कर्त्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस का भव्‍य समारोह
कर्त्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस का भव्‍य समारोह Social Media

कर्त्तव्य पथ पर 74वें गणतंत्र दिवस पर बना इतिहास- परेड में दिखे सभी स्वदेशी हथियार व सशक्‍त भारत की झांकी

दिल्ली के कर्त्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस पर भव्य समारोह हो रहा है। इस दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू व मुख्‍य अतिथि यहां पहुंच गए है। इस दौरान कार्यक्रम की खास बातें यहां देखें...

दिल्‍ली, भारत। आज देशवासी 74वें गणतंत्र दिवस का जश्‍न मना रहे है, जिसके चलते पूरे देश में उत्साह का माहौल है, जगह-जगह ध्‍वाजारोहण हो रहा है। इस बीच राजधानी दिल्ली के कर्त्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस पर भव्य समारोह आयोजित हुआ, जिसमें शामिल होने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे। आज गणतंत्र दिवस के भव्य समारोह में कर्त्तव्य पथ पर बेहद खूबसूरत व पहली बार गर्व के क्षण दिखें।

गणतंत्र दिवस पर भव्य समारोह में पहुंचे मुख्‍य अतिथि :

ध्वजारोहण समारोह के साथ गणतंत्र दिवस 2023 समारोह शुरू होगा। इस दौरान भारत में गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी है, वे भी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु के साथ समारोह में पहुंचे, इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया।

राष्ट्रपति ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज :

74वें गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने कर्तव्य पथ पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और उसके बाद 21 तोपों की सलामी के साथ राष्ट्रगान हुआ। पहली बार, 21 तोपों की सलामी 105 मिमी की भारतीय फील्ड गन से दी गई। इन फील्ड गन ने पुरानी 25 पाउंडर बंदूक की जगह ली, जो रक्षा क्षेत्र में बढ़ती 'आत्मनिर्भरता' को प्रदर्शित करती है। 105 हेलिकॉप्टर यूनिट के चार एमआई-17 1वी/वी5 हेलिकॉप्टर कर्तव्य पथ पर मौजूद दर्शकों पर पुष्प वर्षा कर रहे हैं।

पहली बार भारतीय तोपों ने दी सलामी :

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी ने राष्ट्रपति के अंगरक्षक से राष्ट्रीय सलामी ली। इसके बाद गणतंत्र दिवस परेड की शुरुआत परमवीर चक्र और अशोक चक्र के विजेताओं के साथ हुई। खास बात तो यह है कि, अभी तक ब्रिटेन में बनी तोपों से सलामी के साथ गणतंत्र दिवस परेड की शुरूआत होती थी, लेकिन इस बार 74वें गणतंत्र दिवस समारोह पर एक नया इतिहास बना है और यह खास अवसर है, जब गणतंत्र दिवस परेड की शुरुआत भारतीय तोपों ने सलामी के साथ हुई। पहली भारतीय तोपों ने सलामी दी है।

गणतंत्र दिवस की परेड के दौरान दिखे सभी स्वदेशी हथियार-

कर्तव्य पथ पर परेड के दौरान सभी स्वदेशी हथियार 'अर्जुन टैंक, वज्र तोपों और आकाश मिसाइल सिस्टम के अलावा ब्रह्मोस मिसाइल' दिखी।

  • एयर डिफेंस मिसाइल रेजिमेंट की ओर से आकाश वेपन सिस्टम को लेफ्टिनेंट चेतना शर्मा ने लीड किया, उनके साथी लीडर थे कैप्टन सुनील दशराथे।

  • स्क्वाड्रन लीडर सिंधु रेड्डी के नेतृत्व में भारतीय वायु सेना के दल में 144 वायु सैनिक और चार अधिकारी शामिल हुए।

  • लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा अमृत के नेतृत्व में 144 युवा नाविकों की नौसेना टुकड़ी ने आकस्मिक कमांडर के रूप में कर्तव्य पथ पर मार्च किया। इतिहास में पहली बार मार्च करने वाली टुकड़ी में 3 महिलाएं और 6 पुरुष अग्निवीर शामिल हैं।

  • मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री रेजिमेंट, पंजाब रेजिमेंट, मराठा लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट, डोगरा रेजिमेंट, बिहार रेजिमेंट और गोरखा ब्रिगेड सहित सेना की कुल छह टुकड़ियों ने सलामी दी।

  • परेड में 861 मिसाइल रेजीमेंट की ब्रह्मोस भी शामिल रही। लेफ्टिनेंट प्रज्वल कला के नेतृत्व में दुनिया ने भारत के इस मिसाइल सिस्टम की ताकत देखी। 

गणतंत्र दिवस की परेड में नजर आई यह झांकियां :

यहां देखें गणतंत्र दिवस परेड 2023 का सुंदर नजारा :

राष्ट्रीय समर स्मारक पहुंचे PM मोदी :

तो वहीं, 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र दिल्‍ली के राष्ट्रीय समर स्मारक पहुंचे, यहां उनकी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आगवानी की। यहां PM मोदी राष्ट्र के शहीद नायकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद राष्ट्रीय समर स्मारक की डिजिटल आगंतुक पुस्तिका में अपने विचार लिखे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co