हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना का साया पड़ने से 30 साधु पॉजिटिव, मचा कोहराम
हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना का साया पड़ने से 30 साधु पॉजिटिव, मचा कोहरामSocial Media

हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना का साया पड़ने से 30 साधु पॉजिटिव, मचा कोहराम

उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले में कोरोना वायरस से कोहराम मच गया। यहां 30 साधु के काेरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई। इस दौरान मेडिकल टीम अखाड़ों में जाकर साधुओं के RT-PCR टेस्ट कर रही हैं।

उत्‍तराखंड, भारत। देश में कोरोना महामारी के हालात बेकाबू होते जा रहे है। हर दिन लाखों लोग इस वायरस की चपेट में आ रहे है, तो वहीं सैकड़ों लोगों की जान जा रही है और इस बीच उत्तराखंड के हरिद्वार में कुंभ का मेला लगा, इस दौरान शाही व पर्व स्नान के दिन लाखों की संख्या में साधु संत और आम श्रद्धालु पहुंच रहे हैं, लेकिन अब कुंभ के मेले में कोरोना का साया पड़ने से कोहराम मच गया है।

30 साधुओं के कोरोना टेस्‍ट निकले पॉजिटिव :

आज ही सुबह-सुबह ये बड़ी खबर समाने आई है कि, हरिद्वार में अब तक 30 साधुओं के कोविड पॉजिटिव की पुष्टि हुई है। दरअसल, मेडिकल टीम द्वारा अखाड़ों में जा रही हैं और साधुओं के लगातार RT-PCR टेस्ट किए जा रहे हैं एवं टेस्टिंग की रफ्तार को अब 17 अप्रैल से और तेज किया जाएगा। इस बारे में हरिद्वार के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एस.के. झा ने जानकारी दी है। तो वहीं, मेले के दौरान ही निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव की गुरुवार को कोरोना के कारण मौत हो गई।

कोरोना के गंभीर मरीजों को ऋषिकेश एम्स भेजा जा रहा है। बाहर से आने वालों को अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। इसके अलावा हरिद्वार से संबंधित लोगों को घर से बाहर पहुंचाया जाता है।

हरिद्वार के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एस के झा

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा है कि, ''अभी हरिद्वार के अस्पतालों में घबराहट की स्थिति नहीं है। जानकारी के अनुसार, यहां बीते 10 दिन में करीब 70 प्रमुख संतों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। हालांकि, सरकारी आंकड़ा 30 तक सीमित है। बहरहाल, हरिद्वार के कनखल इलाके में जहां 10 हजार संत व चेले ठहरे हुए हैं, उसे आज सैनिटाइज किया जाएगा।''

वायरस के डर से निरंजनी अखाड़े का कुंभ से हटने का फैसला :

हरिद्वार कुंभ 2021 में शामिल संतों के कोविड-19 के बढ़ते मामलों और राज्य में खराब होती स्थिति के मद्देनजर साधु-संतों में अब वायरस का डर बैठ गया हैं, जिसके चलते निरंजनी अखाड़े का कुंभ से हटने का फैसला लिया है, जबकि पहले वे चिंतित नहीं थे, बल्कि और लोगों को मेले में आमंत्रित कर रहे थे। मगर, अब कोरोना का हाहाकार देख निरंजनी अखाड़े ने 15 दिन पहले कुंभ खत्म करने का ऐलान कर दिया है। निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पुरी ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 15 दिन पहले ऐलान किया है कि, ''उनके लिए कुंभ मेला खत्म हो चुका है। कुंभ का मुख्य शाही स्नान पूरा हो गया है और उनके अखाड़े के साधु-संतो को कोरोना चपेट में ले रहा है।''

गौरतलब है कि, उत्तराखंड के हरिद्वार में अब तक कई साधु-संत और श्रद्धालु कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा चुके है। ऐसे में इन सब हालातों को ध्यान में रखते हुए पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी ने कुंभ मेले 2021 का समापन इसी महीने यानी आगामी 17 अप्रैल को करने की घोषणा कर दी है। हालांकि सामान्य परिस्थितियों में हर 12 साल में लगने वाले वाला कुंभ मेला मध्य जनवरी से अप्रैल तक चलता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co