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' (अंकुश) जैसे गीत लिखने वाले गीतकार अभिलाष का मुंबई में निधन हो गया है। रिपोर्ट्स की मानें तो रविवार रात उन्होंने अंतिम सांस ली। अभिलाष लीवर कैंसर से जूझ रहे थे और पिछले 10 महीने से बिस्तर पर थे। उनका लीवर ट्रांसप्लांट होना था। लेकिन पैसों की तंगी के चलते यह हो नहीं सका।

बताया जा रहा है कि, अभिलाष ने बीती रात आखिरी सांस ली। यहां यह भी बता दें कि उनकी मौत की वजह कोरोना नहीं है बल्कि कैंसर है। वह लंबे समय से कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रहे थे। बताया जाता है कि, मार्च में उन्होंने पेट के एक ट्यूमर का ऑपरेशन कराया था। तभी से उनकी तबीयत ठीक नहीं चल रही थी। बीती आधी रात को गोरेगांव पूर्व के शिव धाम में उनका अंतिम संस्कार किया गया। अभिलाष के निधन के बाद से सिनेमा जगत में शोक की लहर छा गई है। सोशल मीडिया पर सितारों सहित उनके चाहने वालों ने उन्हें याद करते हुए श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया है।

इन फिल्मों के लिए किया काम:

वहीं अगर अभिलाष जी के करियर की बात करें, तो 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' गीत के अलावा अभिलाष जी के लिखे सांझ भई घर आजा (लता), आज की रात न जा (लता), वो जो ख़त मुहब्बत में (ऊषा), तुम्हारी याद के सागर में (ऊषा), संसार है इक नदिया (मुकेश), तेरे बिन सूना मेरे मन का मंदिर (येसुदास) आदि सिने गीत भी बेहद लोकप्रिय हुए। अभिलाष जी 40 सालों से फ़िल्म जगत में सक्रिय हैं। गीत के अलावा उन्होंने कई फिल्मों में बतौर पटकथा-संवाद लेखक भी योगदान किया है। फिल्मों के अलावा उन्होंने कई टीवी सीरियलों के लिए काम किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co