कर्नाटक में कोरोना की तीसरी लहर या दूसरी लहर का है कहर, 40000 बच्चे पॉजिटिव
कर्नाटक में कोरोना की तीसरी लहर या दूसरी लहर का है कहर, 40000 बच्चे पॉजिटिवSyed Dabeer Hussain - RE

कर्नाटक में कोरोना की तीसरी लहर या दूसरी लहर का है कहर, 40000 बच्चे पॉजिटिव

कर्नाटक की सरकार ने राज्य में 7 जून तक के संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है, लेकिन बच्चों में कोरोना संक्रमण के आंकड़े को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

कर्नाटक। पूरे भारत में तो कोरोना का आंकड़ा आज बढ़ ही रहा है, लेकिन यदि बात सिर्फ कुछ ऐसे राज्यों की करें, जिन राज्यों में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है तो ऐसे राज्यों में कर्नाटक का नाम बड़े स्तर पर शामिल हो गया है क्योंकि, यहां सिर्फ बच्चों की मौत का आंकड़ा ही कितनी तेजी से बढ़ा है कि, लोग सोचने को मजबूर हैं कि, क्या वर्तमान समय में कोरोना की तीसरी लहर एंट्री कर चुकी है। हालांकि, कर्नाटक की सरकार ने राज्य में 7 जून तक के संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है, लेकिन बच्चों में कोरोना संक्रमण के आंकड़े को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

कर्नाटक के बच्चों में कोरोना का संक्रमण :

दरअसल, पूरे देश में अब तक ऐसा कोई भी राज्य नहीं है। जहां, कोरोना की दूसरी लहर में इतने बच्चों की जान गई हो। जी हां, आपको जान कर हैरानी होगी कि, कर्नाटक में मात्र दूसरी लहर में 40 हजार से ज्यादा छोटे बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। सबसे ज्यादा सवाल खड़े करने वाली बात यह है कि, कोरोना पॉजिटिव पाए गए बच्चों की उम्र 9 साल से भी कम है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक, कर्नाटक के बच्चों के संक्रमण का आंकड़ा 18 मार्च से 18 मई तक कुछ इस प्रकार रहा।

  • 0-9 साल की उम्र के 39,846 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए।

  • 10-19 उम्र के 1,05,044 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए।

उठ रहे बहुत से सवाल :

बताते चलें, जब देश में कोरोना की एंट्री हुई है तब से इस साल 18 मार्च तक कर्नाटक में 17,841 और 65,551 बच्चे कोरोना से संक्रमित हो चुके है। इन आंकड़ों के आधार पर देखा जाये तो कर्नाटक में इस साल दूसरी लहर में बच्चों में संक्रमण की रफ्तार दोगुनी हो गई है। इन आंकड़ों को देखते हुए लोगों के मन में इस तरह उठ रहे हैं कि, क्या कर्नाटक में कोरोना की तीसरी लहर आचुकी है, या यहां कोरोना की दूसरी लेकर इतने बच्चों को संक्रमित हो चुकी है तो, तीसरी लहर कितनी खतरनाक साबित होगी।

मरने वाले बच्चों का आंकड़ा :

कर्नाटक में कोरोना की चपेट में आकर जिन बच्चों की जान गई है, यदि उस आंकड़े पर नजर डाली जाए तो, पिछले साल से 18 मार्च 2021 तक यहां 28 बच्चों के कोरोना से संक्रमित होने से उनकी मृत्यु हुई और 18 मई तक 15 और बच्चों की जान चली गई। इस बारे में जानकारी देते हुए डॉ. श्रीनिवास कासी बताते हैं कि, 'इस बार जब कोई भी शख्स कोविड पॉजिटिव हो रहा है, उसके दो दिन के भीतर ही घर के बाकी सदस्य भी संक्रमित हो जा रहे हैं। कुछ मामलों में, बच्चे कोविड मरीजों के प्राथमिक संपर्क होते हैं। ज्यादातर मामलों में परिवार में सबसे पहले संक्रमित होने वालों में बच्चे ही होते हैं।'

कर्नाटक में कोरोना का आंकड़ा :

कर्नाटक में शुक्रवार तक कोरोना का नया आंकड़ा 32,218 मामलों का रहा। नए मामलों को जोड़ने के बाद यहां कोरोना के मामलों का कुल आंकड़ा 23,67,742 पर पहुंच गया है। जबकि, पिछले 24 घंटे में 353 लोगों की मौत होने की खबर है। मरने वालों के इस आंकड़े के बाद यहां मौत का कुल आंकड़ा बढ़कर 24, 207 हो गया है। हालांकि, इस दौरान यहां, 52581 लोग रिकवर होकर कोरोना की जंग जीते। बता दें, देशभर के कई राज्यों के बाद कर्नाटक में भी लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गई है, पूरी खबर विस्तार से जानने के लिए -क्लिक करें

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co