हार्टअटैक के चलते दुनिया को अलविदा कह गए राजीव कपूर, दुःख में कपूर परिवार
हार्टअटैक के चलते दुनिया को अलविदा कह गए राजीव कपूर, दुःख में कपूर परिवारSyed Dabeer Hussain - RE

हार्टअटैक के चलते दुनिया को अलविदा कह गए राजीव कपूर, दुःख में कपूर परिवार

बॉलीवुड के मशहूर कपूर परिवार पर आज यानी मंगलवार को एक बार फिर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। क्योंकि, पिछले साल ऋषि कपूर को खोने के बाद अब कपूर परिवार ने राजीव कपूर को भी खो दिया है।

राज एक्सप्रेस। बॉलीवुड के मशहूर कपूर परिवार पर आज यानी मंगलवार को एक बार फिर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। क्योंकि, पिछले साल ऋषि कपूर को खोने के बाद अब कपूर परिवार ने राजीव कपूर को भी खो दिया है। उनकी मृत्यु 58 साल की उम्र में हार्ट अटैक आने के चलते हो गई। इस खबर से पूरा परिवार दुःख में डूब गया है। उनके निधन की खबर रणधीर कपूर ने सार्वजनिक की।

राजीव कपूर का निधन :

मंगलवार को राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर का निधन हो गया। खबरों की मानें, तो उनकी मृत्यु दिल का दौरा (हार्ट अटैक) पड़ने से हुई। उनके परिवार वालों को उन्हें अस्पताल लेजाने तक का मौका नहीं मिल सका। उनके बड़े भाई रणधीर कपूर जब तक उन्हें लेकर अस्पताल पहुंचे तब तक वह इस दुनिया को अलविदा कह चुके थे। परिवार के लोगों ने बताया की, राजीव कपूर सुबह तक ठीक ठाक दिख रहे थे, उन्होंने नाश्ता भी किया था। उसके बाद उन्हें हल्की सी बेचैनी महसूस हुई और वह कुछ समझ पाते या किसी से कुछ कह पाते तभी अचानक उन्हें दिल का दौरा पड़ गया।

परिवार ने दी जानकारी :

राजीव कपूर के निधन की खबर उनके परिवार के लोगों ने दी। उनके अलावा नीतू कपूर ने भी अपने इंस्टाग्राम से राजीव कपूर की एक फोटो शेयर की है। रणधीर कपूर ने राजीव कपूर के निधन की खबर देते हुए लिखा, 

“मैंने अपने सबसे छोटे भाई राजीव को खो दिया है। चिकित्सकों ने बहुत कोशिश की पर वे उन्हें बचा नहीं सके।”
रणधीर कपूर

राजीव कपूर के जीवन से जुड़ीं कुछ खास बातें :

  • राजीव कपूर का जन्म 25 अगस्त 1962 को राज कपूर के सबसे छोटे बेटे के रूप में मुंबई में हुआ था।

  • उन्होंने मुंबई के चेम्बूर से अपनी पढ़ाई की थी।

  • उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत एक सहायक निर्देशक के रूप में की थी। राजीव कपूर ने सबसे पहले राहुल रवैल के सहायक निर्देशक के रूप में आरके बैनर के तले बनी फिल्म बीवी ओ बीवी के लिए काम किया था।

  • राज कपूर ने ही उन्हें अपने साथ एक सहायक निर्देशक के तौर पर रखा।

  • उन्होंने फिल्मों में अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1981 में रिलीज हुई राहुल रवैल फिल्म 'बीवी ओ बीवी' से की।

  • उन्होंने एक अभिनेता के तौर पर साल 1983 में आई फिल्म 'एक जान हैं हम' से डेब्यू किया था, लेकिन उनकी पहली सफल फिल्म साल 1985 में आई 'राम तेरी गंगा मैली' रही। हालांकि, उस फिल्म का श्रेय भी मन्दाकिनी को दे दिया गया था, जिससे उन्हें काफी निराशा हुई थी।

  • उनके भाई ऋषि और रणधीर एक नामी अभिनेता के रूप में जाने जाते हैं जबकि, उनके पिता राज कपूर फिल्मकारी में शोमैन कहलाए, लेकिन इस प्रकार की सफलता राजीव के हाथ नहीं लग सकी।

  • सफलता हासिल न कर पाने के कारण उन्होंने फिल्मों में अभिनय करना छोड़ कर फिल्म निर्माता बनने का फैसला किया था।

  • उनकी मुख्य फिल्मों में आसमान, लवर ब्वॉय, जबरदस्त, हम तो चले परदेस, अंगारे और नाग नागिन सहित अन्य कई फिल्में शामिल हैं।

हाल ही में की थी वापसी की घोषणा :

बताते चलें, हाल ही में राजीव कपूर ने अभिनय में वापसी की घोषणा की गई थी। उनकी मृत्यु होने के बाद भी वह संजय दत्त और दिलीप ताहिल के साथ मृदुल महेंद्र के निर्देशन में बनने वाली फिल्म 'तुलसीदास जूनियर' में नजर आएंगे। उन्होंने ही इस फिल्म का निर्माण करने की जिम्मेदारी ली थी। राजीव के निधन के बाद अब पिछले कुछ साल से अटकी हुई उनकी यह फिल्म भी अधूरी ही रह गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co