Arun Govil and Deepika Chikhlia
Arun Govil and Deepika Chikhlia|Social Media
सेलिब्रिटी

राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर उत्साहित हैं 'रामायण' के राम-सीता

राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या नगरी पूरी तरह से तैयार है। भूमि पूजन को लेकर अरुण गोविल और अभिनेत्री दीपिका ने एक ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की है।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या नगरी पूरी तरह से तैयार है। मंदिर के लिए भूमि पूजन आज पूरा होने वाला। अयोध्या को दुलहन की तरह सजाया गया है और देशवासी खुशी मना रहे हैे। भूमि पूजन को लेकर आम आदमी से लेकर सोशल मीडिया तक चर्चा जारी है। इस बीच अरुण गोविल और अभिनेत्री दीपिका ने एक ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की है।

अरुण गोविल ने किया ट्वीट:

रामानंद सागर के चर्चित शो 'रामायण' में भगवान श्रीराम का किरदार निभाकर मशहूर हुए अभिनेता अरुण गोविल ने ट्वीट किया कि, आज का दिन इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा, क्योंकि श्रीराम मंदिर के शिलान्यास से पूरी दुनिया के रामभक्तों का सपना साकार हो रहा है। आप सभी को हार्दिक बधाई और शुभकामनाऐं।"

गौरतलब है कि, इससे पहले भी एक्टर अरुण गोविल ने ट्वीट करते हुए लिखा था, "अयोध्या में राम मंदिर के लिए वर्षों तक लगातार संघर्ष करने वाले वरिष्ठजन और आगे उस लड़ाई को भूमिपूजन तक लेकर आने वाले सभी रामभक्तों को मेरा कोटि-कोटि नमन। आप सबके महान प्रयासों से ही हमें ये दिन देखने का‌ सौभाग्य मिल रहा है, जय श्रीराम।"

दीपिका चिखलिया ने जाहिर की खुशी:

वहीं सीता माता का किरदार निभाने वालीं दीपिका चिखलिया ने भी इस मौके पर खुशी जाहिर की। दीपिका ने एक जलता हुआ दीया हाथ में रखकर अपनी तस्वीर ट्विटर पर शेयर की। साथ में उन्होंने लिखा, "यह सभी भारतीयों के लिए बहुत बड़ी जीत है। ज्योत से ज्योत जलाते चलो, राम का नाम जपते चलो।"

बता दें कि, अभिनेत्री दीपिका चिखलिया ने इससे पहले सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने कहा, ऐसा लग रहा है जैसे इस बार दीवाली जल्दी आ गई। दीपिका चिखलिया ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट लिखी है, जिसमें उन्होंने कहा, ''कल राम जन्मभूमि का शिलान्यास होगा। आखिरकार लम्बा इंतजार खत्म हुआ। रामलला की घर वापसी हो रही है। यह बेहद आलीशान अनुभव होने जा रहा है। ऐसा लग रहा है कि दीवाली इस साल जल्दी आ गई। यह सब सोचकर भावुक हो रही हूं। कल का इंततार बेसब्री से है।''

इस दिन हुआ था मंदिर-मस्जिद विवाद पर फैसला:

पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने एक लंबी सुनवाई के बाद अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद पर फैसला सुनाया था। 100 सालों से ज्यादा समय से चले रहे इस विवाद को तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में संवैधानिक पीठ ने इस पर फैसला सुनाया कि, विवादित जमीन पर हक हिंदुओं का है। इसके साथ ही सरकार को यह भी आदेश दिया कि, मुस्लिम पक्ष को अलग से 5 एकड़ जमीन दी जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co