असम में अमित शाह का धमाकेदार प्रचार- असम के युवाओं को प्रदान करेंगे जॉब्‍स
असम में अमित शाह का धमाकेदार प्रचार- असम के युवाओं को प्रदान करेंगे जॉब्‍सTwitter

असम में अमित शाह का धमाकेदार प्रचार- असम के युवाओं को प्रदान करेंगे जॉब्‍स

असम में भाजपा के वरिष्‍ठ नेता लगातार एक के बाद धमाकेदार प्रचार कर रहे हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने अब हाजो कामरूप में एक जनसभा को संबोधित कर जनता को बताया, हम ये काम करेंगे...

असम, भारत। चुनावी राज्‍य असम में अपनी पार्टी की जीत के लिए भाजपा के वरिष्‍ठ नेता लगातार एक के बाद धमाकेदार प्रचार कर रहे हैं। देश के गृह मंत्री अमित शाह ने असम के चिरांग में जनसभा के बाद हाजो कामरूप में एक जनसभा को संबोधित किया।

आजकल राहुल बाबा असम में पर्यटन पर निकले हैं :

हाजो कामरूप में जनसभा को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- आज असम भारत में हैं, तो इसका एकमात्र कारण है गोपीनाथ बोरदोलोई जी। अगर गोपीनाथ जी न होते तो आज असम भारत में न होता। आजकल राहुल बाबा असम में पर्यटन पर निकले हैं। राहुल बाबा ने एक बात कही कि, असम की पहचान बदरुद्दीन अजमल हैं। बदरुद्दीन अजमल असम की पहचान हो सकते हैं क्या?

क्या आप पीएम मोदी का आत्मनिर्भर असम चाहते हैं या मौलाना अजमल-भरोसेमंद असम? असम की सांस्कृतिक विरासत को केवल भाजपा ही बचा सकती है।
गृह मंत्री अमित शाह

अमित शाह ने बताया हम ये काम करेंगे :

  • हम 2022 तक असम के युवाओं को 2 लाख सरकार और 8 लाख निजी नौकरियां प्रदान करेंगे।

  • हम गुवाहाटी को दक्षिण पूर्व एशिया की स्टार्ट-अप राजधानी बनाने की दिशा में काम करेंगे।

  • हम हमारे मेनिफेस्टो को लेकर आये। हमने वादा किया है कि, असम और नॉर्थईस्ट के बैंबू को कागज में और अन्य दूसरे उत्पादों में परिवर्तित करके असम की जनता को आत्मनिर्भर बनाने का काम करेंगे।

  • असम के हर गांव में बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। असम भारत का स्पोर्ट हब बनें, इसलिए 2038 के एशियाई खेलों के लिए गुवाहाटी को तैयार करने का काम किया जाएगा।

  • सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं का लाभ सभी को मिलेगा। हर परिवार को स्वच्छ पानी और घर उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें अल्पसंख्यक भी शामिल होंगे।

  • सभी किसानों को हर आदिवासी किसान, अल्पसंख्यक, बोडो और बहुसंख्यकों को 10,000 रुपये मिलेंगे। अलगाववाद की राजनीति कांग्रेस की संस्कृति है, भाजपा की नहीं।

  • कामरूप जिला और हाजों के अंदर हमने 3,740 गरीबों के मकान बनाएं हैं, जिनमें 1,200 से ज्यादा माइनॉरिटी भाइयों के मकान हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 1,700 मकान बनाएं गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co