विजय सेतुपति ने छोड़ी मुरलीधरन की बायोपिक '800', शेयर किया पोस्ट

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन के जीवन पर आधारित बायोपिक '800' को लेकर हंगामे हो रहे हैं। हंगामे के बाद एक्टर विजय सेतुपति ने ये फिल्म छोड़ दी है।
विजय सेतुपति ने छोड़ी मुरलीधरन की बायोपिक '800', शेयर किया पोस्ट
विजय सेतुपति ने छोड़ी मुरलीधरन की बायोपिक '800'Social Media

इस वक्त क्रिकेट जगत के महान स्पिनर और श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन के जीवन पर आधारित बायोपिक '800' को लेकर बड़े हंगामे हो रहे हैं। हंगामे के बाद साउथ के मशहूर अभिनेता विजय सेतुपति ने ये फिल्म छोड़ दी है। उन्होंने इसकी जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर एक नोट शेयर किया है।

एक्टर ने शेयर किया पोस्ट:

मशहूर एक्टर विजय सेतुपति ने मुथैया मुरलीधरन के नोट को ट्वीट करते हुए लिखा, "धन्यवाद … नमस्कार …" इस नोट में मुथैया मुरलीधरन ने विजय सेतुपति को 800 फिल्म से वापस लेने का अनुरोध किया। उन्होंने यह भी कहा कि, वह नहीं चाहते थे कि तमिलनाडु के महान कलाकार को नुकसान पहुंचे। बता दें, विजय सेतुपति तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय हैं। वह एक उम्दा अभिनेता-कलाकार के साथ-साथ गीतकार, संवाद-लेखक और फ़िल्मकार भी हैं। प्रयोगात्मक फिल्में करने के लिए चर्चा में रहते हैं।

बता दें कि, इस फिल्म को लेकर लोगों का मानना है कि, मुरलीधरन के जीवन पर बन रही '800' में उनका महिमामंडन किया जाएगा और किस तरह से उन्होंने तमिलभाषी विरोधी श्रीलंकाई नेताओं का साथ दिया, उसे छिपाया जाएगा। कई राजनेता मुरलीधरन पर यह आरोप लगाते हैं कि, तमिलभाषी होने के बावजूद उन्होंने श्रीलंका में तमिलभाषियों के खिलाफ काम करने वाले श्रीलंकाई राजनेताओं और सरकारों का साथ दिया है। फिल्म के घोषणा के बाद से ही इस फिल्म का विरोध किया जा रहा है।

मुथैया मुरलीधरन ने जारी किया बयान:

मुथैया मुरलीधरन ने बयान जारी करते हुए कहा, "मैं यह बयान जारी कर रहा हूं, क्योंकि मेरी बायोपिक 800 को लेकर विवाद हो रहा है। गलतफहमी के कारण, कई लोग अभिनेता विजय सेतुपति को फिल्म '800' छोड़ने का दबाव बना रहे थे। मैं नहीं चाहता कि, तमिलनाडु के किसी बेहतरीन अभिनेता को किसी भी तरह की परेशानी का सामना करना पड़े, इसलिए मैं उनसे इस प्रोजेक्ट को छोड़ने का अनुरोध करता हूं।"

उन्होंने अपने बयान में आगे कहा, "इस फिल्म के कारण भविष्य में विजय सेतुपति के लिए कोई बाधा नहीं खड़ी होनी चाहिए। मैं बाधाओं से कभी नहीं थकता। मैं बाधाओं का सामना करने और काबू पाने के चलते ही आज इस मुकाम पर पहुंचा हूं। मैंने इस बायोपिक को स्वीकार किया, क्योंकि मुझे लगा कि फिल्म युवा क्रिकेटर्स को प्रेरित करेगी और आत्मविश्वास देगी।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co