दिल्ली : आज मध्य रात्रि बंद हो जाएंगे सभी सरकारी ठेके, लागू होगी आबकारी निति
दिल्ली : आज मध्य रात्रि बंद हो जाएंगे सभी सरकारी ठेके Social Media

दिल्ली : आज मध्य रात्रि बंद हो जाएंगे सभी सरकारी ठेके, लागू होगी आबकारी निति

दिल्ली में शराब के सरकारी ठेकों को बंद करने का फैसला लिया गया है। हालांकि, यह ठेके हमेशा के लिए नहीं बल्कि कुछ दिनों के लिए बंद किये जाएंगे। यह सभी ठेके कल यानी 17 नवंबर से बंद कर दिए जाएँगे।

दिल्ली, भारत। यदि आप शराब पीने के शौकीन हैं और आप दिल्ली में रहते हैं तो, ध्यान दें, यह खबर आपके काम की हो सकती है। साथ ही यह खबर आपको निराश भी कर सकती है। दरअसल, अब दिल्ली में शराब के सरकारी ठेकों को बंद करने का फैसला लिया गया है। हालांकि, यह ठेके हमेशा के लिए नहीं बल्कि कुछ दिनों के लिए बंद किये जाएंगे। यह सभी ठेके कल यानी 17 नवंबर से बंद कर दिए जाएँगे। बता दें, इन दिनों के दौरान प्राइवेट शराब के ठेकों पर शराब की बिक्री चालू रहेगी।

दिल्ली में आज सरकारी ठेकों का आखिरी दिन :

खबरों की मानें तो, दिल्ली सरकार कल 17 नवंबर से पूरे राज्य में नई आबकारी नीति (Excise Policy) लागू कर दी है। इसी के चलते इससे पहले दिल्ली में 1 अक्टूबर से 16 नवंबर के बीच 47 दिनों के लिए शराब के प्राइवेट ठेकों को बंद कर दिया गया था। वहीं, अब यहां सरकारी ठेकों को बंद कर दिया जाएगा। यह सभी सरकारी ठेके आज मध्य रात्रि से बंद कर दिए जायेंगे। जबकि, अब यहां प्राइवेट ठेके खुले रहेंगे तो, शराब के शौकीन लोगों के लिए राहत की बात यह है कि, वह दिल्ली के इन प्राइवेट ठेकों से शराब खरीद सकते हैं। यानी आज दिल्ली में लगभग 400 सरकारी ठेकों (शराब की दुकानों) का आखिरी दिन है।

350 ठेकों का संचालन शुरू होने की संभावना :

बताते चलें, दिल्ली में बुधवार सुबह (17 नवंबर) से लागू होने वाली नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली की सभी प्राइवेट शराब की दुकानें खोल दी गई हैं, जबकि सरकारी दुकानें बंद कर दी गई हैं। बता दें, दिल्ली में कुल लगभग 850 ठेके (शराब की दुकानें) हैं। इनमें लगभग 260 प्राइवेट और 460 सरकारी ठेके शामिल हैं। जबकि, इनमें से 88 देशी शराब के ठेके हैं। इसके अलावा 32 जोन में आवेदकों को लाइसेंस वितरित कर दिया गया है। कल लगभग 350 ठेकों का संचालन शुरू किया जा सकता है।

आबकारी विभाग के सूत्रों का कहना :

आबकारी विभाग के सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, 'नई व्यवस्था के तहत पहले दिन यानी बुधवार को 300-350 दुकानों का संचालन शुरू होने की संभावना है। ऐसे में शराब मिलने में कठिनाई संभव है। 350 दुकानों को अंतरिम लाइसेंस वितरित किया गया है। 10 थोक लाइसेंसधारियों के साथ 200 से अधिक ब्रांड पंजीकृत किए गए हैं।' बता दें प्राइवेट शराब की दुकानों ने पहले ही 30 सितंबर को अपना संचालन बंद कर दिया था और डेढ़ महीने के संक्रमण काल में चल रहे सरकारी ठेके भी मंगलवार की रात को अपना कारोबार खत्म कर लेंगे।

अब कुछ ऐसी होंगी शराब की दुकानें :

नई व्यवस्था लागू होने के बाद कुछ ऐसा होगा -

  • दिल्ली सरकार खुदरा शराब के व्यापार से बाहर हो जाएगी।

  • शराब की दुकानें कम से कम 500 वर्ग फुट क्षेत्र में तैयार की जाएंगी।

  • सभी दुकानों को वातानुकूलित बनाया जाएगा।

  • सभी शराब की दुकानों में सीसीटीवी लगाएं जाएंगे।

  • नई दुकान की वजह से सड़क पर भीड़ नहीं लगेगी। क्योंकि, शराब की बिक्री सिर्फ दुकानों के अंदर ही होगी।

  • नई आबकारी नीति के तहत 2,500 वर्ग फुट के क्षेत्रफल वाले पांच सुपर-प्रीमियम खुदरा विक्रेता भी दुकान खोलेंगे, जहां शराब पीने की भी सुविधा दी जाएगी।

प्राइवेट दुकानों का लाइसेंस कैंसल :

बताते चलें, बीते महीनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आबकारी नीति के तहत दिल्ली में चल रहे प्राइवेट शराब के ठेकों के लाइसेंस की वैधता को बढ़ाने का फैसला लिया था, लेकिन बाद में केजरीवाल सरकार ने साफ कर दिया था कि, यह वैधता नहीं बढ़ाई जाएगी। वहीं, अब 17 नवंबर से नई आबकारी नीति के तहत प्राइवेट ठेकों को फिर से खोल दिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co