लता दीदी के बाद प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा के निधन से एक और बड़ा नुकसान
प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का निधनSyed Dabeer Hussain - RE

लता दीदी के बाद प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा के निधन से एक और बड़ा नुकसान

आज भारत देश के हर नागरिक के लिए बड़े ही दुख का दिन है क्योंकि देश के एक महान और 'प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा' ने अंतिम सांस ली है।

Pandit Shiv Kumar Sharma Death: आज भारत देश के हर नागरिक के लिए बड़े ही दुख का दिन है क्योंकि देश के एक महान और 'प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा' ने अंतिम सांस ली है। पूरे देश में उनकी मृत्यु के चलते गम का माहौल है। सभी लोग अपने-अपने तरीके से इस महान शख्सियत को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। बड़ी-बड़ी हस्तियों से लेकर आम जनता द्वारा सोशल मीडिया पर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की जा रही है।

संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा के निधन :

इसी साल फरवरी में भारत ने लता मंगेशकर जी को खोया था। जो की न केबल फिल्म इंडस्ट्री के लिए एक बड़ा नुकसान था बल्कि, पूरे भारत के लिए यह एक बड़ा नुक्सान था। वहीं, आज भारत को एक और बड़ा नुकसान तब हुआ जब प्रख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने आज मुंबई में 84 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। उनकी मौत का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया जा रहा है। हालांकि, खबर तो यह भी है कि, वह पिछले कई महीनों से किडनी से जुड़ी कुछ परेशानी से परेशान थे। जिससे उनको डायलिसिस भी कराना पड़ता था। उनका अंतिम संस्कार आज मंगलवार की शाम को ही किया गया।

बड़ी बड़ी हस्तियों ने जताया दुःख :

संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा के निधन से पूरा देश शोक में दुब गया है। इतना ही नहीं इस खबर से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई बड़ी हस्तियों ने दुःख विकट करते हुए शोक जताया है। उनको श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा, 'पंडित शिवकुमार शर्मा जी के निधन से हमारी सांस्कृतिक दुनिया अधूरी हो गई है। उन्होंने संतूर को विश्व में पहचान दिलाई और लोकप्रिय बनाया। उनका संगीत आने वाली पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध करता रहेगा। मुझे उनके साथ अपनी बातचीत अच्छी तरह याद है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ऊं शांति।'

पं. शिवकुमार शर्मा से जुड़े कुछ मुख्य बिंदु :

  • पं. शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी 1938 को जम्मू में हुआ था।

  • उनके पिता पं. उमादत्त शर्मा भी एक बड़े गायक थे।

  • पांच साल की उम्र में पं. शर्मा ने संगीत शिक्षा लेना शुरू कर दिया था।

  • पं. शिवकुमार शर्मा ने अपने पिता से सुर साधना और तबला दोनों की ट्रेनिंग ली थी।

  • उन्होंने मात्र 13 साल की उम्र में संतूर सीखना शुरू कर दिया था।

  • मात्र 17 साल की उम्र में पं. शिवकुमार शर्मा ने साल 1955 में मुंबई में संतूर वादन का अपने जीवन का पहला शो किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.