कोरोना की दूसरी लहर में वायरस के संक्रमण से जूझते 646 डॉक्टरों की मौत
कोरोना की दूसरी लहर में वायरस के संक्रमण से जूझते 646 डॉक्टरों की मौतSocial Media

कोरोना की दूसरी लहर में वायरस के संक्रमण से जूझते 646 डॉक्टरों की मौत

देश, स्वास्थ्य व्यवस्था और डॉक्टरों की कमी जैसी संकट से जूझ रहा है, ऐसे में कोरोना की दूसरी लहर में लगातार डॉक्टरों की मौत के आंकड़ों में वृद्धि दर्ज हो रही है।

दिल्‍ली, भारत। देश में आई महामारी कोरोना का ग्रहण न जाने कब खत्‍म होगा। ये महामारी इतनी घातक है कि, भगवान समान डॉक्‍टरों को भी नहीं छोड़ रही है। देश में डॉक्‍टरों को कोरोना वॉरियर के नाम की पहचान दी गई है और ऐेसे में लगातार ही डॉक्टरों की मौत का सिलसिला जारी है।

दूसरी लहर में 646 डॉक्टरों की मौत :

भारत में कोरोना की दूसरी लहर का संक्रमण काफी खतरनाक रहा है, यहां तक की इस महामारी का सामने आकर मुकाबला कर डॉक्टर एवं स्वास्थ्यकर्मी भी इस घातक वायरस से संक्रमित हो रहे हैं और कई डॉक्टराें की मौत भी हो रही है। डॉक्‍टर्स अपनी जिम्‍मेदारी को निभाते हुए अपनी जान पर खेलकर इस बीमारी की चपेट में आने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे है, उन डॉक्टरों की मौत के आंकड़ों में लगातार वृद्धि दर्ज हो रही है। हाल ही में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस की दूसरी लहर में कोरोना से 646 डॉक्टरों की मौत हुई है।

कमजोर न पड़ जाए कोरोना के खिलाफ लड़ाई :

बताते चलें कि, सिर्फ इसी लहर के जानलेवा संक्रमण से जूझते अभी तक देश में 600 से अधिक भगवान समान डॉक्टरों की कोरोना ने जान निगल ले ली है। भगवान समान डॉक्‍टरों को देश में कोरोना वॉरियर के नाम की पहचान दी गई है और ऐेसे में इतनी बढ़ी तादाद में डॉक्टरों की ही मौत हो रही है। ऐसे हालातों में कोरोना के खिलाफ लड़ाई कहीं कमजोर न पड़ जाए, क्‍योंकि ऐसे में देश में पहले ही स्वास्थ्य व्यवस्था और डॉक्टरों की कमी जैसी संकट आ चुका है। इससे पहले इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के आंकड़ों में महामारी की दूसरी लहर में 420 डॉक्टरों की जान गई है और इसमें दिल्ली के 100 डॉक्टर भी शामिल थे।

हालांकि, अब देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर कंट्रोल में आ रही है, महामारी का फैलाव धीरे-धीरे कम हो रहा है, लेकिन इसी इस घातक वायरस का खतना टला नहीं है। देशभर में महामारी कोरोना की दूसरी लहर के संक्रमण से निपटने के लिए दवाई और कड़ाई के साथ इस वायरस के खिलाफ संघर्ष जारी है, जिसके चलते अब प्रतिदिन सामने आने वाले मामलों का आंकड़ा 1 लाख के करीब आ रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co