All Delhi schools will remain closed till 31 July
All Delhi schools will remain closed till 31 July|Kavita Singh Rathore -RE
भारत

दिल्ली के सभी स्कूलों को लेकर डिप्टी CM का बड़ा ऐलान

नई दिल्ली: डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने राजधानी में स्कूल दोबारा खोलने को लेकर शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद बड़ा ऐलान किया।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

नई दिल्ली। देश में एक तरफ कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते कई स्टूडेंट्स की बोर्ड परीक्षा तक नहीं हो पा रही है। ऐसे में सरकार के लिए स्कूलों को खोलने का फैसला ले पाना सरकार के लिए बहुत ही मुश्किल हो रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए फिलहाल देश की राजधानी दिल्ली में स्कूलों को न खोलने का फैसला लिया गया है। इस बारे जानकारी डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने दी।

डिप्टी CM ने दी जानकारी :

दरअसल, शुक्रवार को दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने एक उच्च स्तरीय बैठक ली। जिसमें दिल्ली में कोरोना के हालातों को लेकर चर्चा की गई और फैसला लिया गया कि, दिल्ली में 31 जुलाई तक स्कूलों को बंद रखा जाएगा। बताते चलें, इस बैठक में दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के शिक्षकों और अभिभावकों से भी सुझाव लिए गए है। उनके आधार पर सहमति बनने पर ही यह फैसला लिया गया है। इस बैठक में दिए गए कई सुझाव शामिल किये गए है। इसके अलावा डिप्टी CM ने कहा कि,

'राजधानी दिल्ली में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामले को देखते हुए सरकार ने सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों को 31 जुलाई तक बंद रखने का फैसला किया है।'

मनीष सिसोदिया, डिप्टी CM

प्राथमिक कक्षाओं के लिए शामिल किये गए सुझाव :

इस बैठक में सुझाव शामिल किए गए थे। इनमें प्राथमिक कक्षाओं के लिए 12 से 15 स्टूडेंट की पूरे सप्ताह के दौरान सिर्फ एक या दो क्लास लगाए जाने को लेकर सुझाव आया है। जबकि 3-5 क्लास तक को वैकल्पिक दिन में लेने को लेकर सुझाव आया है। ठीक इसी तरह कक्षा 6 से 8 के लिए कम छात्रों को लेकर सप्ताह में एक या दो दिन क्लास लेने के सुझाव की पेशकश हुई। साथ ही छात्रों को ऑनलाइन क्लासेस सलाह भी दी गई। इसके अलावा छात्रों का सैनिटाइजेशन करने, मास्क वितरित करने, स्टूडेन्ट्स की थर्मल स्क्रीनिंग के साथ सेलेब्स कम करने को लेकर भी कई सुझाव शिक्षकों व अभिभावकों ने पेश किए।

9वीं और 10 वीं कक्षाओं के लिए शामिल किये गए सुझाव :

9वीं और 10 वीं कक्षा के लिए भी कम स्टूडेंट की पूरे सप्ताह के दौरान सिर्फ एक या दो क्लास लगाए जाने को लेकर सुझाव आया है। जबकि 11वीं और 12वीं की तक की क्लास वैकल्पिक दिन में लेने को लेकर सुझाव आया है। बाकि दिनों में छात्रों को ऑनलाइन क्लासेस का सुझाव दिया गया। बता दें, बैठक के दौरान ही डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने बताया कि, "हमें सभी के द्वारा सुझाये गए सुझावों को ध्यान में रख कर स्कूलों को खोलने की तैयारी करनी चाहिए। जिससे स्टूडेंट्स कोरोना के माहौल में भी जीना सीख सके।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co