चीन मुद्दे पर अमित शाह की राहुल गांधी को संसद में बहस की चुनौती
चीन मुद्दे पर अमित शाह की राहुल गांधी को संसद में बहस की चुनौती|Social Media
भारत

चीन मुद्दे पर अमित शाह की राहुल गांधी को संसद में बहस की चुनौती

लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच सियासी घमासाम तेज हो गया है, क्‍योंकि अब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को संसद में भारत-चीन पर बात करने व बहस की खुली चुनौती दी है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्ली, भारत। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनावपूर्ण माहौल व LAC पर गलवान घाटी में हुई झड़प में 20 जवानों की शहादत के बाद से सियासत घमासाम अब जोरों पर आ गया है, क्‍योंकि अब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को संसद में बहस की खुली चुनौती दी है।

राहुल गांधी कभी भी संसद में कर सकते हैं बात :

गृहमंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि, वह चर्चा से नहीं डरते। राहुल गांधी कभी भी संसद में भारत-चीन पर बात कर सकते हैं, लेकिन जब जवान चीन का सामना कर रहे हैं, उस वक्त ऐसे बयान नहीं देने चाहिए, जिससे पाकिस्तान और चीन को खुशी हो।

अमित शाह ने कहा, ''पार्लियामेंट होनी है, चर्चा करनी है तो आइये करेंगे। 1962 से आज तक दो-दो हाथ हो जाएंगे। राहुल गांधी इस समय एक छिछली सोच वाली राजनीति में शामिल हैं, चीन के मुद्दे पर बहस के लिए तैयार हैं।''

भारत दो लड़ाई जीतने जा रहा :

इसी दौरान अमित शाह ने कोरोना और सीमा पर जारी तनाव को लेकर कहा कि, साफ कर दूं कि पीएम मोदी की अगुवाई में भारत दोनों ही लड़ाई जीतने जा रहा है, भारत सरकार कोरोना से बहुत अच्छी से लड़ रही है। वह राहुल गांधी को सलाह नहीं दे सकते हैं, यह उनके पार्टी नेताओं की काम है। कुछ लोगों की वक्रदृष्टि होती है ऐसे लोग सही में भी हमेशा गलत ढूंढते हैं। आगे उन्‍होंने कहा कि, कोरोना से भारत अच्छी तरह से लड़ा है और हमारे नंबर बाकी देशों से अच्छे हैं। इसके अलावा कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ये बात भी कही-

इंदिरा जी के बाद क्या गांधी परिवार के अलावा भी कोई अध्यक्ष रहा है, किस लोकतंत्र की वे बात कर रहे हैं। मैंने किसी कोरोना संकट के समय किसी भी तरह की राजनीति नहीं की है, मैं बीते 10 सालों से 25 जून के दिन ट्वीट करता हूं। आपातकाल को लोगों को हमेशा याद रखना चाहिए, क्योंकि इसने लोकंतत्र की जड़ों पर हमला किया। किसी भी नागरिक या राजनीतिक कार्यकर्ता को भूलना नहीं चाहिए।

अमित शाह

कोरोना संकट में ओछी राजनीति :

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि, वो भारत के खिलाफ चलाए जा रहे प्रोपेगेंडा से निपटने में सक्षम हैं, लेकिन यह दुख की बात है कि एक बड़ी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष कोरोना संकट के समय ओछी राजनीति कर रहे हैं। यह विषय उनके और उनकी पार्टी के लिए फिर से विचार के लिए है, उनके ट्वीटर उनकी ओर से चलाए जा रहे हैशटैग चीन और पाकिस्तान का समर्थन मिल रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co