Raj Express
www.rajexpress.co
मैं ज्यादा तो नहीं लेकिन थोड़ी सी चूजी हूं - विद्या बालन
मैं ज्यादा तो नहीं लेकिन थोड़ी सी चूजी हूं - विद्या बालन
मनोरंजन

मैं ज्यादा तो नहीं लेकिन थोड़ी सी सिलेक्टिव हूं - विद्या बालन

विद्या बालन का कहना हैं कि ‘मिशन मंगल’ की सफलता वास्तव में महिलाओं की सफलता हैं। पेश है विद्या बालन से पंकज पांडेय की हुई बातचीत के प्रमुख अंश।

Pankaj Pandey

Pankaj Pandey

एक्ट्रेस विद्या बालन इन दिनों अपनी फ़िल्म मिशन मंगल के प्रमोशन में व्यस्त हैं। उनकी यह फिल्म 15 अगस्त 2019 को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। पिछले दिनों फ़िल्म से जुड़े एक प्रमोशनल इवेंट में हमारी मुलाकात विद्या से हुई और हमने उनसे उनकी फिल्म के बारे में काफी कुछ पूछा। पेश हैं हमारी बातचीत के प्रमुख अंश।

फ़िल्म में आपके अलावा तीन और एक्ट्रेस हैं, उनके साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा ?

इससे पहले मैं फ़िल्म बेगम जान में भी कई एक्ट्रेसेस के साथ काम कर चुकी हूं। इस फ़िल्म की शूटिंग के दौरान सभी के साथ काम करके बहुत मजा आया। सेट पर हम लोग काफी मस्ती करते थे, सबसे ज्यादा मस्ती मैं खुद करती थी। सभी के साथ मैं पहली बार ही काम कर रही थी, सिर्फ सोनाक्षी को मैं पहले से जानती थी फिर भी कभी ऐसा नहीं लगा कि हम पहली बार एक साथ काम कर रहे हैं।

फ़िल्म के लीड हीरो अक्षय कुमार के बारे में क्या कहेंगी ?

अक्षय के बारे में क्या बोलूं, पूरे सेट पर अगर कोई लोगों को परेशान करता था तो वो अक्षय ही था। मैं अक्षय के साथ पूरे बारह साल बाद काम कर रही थी और आज भी वो वैसा ही है जैसा पहले था। उसके अंदर कोई बदलाव नहीं आया। जब अक्षय से मिली तो सोचा कि कितना जल्दी वक्त बीत गया, पता ही नहीं चला।

आपकी प्रेग्नेंसी को लेकर हमेशा अफवाहें उड़ती है, इस बारे में क्या कहेंगी ?

देखिए, मैं आज जैसी हूं, वैसी ही पहले भी थी। अगर कभी किसी को मेरा पेट थोड़ा आगे लगता है तो लोग मानने लगते हैं कि मैं प्रेग्नेंट हूं जो कि सच नहीं होता। सच कहूं तो मैं कभी पतली थी ही नहीं। मेरा पेट हमेशा आगे रहता है इसका मतलब (हंसते हुए) मैं हर वक्त प्रेग्नेंट रहती हूं।

पिछले कुछ सालों में आपने काफी कम फिल्में की है, क्या अब आप चूजी बन गयी हैं ?

मैं कुछ सालों से नहीं बल्कि पिछले दस सालों से कम फिल्में कर रही हूं। मेरा उद्देश्य रहता है कि मैं साल में कम से कम एक फ़िल्म करूं। मुझे याद है, एक बार एक साल में ही मेरी दो फिल्में नो वन किल्ड जेसिका और डर्टी पिक्चर रिलीज हुई थी जो कि उन दोनों फ़िल्म की शूटिंग मैंने अलग-अलग वक्त पर की थी। इसका मतलब यह है कि मैं साल में एक ही फ़िल्म करना चाहती हूं। सच कहूं तो मैं ज्यादा तो नहीं लेकिन थोड़ी सी चूज़ी हूं, मैं तब तक किसी फिल्म के लिए हां नहीं बोलती जब तक मुझे 200 प्रतिशत विश्वास ना हो जाये कि मैं अपने किरदार के साथ इंसाफ नहीं कर पाऊंगी।

क्या आप एस्ट्रोलॉजी पर विश्वास करती हैं ?

बिल्कुल भी नहीं। हां, मेरी मां पहले मुझसे कहती थी कि एक दिन सब कुछ ठीक हो जाएगा, अभी तेरा वक्त अच्छा नहीं चल रहा है लेकिन मुझे यकीन नहीं होता था। मुझे आज भी याद है कि साल 2003 में मुझे एक तमिल फिल्म मिलने वाली थी लेकिन मुझे ऐसा लग रहा था कि शायद वो फ़िल्म मुझे नहीं मिलेगी लेकिन मेरी माँ कह रही थी कि तुझे फ़िल्म जरूर मिलेगी लेकिन मुझे वो फ़िल्म नहीं मिली। इसके अलावा एक बार एक हाथ देखने वाले ज्योतिषी ने भी मुझे कहा था कि तुम बस टेलीविज़न में ही काम करोगी। फिल्मों में तुम्हारा कुछ नहीं होगा और आज मैं कहा हूं, आप खुद देख लीजिए।