दिल्ली में प्रदूषण रोकने के चलते 72 घंटों में वसूला गया 1 करोड़ का जुर्माना
दिल्ली में प्रदूषण रोकने के चलते 72 घंटों में वसूला गया 1 करोड़ का जुर्मानाSyed Dabeer Hussain - RE

दिल्ली में प्रदूषण रोकने के चलते 72 घंटों में वसूला गया 1 करोड़ का जुर्माना

इन दिनों दिल्ली एक बार फिर खतरनाक स्‍तर के प्रदूषण का सामना कर रही है। जिसको लेकर केजरीवाल सरकार अब सख्त कदम उठाती नजर आरही है। इन्हीं कदमों के तहत दिल्ली में 72 घंटों में 1 करोड़ का जुर्माना वसूला गया

दिल्ली-NCR, भारत। आज देश में पॉल्यूशन का स्तर बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिससे देश में अन्य बीमारियां जन्म ले रही हैं। इन दिनों राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सबसे ज्यादा प्रदूषित होती नजर आ रही है। इतना ही नहीं दिल्‍ली में फैलने वाला पॉल्यूशन (Delhi Pollution) तो नाम से ही जाना जाता है। यहां कि, हवा मानो ऐसी होती है जैसे किसी ने हवा में जहर घोल दिया हो, लोगों का सांस लेना दूभर हो जाता है। वहीं, इन दिनों दिल्ली एक बार फिर खतरनाक स्‍तर से बढ़ रहे प्रदूषण का सामना कर रही है। जिसको लेकर केजरीवाल सरकार अब स्खत कदम उठती नजर आरही है। इन्हीं कदमों के तहत दिल्ली में 72 घंटों में 1 करोड़ का जुर्माना वसूला गया।

72 घंटों में वसूला गया 1 करोड़ का जुर्माना :

दरअसल, दिल्ली-NCR की हवा इन दिनों एक बार फिर जहरीली होती जा रही है। यहां प्रदूषण का स्तर बहुत तेजी से बढ़ रहा है। क्योंकि, पिछले कई दिनों से एयर क्वालिटी बहुत खराब हो गई है और आने वाले समय में यहां हवा और अधिक खराब होने के पूरे आसार नजर आरहे हैं। इन सब को मद्देनजर रखते हुए और सुप्रीम कोर्ट द्वारा की गई सख्ती के चलते दिल्ली सरकार और अन्य संस्थाएं एयर क्वालिटी को बेहतर करने की दिशा में लगातार प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में सड़कों पर प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर सरकार ने 15 से 17 नवंबर के बीच कार्यवाही करते हुए 1 करोड़ का जुर्माना वसूला है। इस कार्यवाही के तहत बीते 15 नवंबर को 330 वाहन, 16 नवंबर को 280 वाहन और 17 नवंबर को 390 वाहनों का चालान काटा गया।

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने दी वाहनों के चालान की जानकारी :

बताते चलें, दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने वाहनों के चालान की जानकारी देते हुए बताया है कि, 'वाहनों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए टीम पेट्रोल पंप से लेकर सड़कों पर तक पर तैनात की गई है। हम 10 साल से पुराने डीजल वाहनों को भी सड़क पर चलने पर जब्त कर रहे हैं। प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों के खिलाफ पिछले 2 महीनों से आक्रामक अभियान चल रहा है। जो भी गाड़ियां प्रदूषण फैलाती दिख रही हैं या जिनके पास वैध PUC सर्टिफिकेट नहीं हैं, उन पर ऐक्शन लिया जा रहा है। इस सख्त अभियान की वजह से पिछले कुछ महीनों में बड़ी तादाद में गाड़ियों की जांच हुई है।'

दिल्ली का AQI :

वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, इन दिनों दिल्‍ली की वायु गुणवत्‍ता सूचकांक (Delhi Air Quality Index ) 332 बताई जा रही है। जबकि देश के अन्य शहरों का हाल अलग-अलग है।

कैसे मापते हैं एयर क्वालिटी (AQI) ?

जानकारी के लिए बता दें, किसी भी राज्य की एयर (हवा) क्वालिटी मापनी हो तो उसे कुछ इस तरह मापते हैं -

  • 0 से 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा'

  • 51 और 100 को 'संतोषजनक'

  • 101 और 200 को 'मध्यम'

  • 201 और 300 को 'खराब'

  • 301 और 400 के बीच 'बहुत खराब'

  • 401 और 500 को 'गंभीर'

दिल्ली में गुरुवार को एयर क्वालिटी :

  • गाजियाबाद में 360 दर्ज की गई है।

  • गुरुग्राम में 323 दर्ज की गई है।

  • ग्रेटर नोएडा में 308 दर्ज की गई है।

  • नोएडा में 336 दर्ज की गई है।

  • फरीदाबाद में 349 दर्ज की गई है।

  • ग्रेटर नोएडा में 310 दर्ज की गई है।

गौतरलब है दिल्ली में वहां चालकों के पास पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट (PUCC) होना जरूरी कर दिया गया है। यदि किसी के पास यह नहीं पाया गया तो उसे अपनी गाड़ी में पेट्रोल या डीजल भरवाते समय 10 हजार रुपये का जुर्माना देना पड़ सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co