अगले अकैडमिक सेशन से 9 क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ाया जाएगा पाठ्यक्रम
All technical Courses Will Taught in 9 Regional LanguagesSocial Media

अगले अकैडमिक सेशन से 9 क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ाया जाएगा पाठ्यक्रम

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें पाठ्यक्रम को क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ाने को लेकर चर्चा की गई।

राज एक्सप्रेस। ऐसे स्टूडेंट्स जिसकी अब कॉलेज की पढ़ाई शुरू होने वाली है और उन्हें हिंदी और अंग्रेजी भाषा समझने में तकलीफ होती है तो, ऐसे सूडेन्ट्स को सरकार ने रहत देने का ऐलान किया है। दरअसल, बीते महीनों सरकार द्वारा शिक्षा निति में बदलाव किया गया था। जिसके तहत सरकार ने सभी स्टूडेंट्स को अपनी भाषा में पढ़ाई करने का अधिकार दिया था। वहीं, अब अगले अकैडमिक सेशन से यह नियम लागू होने जा रहा है। इस बारे में फैसला केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान लिया गया।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक :

बताते चलें, शुक्रवार को केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें पाठ्यक्रम को क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ाने को लेकर चर्चा की गई। इस चर्चा के बाद अंतिम फैसला लिया गया है कि, अगले अकैडमिक सेशन से इंजीनियरिंग समेत सभी टेक्नोलॉजी से जुड़े पाठ्यक्रम को स्टूडेंट्स को उनकी क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ाए जाएंगे। इतना ही नहीं इसके लिए शिक्षा मंत्रालय ने कुछ IIT और NIIT को लिस्टिड भी कर लिया है। जिससे स्टूडेंट्स को सुविधा मिल सके।

9 क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित की जाएगी JEE और NEET परीक्षा :

खबरों की मानें तो, इस बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा साल 2021 से JEE और NEET परीक्षा का आयोजन हिंदी और अंग्रेजी के अलावा अन्य 9 क्षेत्रीय भाषाओं में भी किया जाएगा। इस बारे में शुक्रवार को घोषणा कर जानकारी दी गई है कि, NTA इन परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स के लिए सिलेबस भी तैयार करेगी।

UGC को जारी किए गए निर्देश :

बताते चलें, इस बारे में UGC को भी निर्देश जारी किए गए है कि, 'वह समय पर ही छात्रवृत्ति का वितरण करें और उसके लिए एक हेल्पलाइन भी जल्द शुरू की जाए और छात्रों की सभी शिकायतों का तुरंत हल किया जाए।

पिछले महीने NTA ने की थी घोषणा :

बताते चलें, इसी साल पिछले महीने राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा घोषणा की गई थी कि, 'साल 2021से JEE(मुख्य) परीक्षा का आयोजन हिंदी और अंग्रेजी के अलावा नौ क्षेत्रीय भाषाओं में भी किया जाएगा। हालांकि, IIT की तरफ से इस बारे में कोई फैसला नहीं लिया गया है। इस मामले में अंतिम फैसला IIT औऱ NIIT के फैसले के बाद ही लिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co