भारतीय रिज़र्व बैंक ने जारी किए नए दिशा-निर्देश
भारतीय रिज़र्व बैंक ने जारी किए नए दिशा-निर्देश|भारतीय रिज़र्व बैंक, ट्विटर
भारत

RBI की नई गाइडलाइंस, अब वीडियो कॉल के ज़रिए हो सकेगी KYC

भारतीय रिज़र्व बैंक ने केवायसी (KYC) कराने के लिए नए नियमों की घोषणा की। अब वीडियो कॉल के ज़रिए हो सकेगी केवायसी।

प्रज्ञा

प्रज्ञा

राज एक्सप्रेस। भारतीय रिज़र्व बैंक ने केवायसी (KYC) के जुड़े नए नियमों की घोषणा की है। अब बैंक्स वीडियो के ज़रिये अपने ग्राहकों की केवायसी (Know your costumer) कर सकेंगे। आरबीआई ने मास्टर केवायसी दिशा-निर्देशों में संशोधन किया है, यानि अब केवायसी की प्रक्रिया मोबाइल वीडियो बातचीत के आधार पर हो सकेगी। केंद्रीय बैंक द्वारा रेगुलेट किए जाने वाले बैंकों, गैरबैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC), वॉलेट सर्विस प्रोवाइडर्स और अन्य वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों के लिए यह बड़ी राहत की बात है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आरबीआई के दिशा-निर्देशों में बदलाव से अब दूरदराज के इलाकों में रहने वाले ग्राहकों को अब आसानी होगी और खर्च भी घटेगा। इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने आधार और अन्य ई-दस्तावेजों के ज़रिये ई-केवायसी तथा डिजिटल केवायसी (KYC) की सुविधा भी शुरू कर दी है।

आरबीआई के इस कदम से भारतीय बाजार उन चुनिंदा बाज़ारों में शामिल हो गया है जहां नियमों में संशोधन कर वीडियो केवायसी को मंजूरी दे दी गई है। केवायसी नियमों में संशोधन करने वाले आरबीआई के नोटिफिकेशन के मुताबिक, केंद्रीय बैंक ने वीडियो आधारित कस्टमर आइडेंटिफिकेशन प्रॉसेस (VCIP) को ग्राहक अनुमति आधारित वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में पेश किया है ताकि कस्टमर्स की पहचान करना आसान हो सके।

इस प्रावधान के तहत दूरदराज के इलाकों में मौजूद फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन का अधिकारी पैन या आधार कार्ड और कुछ सवालों के जरिये ग्राहक की पहचान कर सकेंगे। एजेंट को सुनिश्चित करना होगा कि वह देश में ही मौजूद है। ऐसा करने के लिए कस्टमर की भौगोलिक लोकेशन को कैप्चर करना होगा।

केवायसी के लिए वीडियो कॉल संबंधित बैंक के डोमेन से किया जाना चाहिए, न कि गूगल ड्यूओ या वॉट्सऐप जैसी थर्ड पार्टी सोर्स के जरिये। एक्सपर्ट्स का कहना है कि, बैंकों को वीडियो केवायसी प्रॉसेस शुरू करने से पहले अपनी ऐप्लिकेशन्स और वेबसाइट को लिंक करना होगा। नोटिफिकेशन के मुताबिक, VCIP की प्रक्रिया इस काम के लिए ट्रेंड अधिकारियों से ही करवाई जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co