बृजभूषण शरण सिंह
बृजभूषण शरण सिंहSyed Dabeer Hussain - RE

6 बार के सांसद, 11 साल से भारतीय कुश्ती महासंघ पर कब्जा, जानिए कौन हैं बृजभूषण शरण सिंह?

बृजभूषण शरण सिंह भारतीय कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष होने के अलावा भारतीय जनता पार्टी के सांसद भी हैं। वे कैसरगंज लोकसभा सीट से सांसद हैं।

राज एक्सप्रेस। इस समय भारतीय कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पूरे देश में चर्चा का विषय बने हुए हैं। भारतीय पहलवानों ने बृजभूषण के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। महिला पहलवान विनेश फोगाट ने बृजभूषण पर महिला खिलाड़ियों का यौन उत्पीड़न करने के आरोप लगाए हैं। वहीं बृजभूषण ने विनेश फोगाट सहित पहलवानों के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। हालांकि इस पूरे मामले की जांच करने के लिए खेल मंत्रालय ने एक जांच समिति का गठन किया है।

कौन हैं बृजभूषण शरण सिंह?

बता दें कि बृजभूषण शरण सिंह भारतीय कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष होने के अलावा भारतीय जनता पार्टी के सांसद भी हैं। वह कैसरगंज लोकसभा सीट से सांसद हैं। वह अब तक 6 बार लोकसभा का चुनाव जीतकर सांसद बन चुके हैं।

कुश्ती का रहा है शौक :

उत्तरप्रदेश के गोंडा जिले के बिशनोहर गांव के रहने वाले बृजभूषण शरण सिंह को बचपन से ही कुश्ती का शौक रहा है। युवावस्था में उन्होंने कुश्ती में खूब हाथ आजमाया। इस बीच साल 1980 में वह छात्र राजनीति में शामिल हो गए। साल 1988 में बृजभूषण भाजपा में शामिल हो गए और राम मंदिर आंदोलन के दौरान उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई।

राजनीतिक सफर :

बृजभूषण ने साल 1991 में पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ा था और जीतकर सांसद बने थे। इसके बाद साल 1999 में बृजभूषण दूसरी बार और साल 2004 में तीसरी बार सांसद बने। साल 2009 का लोकसभा चुनाव बृजभूषण ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर लड़ा और जीतकर चौथी बार सांसद बने थे। इसके बाद समाजवादी पार्टी छोड़कर वह एक बार फिर भाजपा में शामिल हो गए। साल 2014 और साल 2019 में वह भाजपा के टिकट पर सांसद बने थे। बृजभूषण के बेटे प्रतीक भूषण भी राजनीति में हैं और गोंडा से भाजपा विधायक हैं।

भारतीय कुश्ती महासंघ पर कब्जा :

पहलवानों के आरोपों के चलते विवादों में आए बृजभूषण शरण सिंह पिछले 11 सालों से भारतीय कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष हैं। वे साल 2011 में भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बने थे और उसके बाद से लगातार पद पर बने हुए हैं। महासंघ पर उनके दबदबे के पीछे उनके राजनीतिक रसूख को वजह बताया जाता है। यहीं कारण है कि कई बार विवादों में आने के बावजूद वे पद पर बने हुए हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co