केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाहSocial Media

अमित शाह ने PFI पर NIA के छापे को लेकर NSA, गृह सचिव, डीजी NIA सहित अधिकारियों के साथ की बैठक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज गुरुवार को PFI पर एनआईए के छापे को लेकर NSA, गृह सचिव, डीजी एनआईए सहित अधिकारियों के साथ बैठक की।

नई दिल्ली, भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज गुरुवार को PFI पर एनआईए के छापे को लेकर NSA, गृह सचिव, डीजी एनआईए सहित अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े परिसरों में की जा रही छापेमारी तथा आतंकवाद के संदिग्धों के खिलाफ कार्रवाई पर चर्चा की गयी।

अधिकारियों ने बताया:

अधिकारियों ने इस बारे में बात करते हुए बताया कि, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, राष्ट्रीय अभिकरण एजेंसी के महानिदेशक दिनकर गुप्ता समेत शीर्ष अधिकारी इस उच्च स्तरीय बैठक में शामिल हुए। एक अधिकारी के अनुसार, समझा जाता है कि, शाह ने आतंकवाद के संदिग्धों और पीएफआई के कार्यकर्ताओं के खिलाफ देशभर में की गयी कार्रवाई का जायजा लिया।

बता दें कि, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आज गुरुवार को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और उससे जुड़े लिंक पर देशभर में छापेमारी की है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA), प्रवर्तन निदेशालय (ED) और राज्य पुलिस बलों की एक संयुक्त टीम ने 100 से अधिक पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के नेताओं को गिरफ्तार किया गया है।

वहीं एनआईए ने पहले से दर्ज एक मामले के सिलसिले में तेलंगाना के हैदराबाद स्थित चंद्रयानगुट्टा में पीएफआई के हेड ऑफिस को सील कर दिया है। एनआईए, ईडी और पैरामिलिट्री ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर पीएफआई कार्यालय को सील कर दिया है।

इन राज्यों में हुई इतनी गिरफ्तारी:

अधिकारियों के अनुसार, सबसे अधिक गिरफ्तारियां केरल (22), महाराष्ट्र (20), कर्नाटक (20), आंध्र प्रदेश (5), असम (9), दिल्ली (3), मध्य प्रदेश (4), पुडुचेरी (3), तमिलनाडु (10), उत्तर प्रदेश (8) और राजस्थान (2) में की गईं। एनआईए ने इसे अब तक का सबसे बड़ा जांच अभियान करार दिया। अभी गिरफ्तारियों का विवरण उपलब्ध नहीं है, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि, एनआईए, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और 11 राज्यों के पुलिस बल ने गिरफ्तारियां की हैं।

रामदास अठावले ने कही यह बात:

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने इस बारे में कहा कि, "मुझे लगता है PFI आतंकियों से संबंधित है। संगठन चलाने और मुस्लिम समुदाय को एक करने में हमारा विरोध नहीं है। लेकिन देश का नाम लेकर यहां आतंक फैलाने की कोशिश होती है तो उसपर एक्शन लेने की आवश्यक्ता होती है। NIA और ED के छापों का मैं स्वागत करता हूं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co