संडे संवाद में बोले हर्षवर्धन- त्योहारों में बरती लापरवाही तो कोरोना विकराल
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने 'संडे संवाद' के पांचवें एपिसोड में लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की, साथ ही त्योहारों पर मेक इन इंडिया वस्तुओं पर जोर देने की बात कही है।
संडे संवाद में बोले हर्षवर्धन- त्योहारों में बरती लापरवाही तो कोरोना विकराल
संडे संवाद में बोले हर्षवर्धन- त्योहारों में बरती लापरवाही तो कोरोना विकरालSocial Media

दिल्‍ली, भारत। केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने 'संडे संवाद' के पांचवें एपिसोड में सोशल मीडिया के उपयोगकर्ताओं के साथ विचार-विमर्श किया, साथ ही लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की है।

लापरवाही बरती तो विकराल हो सकता है कोरोना :

देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संड़े संवाद कार्यक्रम में कहा- अब भारत में त्योहारी मौसम भी शुरू हो गया है, साथ ही ठंड का मौसम भी आ रहा है। ऐसे में अगर हमने अपने हारों के दौरान कोरोना वायरस से जुड़े नियमों का पालन नहीं किया। किसी तरह की कोई लापरवाही बरती तो कोरोना एक बार फिर विकराल रूप ले सकता है और हम सबके लिए एक बड़ी परेशानी का कारण बन सकता है।

इसलिए मैं कहूंगा कि त्योहारों के दौरान दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी का पालन जरूर करें। बाहर जाने के बजाय घर पर रहकर परिवार के साथ त्योहार मनाएं।

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

त्योहारों पर मेक इन इंडिया वस्तुओं पर जोर दें :

मंत्री हर्षवर्धन ने आगे ये अपील भी की है कि, ''मैं लोगों से गुजारिश करना चाहूंगा कि आने वाले समय में पर्व और त्योहारों की एक लंबी श्रृंखला आने वाली है नवरात्रि, दुर्गा पूजा, दशहरा, करवा चौथ, दीपावली, छठ, भाई दूज, क्रिसमस जैसे कई पर्व हैं। अगर हम सब अपने इन त्योहारों पर मेक इन इंडिया वस्तुओं पर जोर दे सकें तो निश्चित रूप से अपने प्रधानमंत्री जी के आत्म निर्भर भारत के सपने को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।''

दुनिया का कोई भी धर्म अथवा भगवान यह नहीं कहता कि आप लोगों की जिंदगी खतरे में डालकर त्योहार मनाएं। कोरोना के खिलाफ जंग को जीतने के लिए हमें पीएम मोदी के जन आंदोलन को गंभीरता से लेना होगा।

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

कोरोना वैक्सीन पर हर्षवर्धन का कहना :

इस दौरान डॉ. हर्षवर्धन ने देश और विश्व भर में विकराल ले चुके इस संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीन आने के संबंध में कहा कि, ''देश में कोरोना वैक्सीन पर वैज्ञानिकों की उच्च स्तरीय टीम निरंतर जुटी हुई है उम्मीद है कि घरेलू स्तर पर वैक्सीन अगले वर्ष जुलाई तक आ सकती है। एक अनुमान के मुताबिक देश में कोरोना वैक्सीन की पहली खेप में 40 से 50 करोड़ खुराक आ सकती है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co