विशेष श्रमिक ट्रेन 7 से 8 दिन विलंब-भूख-प्यास से 7 की मौत: मिश्रा
विशेष श्रमिक ट्रेन 7 से 8 दिन विलंब-भूख-प्यास से 7 की मौत: मिश्राSocial Media

विशेष श्रमिक ट्रेन 7 से 8 दिन विलंब-भूख-प्यास से 7 की मौत: मिश्रा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व बिहार विधान परिषद के सदस्य प्रेमचंद्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि, बिहार के श्रमिकों के प्रति घोर उदासीनता के कारण श्रमिक ट्रेन 7 से 8 दिन देर से चल रही है।

राज एक्‍सप्रेस। खतरनाक कोरोना वायरस की चलते जारी लॉकडाउन में मजदूरों की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही, उन पर एक न एक दु:ख का पहाड़ टूट ही रहा है, हालांकि इन प्रवासी मजदूरों के लिए स्‍पेशन ट्रेन की सुविधा मुहैया कराई गई है, लेकिन इसके बावजूद भी कुछ शिकायतें सामने आ रही हैं।

7-8 दिन विलंब चल रही विशेष श्रमिक ट्रेन :

अब हाल ही में कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता और बिहार विधान परिषद के सदस्य प्रेमचंद मिश्रा ने ये आरोप लगाया कि, केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय की बिहार के श्रमिकों के प्रति घोर उदासीनता के कारण विशेष श्रमिक ट्रेन सात से आठ दिन विलंब से चल रही है और इसके कारण ही कल भूख-प्यास से 7 मजदूरों की मौत हो गई।

केंद्र और रेल मंत्रालय बिहार के श्रमिकों की घर वापसी के मामले में घोर उदासीनता बरत रहा है, जिसके कारण सूरत, भरूच और मुंबई से चली ट्रेन दो दिनों में पहुंचने की बजाए ट्रेन सात से आठ दिन विलंब से बिहार पहुंच रही है। ट्रेन में खाने-पीने तक का इंतजाम नहीं है।
प्रेमचंद मिश्रा, बिहार विधान परिषद सदस्य

सात प्रवासी मजदूरों की भूख-प्यास से मौत :

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेमचंद मिश्रा द्वारा ये आरोप भी लगाया गया है कि, सूरत से चली ट्रेन नौ दिनों के बाद कल पटना पहुंची, जिसके कारण इस ट्रेन में सवार सात प्रवासी मजदूरों की भूख-प्यास से मौत हो गई।

कांग्रेस नेता का कहना है कि, मजदूरों की मौत के लिए किसी न किसी को तो जिम्मेदारी लेनी ही होगी। यदि यह ट्रेन सही समय पर चली होती तो शायद मजदूरों की भूख-प्यास से मौत नहीं हुई होती। आश्चर्य की बात है कि दरभंगा और पटना आने वाली दो ट्रेन बंगलुरु और ओडिशा चली गईं। ऐसा लगता है कि रेल मंत्रालय को देखने वाला कोई नहीं है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co