रामायण के 'लक्ष्मण' ने लगाई रिहाना की क्लास, ट्वीट कर कही यह बात
रामायण के 'लक्ष्मण' ने लगाई रिहाना की क्लास, ट्वीट कर कही यह बातSocial Media

रामायण के 'लक्ष्मण' ने लगाई रिहाना की क्लास, ट्वीट कर कही यह बात

किसान आंदोलन के बीच रिहाना की ट्वीट को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाल ही में 'रामायण' में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने इसे लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

इन दिनों किसान आंदोलन का शोर अब देश के बाहर भी गूंजने लगा है। किसान आंदोलन के बीच हॉलीवुड गायिका रिहाना के ट्वीट को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक के बाद एक सेलिब्रिटी स्पष्ट रूप से अपना पक्ष रखते नजर आ रहे हैं। बॉलीवुड में कुछ लोगों को विदेशी सेलेब्स का इस तरह ये मामला उठाना पसंद आया, तो किसी को ये बिलकुल पसंद नहीं आया। इसी बची रामानंद सागर के 'रामायण' में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने भी इसे लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

सुनील लहरी ने किया ट्वीट:

टेलीविजन का पॉपुलर सीरियल 'रामायण' में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए सोशल मीडिया पोस्ट शेयर किया है। अभिनेता सुनील लहरी ने ट्वीट करते हुए रिहाना के साथ उन सभी सेलेब्स को फटकार लगाई है, जो हमारे देश के मामले में बोल रहे हैं। उन्होंने अपने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा है, "रिहाना या किसी और विदेशी या देश को हमारे देश के किसान आंदोलन या किसी भी मामले में दखल देने का कोई हक़ नहीं हैं, देश सक्षम है अपनी प्रॉब्लम को सॉल्व करने के लिए।"

अरुण गोविल ने भी दिया था रिएक्शन:

बता दें कि, सुनील लहरी से पहले 'रामायण' में राम की भूमिका निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल ने भी गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा पर नाराजगी व्यक्त की थी और इसे षड्यंत्र बताया था। अरुण गोविल ने इस मामले पर नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा था, "भारत कृषि प्रधान और सर्वे भवंतु सुखिनः के आदर्श पर चलने वाला श्रीराम का देश है। हमारे देश की सरकार और प्रधानमंत्री को अपने घरेलू विवाद समझने सुलझाने की पूरी समझ है। किसान आंदोलन के मुद्दे पर रेहाना या किसी भी विदेशी व्यक्ति या देश को इसमें हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है।"

आपको बता दें कि, नए कृषि कानूनों को लेकर चल रहे किसान आंदोलन को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिक्स रिस्पॉन्स मिल रहा है। हाल ही में रिहाना, मियां खलीफा और ग्रेटा थनबर्ग जैसे लोगों द्वारा किसान आंदोलन के पक्ष में ट्वीट किया था। वहीं ग्रेटा के 'टूल किट' ट्वीट ने इस पूरे मुद्दे का रुख ही बदल दिया था, हालांकि उसे तुरंत ही डिलीट कर दिया था, लेकिन तब तक वो ट्वीट और उसकी जानकारी सार्वजनिक हो गई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co