भारत में कोरोना संकट के बाद चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा बढ़ा
भारत में कोरोना संकट के बाद चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा बढ़ा|Social Media
भारत

भारत में कोरोना संकट के बाद चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा बढ़ा

भारत में एक संकट टला नहीं था कि दूसरा संकट सामने आ खड़ा हुआ है 'अम्फान' तूफान के रूप में इस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से फोन पर बात की है।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। भारत में चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा बढ़ता जा रहा है। मौसम विभाग ने 20 मई तक पश्चिम बंगाल और ओडिशा में सभी फिशिंग एक्टिविटी को सस्पेंड करने को कहा है। मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि तूफान अम्फान 20 मई यानी बुधवार को पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा। इस तूफान से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार एक्शन में आ गई है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से फोन पर बात की है। उन्होंने ममता बनर्जी को चक्रवात 'अम्फान' के कारण उत्पन्न होने वाली स्थितियों से निपटने में मदद का आश्वासन दिया है। अमित शाह ने कहा कि केंद्र राज्य को मदद करने को प्रतिबद्ध है और एनडीआरएफ की टीम तैनात हो चुकी है। राज्यों की ओर से मांगी गई सभी जरूरतों को केंद्र सरकार पूरा करने को तैयार है।

मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिम बंगाल के दक्षिण-दक्षिणपश्चिम दीघा से 670 किलोमीटर दूर स्थित यह तूफान उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी के पास उत्तर-उत्तरपूर्व दिशा की तरफ बढ़ेगा और आज दोपहर या बुधवार शाम में 'अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान' का रूप लेकर पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा। मौसम वैज्ञानिकों ने कहा है कि 'अम्फान' 20 मई को बेहद भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में पश्चिम बंगाल में दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच पश्चिम बंगाल- बांग्लादेश तटों से गुजर सकता है।

मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया है और आगाह किया है कि कोलकाता, हुगली, हावड़ा, दक्षिण और उत्तर 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर जिलों में बड़े पैमाने पर नुकसान हो सकता है। मौसम वैज्ञानिकों ने कहा कि कई स्थानों पर रेल एवं सड़क मार्ग बाधित हो सकते हैं, बिजली एवं संचार के खंभे उखड़ सकते हैं और सभी प्रकार के 'कच्चे घरों को अत्यंत नुकसान होगा। इसके साथ ही मौसम विभाग में खेत में फसलों और बगीचों के पेड़ों के भारी नुकसान की आशंका भी जताई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co