अमित शाह ने रानी गाइदिन्ल्यू आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय की रखी आधारशिला
रानी गाइदिन्ल्यू आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय की आधारशिलाPriyanka Sahu -RE

अमित शाह ने रानी गाइदिन्ल्यू आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय की रखी आधारशिला

मणिपुर के सिटी कन्वेंशन सेंटर, इम्फाल पूर्व में 'रानी गाइदिन्ल्यू ट्राइबल फ्रीडम फाइटर्स म्यूजियम' की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आधारशिला रखी और अपने कही ये बात...

मणिपुर, भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज सोमवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिए मणिपुर के सिटी कन्वेंशन सेंटर, इम्फाल पूर्व में 'रानी गाइदिन्ल्यू ट्राइबल फ्रीडम फाइटर्स म्यूजियम' की आधारशिला रखी।

विभिन्न राज्यों में इस तरह के संग्रहालय बनाने का फैसला किया :

रानी गाइदिन्ल्यू ट्राइबल फ्रीडम फाइटर्स म्यूजियम के शिलान्‍यास कार्यक्रम के दौरान मणिपुर के मुख्यमंत्री श्री नोंगथोम्बम बीरेन सिंह, केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री श्री अर्जुन मुंडा और अन्य गणमान्य उपस्थित रहे। लुआंगकाओ गांव में रानी गैदिन्लिउ आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय की आधारशिला के अवसर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने संबोधन में बताया- देश के विभिन्न हिस्सों में बन रहे आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के संग्रहालय हमारे समाज को एकजुट करने में मदद करेंगे। भारत की आजादी में आदिवासी आबादी के संघर्षों और बलिदानों को शहरी नहीं जानते, यही वजह है कि, पीएम मोदी ने विभिन्न राज्यों में इस तरह के संग्रहालय बनाने का फैसला किया। सरकार ने 195 करोड़ रुपये का निवेश किया है, जिसमें से 110 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं।

जब आज़ादी के 100 साल पूरे होंगे उस वक़्त का भारत कैसा होगा। उस वक़्त भारत कहां खड़ा होगा। भारत विश्व के प्रमुख देशों में अपनी जगह बना लेगा। इस आत्मविश्वास के साथ देश की जनता को संकल्प लेना है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

बता दें कि, रानी गाइदिन्ल्यू को 1972 में ताम्रपत्र, 1982 में पद्म भूषण, 1983 में विवेकानंद सेवा सम्मान, 1991 में स्त्री शक्ति पुरस्कार और 1996 में भगवान बिरसा मुंडा पुरस्कार से मरणोपरांत सम्मानित किया गया था। राज्य मंत्रिमंडल ने तामेंगलोंग जिले के लुआंगकाओ गांव में संग्रहालय स्थापित करने का निर्णय लिया था, जो कि प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी रानी गैडिनल्यू का जन्मस्थान है और संग्रहालय का नाम रानी गैदिन्लिउ आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय रखने का निर्णय लिया था। तो वहीं, जनजातीय कार्य मंत्रालय 15 नवंबर से शुरू होने वाला अपना आजादी का अमृत महोत्सव सप्ताह मना रहा है, जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनजातीय गौरव दिवस के रूप में लॉन्च किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co