Raj Express
www.rajexpress.co
लड़ाकू विमान 'तेजस' में उड़ान भरने वाले पहले मंत्री
लड़ाकू विमान 'तेजस' में उड़ान भरने वाले पहले मंत्री |Syed Dabeer Hussain - RE
भारत

लड़ाकू विमान 'तेजस' में उड़ान भरने वाले पहले मंत्री

राजनाथ सिंह ने भारतीय लड़ाकू विमान 'तेजस' में भरी उड़ान। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज एलएएल हवाईअड्डे से 'तेजस' में उड़ान भरी। इस विमान को 3 वर्ष पहले ही भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया है।

Rishabh Jat

तेजस स्वदेशी लड़ाकू विमान है इसी विमान में गुरूवार को रक्षा मंत्री ने उड़ान भरी ३ साल पहले ही तेजस को वायु सेना में शामिल किया गया है और अब तेजस का अपग्रेड वर्जन भी आने वाला है। तेजस को स्वदेशी कंपनी एचएएल ने तैयार किया है। 83 तेजस विमानों के लिए एचएएल को 45 हज़ार करोड़ रु. का कॉन्ट्रैक्ट मिला है भारत में स्वदेशी लड़ाकू विमान बनना दुश्मन के लिए खतरे की घंटी है तेजस में वो सारी खूबियां हैं, जो दुश्मन को हराने की पूरी ताकत रखती हैं।

वायु सेना के साथ नौसेना की भी ताकत है तेजस

भारतीय लड़ाकू विमान 'तेजस' वायु सेना के साथ नौसेना का साथ देने के लिए भी तैयार है। तेजस INS हंसा पर भी लैंड हो चुका है। इसी के साथ लैंडिंग करने वाला भारत बन गया है दुनिया का छठवां देश, इससे पहले ऐसी लैंडिंग केवल अमेरिका, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और चीन के नेवी ही कर पाये थे।

चीन और पाकिस्तान को कड़ी टक्कर

तेजस अपने पड़ोसी देशों से सीमा की सुरक्षा के लिए बहुत ही असरदार विमान है इससे जल्द से जल्द एक्शन लिया जा सकेगा और जरूरत पड़ने पर उनको उनकी ही भाषा में करारा जवाब दिया जा सकेगा।

तेजस विमान
तेजस विमान
Syed Dabeer Hussain - RE

स्वदेशी विमान तेजस से हम दूसरे देशों को पीछे छोड़ सकते हैं, जब भी हम विदेशों से हथियार या सुरक्षा यंत्र आयात करते हैं उस देश की आर्मी में इस्तमाल हो रहे टेक्नोलॉजी से एक कदम तो हम उसी वक़्त पिछड़ जाते हैं क्योंकि सुरक्षा कारणों से जब एक देश दूसरे देश को हथियार मुहैया करते हैं तो उस वक़्त उस देश में इस्तेमाल हो रहे हथियारों से कम क्षमता हथियार निर्यात करते हैं ।